नेहा के साथ मस्ती

चट मंगनी …पट ब्याह वाली कहावत तो सबने सुनी ही होगी.  लेकिन आज के युवा जोड़े चट मिलन…. पट चुदाई में यकीन रखते हैं. ये कहानी भी  एक ऐसे ही युवा जोड़े की है. जो अपनी यौन इक्षाओं का दमन करने की बजाय उनका खुल कर इजहार करने में यकीन रखती है…….

पढ़ना जारी रखें “नेहा के साथ मस्ती”

उस हसीन रात की तितलियाँ

कोई-कोई दिन ही बड़ा नसीब लेके आता है. सन्डे का दिन खाली हो….करने कुछ न हो….और एक सिर्फ एक चूत का छेद मिल जाय. हाय! दिन बन जाय. लेकिन यहाँ तो किस्मत इतनी मेहरबान थी उस दिन,  की पूछो मत……….एक नहीं दो चूतें मिलीं और पैसे भी. कैसे??? वो जानने के लिए तो पूरा घुसना पड़ेगा……..

पढ़ना जारी रखें “उस हसीन रात की तितलियाँ”

क्लास में एक लड़की

आखिर वो दिन भी आया जब क्लास का सबसे शर्मीले लड़के ने अपना लंड शिवानी की चूत पे टिकाया हुआ था. अब उसका लंड सिर्फ उस चूत में अपना रास्ता ही नहीं बनाने वाला था बल्कि ये तो वो बाधा पार करने वाला था….जिसके बाद कई चूतों के भेदन का मार्ग प्रशस्त होने वाला था.

पढ़ना जारी रखें “क्लास में एक लड़की”

फोन कॉल से सेक्स तक

कभी-कभी जीवन के सबसे सुहाने पल एक हवा के झोंके की तरह आते हैं…….और फिर वही झोंका उन पलों को अपने साथ बहा कर हमारी यादों की तिजोरी में छोड़ जाता है. जसनीत ! एक ऐसे ही हवा के झोंके की तरह मेरी जिन्दगी में आयी और यादगार बन कर रह गयी…..

पढ़ना जारी रखें “फोन कॉल से सेक्स तक”

चाची की चुदाई

वो कहते हैं न …”हिम्मते मर्दा, मददे खुदा”. मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. रोज माया चाची के नाम की मुठ मार-मार कर मेरा लंड भी थक गया था. उनकी आखों का निमंत्रण मैं समझता तो था, लेकिन डरता था. फिर एक दिन मैंने अपने हाथ में नहीं उनकी चूत में अपना पानी निकालने की ठान ली….ये उसी एक दिन की दास्तान है………

पढ़ना जारी रखें “चाची की चुदाई”

मेरी पहली चुदाई

हम दोनों चादर लेकर किचन में गए। चादर बिछा कर उस पर लेट गए। मै उसे रोज की ही तरह किस करने लगा.  वह भी मुझे पागलों की तरह चूमने लगी.  मैंने अब उसकी नाइटी निकाल दी.  वह मेरे सामने सिर्फ पैंटी मे थी। मै अब उसके चूचुक मुँह में लेकर एक- एक कर के चूसने लगा। उसने कब मेरा लंड निकाल कर अपने हाथ में ले लिया, मुझे पता भी नहीं चला….

पढ़ना जारी रखें “मेरी पहली चुदाई”

जी बी रोड की रंडीबाजी

चूत और लंड के खेल को खेलने के लिए मुझे कोठों की पनाह सबसे अच्छी लगती थी. न कोई रिश्तों का बंधन न ही चुदाई के पहले और बाद वाली मिन्नतें. हर बार चूत बदल सकने की छूट मिलती सो अलग. मेरी सेक्स की सारी ट्रेनिंग तो इन कोठों पे ही हुयी है. इन्ही कुछ पल की मुलाकातों वाली कई दस्तानों में से एक ………….

पढ़ना जारी रखें “जी बी रोड की रंडीबाजी”

लंड के पानी से बुझाई मौसी की चुदाई की आग

सरला मौसी के कमनीय देह की कामना जाने कब से मेरे मन में थी. एक फिल्म में सुना था कि अगर सच्चे मन से किसी चीज की कामना करो तो पूरी कायनात तुम्हें उससे मिलाने में जुट आती है. कुछ ऐसा की हुआ. जिस परी जैसी मौसी की चुदाई के मैं सपने देखा करता था….वो वास्तविकता में मेरा लंड मांग रही थी………

पढ़ना जारी रखें “लंड के पानी से बुझाई मौसी की चुदाई की आग”

कहानी मेरे गांडू बनने की

अक्सर लोगों के मुँह से सुनता रहता हूँ कि ” डर के आगे जीत है”. लेकिन मेरी जिंदगी का फलसफा बना ” दर्द के बाद मजा है”. बचपन से सारे शौक तो मेरे लड़के वाले ही थे. लेकिन उस एक घटना ने मेरी जिन्दगी बदल दी.  अब मैं और मेरा प्रेम लिंग भेद से परे है…….

पढ़ना जारी रखें “कहानी मेरे गांडू बनने की”

चूत चोदन का प्रथम अनुभव

शादी से पहले की गयी हर चुदाई,  ख़ास कर पहली चुदाई, डर के मारे गांड फटने का अनुभव भी करा जाती है. मेरी इस बात से तो महिला या पुरुष सभी सहमत होंगे. मेरे चोदन का प्रथम अनुभव भी कुछ ऐसा ही था. जब मुझे रोज मिलने वाली महिला ही मेरी पहली चुदाई का सामान साबित हुयी…..

पढ़ना जारी रखें “चूत चोदन का प्रथम अनुभव”