मेरी वासना शांत होती है, उनको औलाद का सुख मिलता है

मेरी यह कहानी सिर्फ कहानी नहीं बल्कि सच्ची घटना है. इसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने एक महिला को बच्चे पैदा करने में मदद की. इसके बाद फिर किस तरह यह मेरा पैशन बन गया… पढ़ना जारी रखें “मेरी वासना शांत होती है, उनको औलाद का सुख मिलता है”

चूत की सेवा- समाज सेवा

अब उसकी बारी आई तो वो मेरे लण्ड को मुह में लेकर चूसने लगी। क्या सुख था यार? जन्नत की सैर हो रही थी। लेकिन मैं उसके मुह में झड़ना नही चाहता था। मैंने उसको सीधा बेड पर लिटा दिया और उसकी चूचियो को पीने लगा…….

पढ़ना जारी रखें “चूत की सेवा- समाज सेवा”