साले की बीबी को चोदकर, उसकी अधूरी प्यास बुझाई

कुछ देर तक कपड़े के ऊपर से मम्मे दबाने के बाद मैंने उसकी कुर्ती में हांथ डाल दिया. वो ब्रा नहीं पहने हुई थी. क्या मस्त बोबे थे यार! जब मैंने उसके मम्मों को दबाया तो वो धीरे से बोली धीरे – धीरे मसलो ना तेज मसलने में दर्द होता है. फिर थोड़ा रुक कर बोली – अगर टाइम मिले तो बाद में आ जाना पूरा मजा दूँगी जीजाजी. उसके मुंह से यह सुन कर अब तो मेरा लंड और भी मस्त होने लगा था. फिर मैंने उसका हांथ पकड़ा और अपने लंड पर रख दिया…

Read more