प्रीती की पैन्टी और मैं

जवानी की दहलीज पे पहुँचने के बाद मेरी खुशकिस्मती खुद मेरे घर आयी. शुरुवाती तकरार के बाद जल्द ही हमारे जिस्म एक दूसरे से टकराने लगे या यूँ कहें समाने  लगे. हम दोनों के रिश्तों की गर्माहट हमारा बिस्तर भी महसूस कर रहा था……एक प्यारी सी चुदाई कहानी……

पढ़ना जारी रखें “प्रीती की पैन्टी और मैं”