शादी वाली रात और ममेरी बहन

मैंने भी अभी हार नहीं मानी थी. मैं उसके पीछे से चिपक गया और अपना 7 इंच का लन्ड उसकी गांड पर रख दिया. उसने सलवार भी ऐसा पहना हुआ था कि मेरा लन्ड उसके गांड की दरारों के बीच आराम से घुस गया था. मैंने अपना लंड जैसे ही उसकी गांड पर रखा, तो वो एक दम अपनी गांड को पीछे की तरफ धक्का दे कर ये बताने की कोशिश की कि वो भी यही चाहती है… पढ़ना जारी रखें “शादी वाली रात और ममेरी बहन”