दोस्त की मकान मालकिन की प्यास बुझाई

अब मैं सातवें असमान पर था. पूरे कमरे में मदहोशी का माहौल था और आंटी पूरे तेजी से ऊपर – नीचे कूद रही थी. फिर कुछ देर बाद आंटी ने मुझे ऊपर आने का इशारा किया तो मैं आंटी के ऊपर आ ग्या और जोर – जोर से धक्के लगाने लगा… पढ़ना जारी रखें “दोस्त की मकान मालकिन की प्यास बुझाई”