प्यासी मकान मालकिन की प्यास बुझाई

फिर उन्होंने ब्लाउज भी निकाल दिया और ऐसे ही करते – करते उन्होंने पेटीकोट भी निकाल दिया. मुझे वो नजारा देख कर कुछ – कुछ हो रहा था. अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी. मैं पूरी तन्मयता से उन्हें देख रहा था. तभी मेरा मोबाइल बजा और चाची पीछे पालट कर मुखे देख लिया और बोली, “तुम यहाँ क्या कर रहे हो?”… पढ़ना जारी रखें “प्यासी मकान मालकिन की प्यास बुझाई”