5 सेक्सी औरतें और मेरी पहली चुदाई

मैं बहुत सेक्सी किस्म का लड़का हूं. शुरू – शुरू मुझे कोई लड़की नहीं मिली तो मैं ज़िगोलो बन गया. मेरी पहली ग्राहक एक अमीर महिला थी. लेकिन जब मैं उसके यहां पहुंचा तो मेरे सामने एक नहीं पांच महिलाएं थीं. उन पांचों ने मेरे साथ खूब खेला…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम विशाल है और मेरी उम्र 21 साल है. मैं गाज़ियाबाद में रहता हूं. सेक्स स्टोरीज पढ़ना मुझे बहुत पसंद है. आज मैं जिगोलो बनने की अपनी कहानी लिखने जा रहा हूं, उम्मीद है आप सब को पसंद आएगी.

दोस्तों, जवान होते ही मुझ पर सेक्स का खुमार चढ़ने लगा. मैं चुदाई करना चाहता था लेकिन मौका ही नहीं मिल पा रहा था. इस वजह मैं ब्लू फ़िल्म देख कर और मुठ मार कर ही रह जाता था. 20 साल तक मैं कुछ नहीं कर पाया था.

इसी बीच मुझे ज़िगोलो के बारे में पता चला. मुझे जानकारी हुई कि ऐसे लोग महिलाओं को चोदते भी हैं और इसके बदले उन्हें पैसे भी मिलते हैं. तब मैंने भी ज़िगोलो बनने के बारे में सोचा. इसके बाद फिर मैंने एक वेबसाइट पर अपना अपनी मेल आईडी शेयर कर दी.

इसके करीब 2 महीनों के बाद एक महिला का मेल मुझे आया. पहले उसने मुझसे मेरा इंट्रो मांगा था. मैंने अपने बारे में लिख दिया. फिर उसने मुझसे मेरा फ़ोटो मांगा. मैंने तुरन्त ही फ़ोटो शेयर कर दी. इसके साथ ही मैंने भी उससे उसकी फ़ोटो मांग ली. मेरी फ़ोटो देखने के बाद उसने भी अपनी फ़ोटो शेयर कर दिया.

वो बहुत सुंदर महिला था. उसकी उम्र 28 साल और वह एक शादीशुदा औरत थी. वह काफी स्लिम थी और उसका फिगर मेरे हिसाब से एक दम परफेक्ट था.

फ़ोटो के साथ ही उसने लिखा कि उसके पति अगले हफ्ते ट्रिप पर शहर से बाहर जा रहे हैं. उनके जाने पर वो मुझे कॉल करेगी. उसने मुझसे मेरा मोबाइल नम्बर मांगा. मैंने दे दिया. दोस्तों, मैं बहुत एक्साइटेड था. क्योंकि वो मेरी पहली ग्राहक थी. फिर मैं उसके कॉल का इंतज़ार करने लगा.

अगले हफ्ते उसका फ़ोन आया और उसने मुझसे कहा कि आज आ जाओ. मैंने कहा ठीक है. इसके बाद उसने मुझे अपने घर का एड्रेस मैसेज कर दिया. फिर मैं उसके घर के लिए निकल पड़ा.

उसके दिए पते के करीब पहुंच कर मैंने उसे फोन किया और बताया कि यहां आ गया हूं. तब उसने मुझे वहीं पर रुकने को कहा. करीब 10 मिनट बाद एक सफेद बीएमडब्लू आई. वो उसे ड्राइव करके ले आई थी. इसके बाद फिर बीएमडब्लू में बैठ कर हम उसके घर पहुंचे. वो उसका घर नहीं फॉर्म हाउस था.

जब हम कमरे में गए तो उसने दरवाजा बन्द कर लिया और फिर कहा – हेलो गर्ल्स आ जाओ. उसका इतना कहना था कि दूसरे कमरों से 4 औरतें निकल कर सामने आ गईं. यह देख मैं पागल सा हो गया. मैंने सोचा था कि आज मैं पहली बार किसी को चोदूंगा लेकिन यहां तो मुझे 5-5 चूतें मिलने वाली थीं. तभी उस महिला ने कहा कि आज तुम हम सबको चोदोगे. मुझे भला क्या ऐतराज मैंने भी कह दिया कि क्यों नहीं बिल्कुल सब को चोदूंगा.

इसके बाद उन्होंने ड्रिंक लेना शुरू किया. मुझे भी ऑफर किया लेकिन मैंने मना कर दिया और कहा कि मैं नहीं पीता. तब उन्होंने कहा कि कुछ नहीं होगा और फिर मुझे जबर्दस्ती थोड़ी सी पिला दी. मुझे नशा नहीं हुआ.

फिर हम सब कमरे में गए. इसके बाद उन लोगों ने मुझे बेड पर लिटाया और मेरे कपड़े उतारने लगीं. इसी बीच दो औरतें ने मेरे हांथ पर बैठ गईं और दोनों हाथों को बांध दिया. फिर मेरे पैर भी बांध दिए गए.

यह देख मैं घबरा गया और पूछा कि ये क्या है? तब जो औरत मुझे लाई थी वो बोली कि आज पूरा दिन तो हमारा है ही, रात भी तुम्हारी होगी. हम तेरे से खूब खेलेंगे. इन सुन कर मैं और डर गया. फिर मैं लगभग गिड़गिड़ाते हुए कहा कि प्लीज, मुझे जाने दो, मुझे शाम तक घर पहुंचना है नहीं तो मेरी फैमिली परेशान होगी.

इस पर उन्होंने कहा कि इससे हमें कोई मतलब नहीं है लेकिन हां अगर तुमने नखरे किए तो हमारे साथ बदतमीजी करने के झूठे आरोप लगाकर पुलिस में पकड़ा दूंगी. यह सुन कर मैंने कहा कि तुम जो भी कहोगी मैं करूंगा लेकिन पहले मेरे हाथ तो खोलो. उन्होंने हाथ खोलने से मना कर दिया.

फिर सबने अपने कपड़े उतार दिए. वे सब बहुत सुंदर दिख रही थीं. फिर एक मेरे ऊपर लेट गई और मुझे किस करने लगी जबकि दूसरी मेरे लन्ड को चूसने लगी. धीरे – धीरे सब मेरे ऊपर आ गईं. अब मैं मज़े से उनका मज़ा ले रहा था.

उनमें से एक मेरे मुंह पर अपनी चूत रख कर बैठ गई. मैं उसकी चूत चाट रहा था. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. थोड़ी देर बाद उसने मेरे मुंह पर ही अपना पानी छोड़ दिया. जिसे मैं पी गया. इसी तरह वे पूरा दिन पोजीशन बदल – बदल के काम करती रहीं. इस दौरान मैं 10 बार झड़ा. उनके चूत रस से मेरे पूरा मुंह भीग गया था.

शाम को बाकी की सारी औरतें चली गईं. अब सिर्फ मुझे लाने वाली औरत वहां थी. तब मैंने फिर एक बार फैमिली वाली बात बोल कर उससे जाने देने को कहा. तब उसने कहा कि असली सेक्स तो अब होगा. एक काम करो, तुम अपने घर वालों को फ़ोन करके कोई बहाना बना दो.

कोई चारा न देख कर मैंने घर फ़ोन किया और कहा कि आज रात मैं अपने दोस्त के घर पर रुक रहा हूं, इसलिए नहीं आऊंगा. इसके बाद मेरे हाथ खोल दिए और ऐसा करने के लिए सॉरी बोला. तब मैंने कहा कोई बात नहीं, वैसे मुझे तो इसमें मज़ा ही आया था.

फिर उसने मुझे फ्रेश होने को कहा. तब मैंने उसेभी अपने साथ चलने को कहा. इस पर उसने एक सेक्सी स्माइल दी और कहा कि ठीक मैं जा रही हूं तुम 5 मिनट बाद आना.

जब 5 मिनट बाद मैं बाथरूम में गया तो वो एक बड़े टब में लेटी थी और उंगली से इशारा करके मुझे पास बुला रही थी. मैं भी गया. अब हम दोनों बिल्कुल नंगे थे. फिर मैं उससे चिपक गया और किस करने लगा.

किस करते – करते मैंने अपनी जीभ उसके मुंह में डाल दी और हम एक – दूसरे की जीभ चुसाई का आंनद लेने लगे. इसके बाद वो लेटी रही और मैं उठकर उसकी चूत पर गया और चूसने लगा. करीब 10 मिनट की चूत चुसाई के बाद वो झड़ गई. मैं उसका सारा पानी पी गया. मेरे मुंह से रिस कर कुछ चूत रस टब के पानी में मिल गया था.

फिर वो मेरा लन्ड चूसने लगी. थोड़ी देर में मैं भी उसके मुंह में झड़ गया. इसके बाद हम फ्रेश होक निकले और उसने कहना ऑर्डर किया. आधे घण्टे बाद खाना आया और वह लगाने लगी. फिर हम दोनों ने नंगे ही खाना खाया.

मैंने जल्दी खाना खा लिया. वो अभी भी खा रही थी. तब मैंने उससे कहा कि जब तक तुम खा रही हो तब तक मैं कुछ और खा लेता हूं. इस पर उसने कहा कि यहां जो भी है वो सब टेबल पर है क्या खाओगे? तब मैंने कहा कि मेरा खाना नीचे है. वो समझी नहीं और बोली – क्या? मैंने कहा – तुम अपना खाना खाओ.

इतना कह के मैं टेबल के नीचे चला गया और उसकी चूत से चिपक गया. इससे वो उछल पड़ी. तब मैंने कहा कि खाने दो न मुझे. फिर वह बैठ गई. अब वह ऊपर खाना खा रही थी और नीचे मैं उसकी चूत चाट रहा था.

खाने के बाद मैंने उसे अपने कंधे पर उठाया और ले जाकर बेड रूम में बेड पर लिटा दिया. मैं फिर उसकी चूत चाटने लगा था. फिर मैंने उसे उल्टा किया और उसकी गांड भी चाटी. 1 घण्टे तक चूत – गांड की चटाई होती रही. फिर हम 69 की पोजीशन में आ गए. अब वो भी मेरा लन्ड चूस रही थी. ऐसे करीब 30 मिनट तक हुआ.

फिर मैंने अपना लन्ड उसकी चूत पर रखा और एक ही धक्के में पूरा अंदर डाल दिया. वो चिल्लाने लगी. मैंने उसकी चीख पर कोई ध्यान नहीं दिया और धक्के लगाने लगा. थोड़ी देर बाद उसे मज़ा आने लगा और वो “फक मी बेबी, फक मी हार्ड” कहने लगी. करीब 10 मिनट की चूत चुदाई के बाद मैं उसकी चूत में झड़ गया और उसके ऊपर लेट गया.

इसके बाद उसने चूस कर मेरा लन्ड फिर से खड़ा कर दिया. इस बार मैंने उसकी गांड मारी. दोस्तों, उसकी गांड बहुत टाइट थी. इसके बावजूद मैंने दो धक्के में ही अपना पूरा लन्ड उसकी गांड में घुसा दिया था.

लन्ड अंदर जाने से वो चीख पड़ी. लेकिन मैंने उसकी कोई परवाह नहीं की. अब मैं मज़े से उसकी गांड मारने लगा. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. करीब 10 मिनट बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया.

दोस्तों, उस रात हमने 4 बार सेक्स किया. सुबह उसने मुझे 5000 रुपये दिए और जहां से मुझे कार में लेकर गई थी, वहीं ड्रॉप कर दिया. उसके बाद उसने मुझसे कई बार सर्विस ली. आप सब को मेरी यह कहानी कैसी लगी, पढ़ने के बाद मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *