बीच किनारे हाउस वाइफ को चोदा

मेरी यह कहानी दमन की है जहां मैं रहता हूँ. एक बार एक महिला ने मुझसे मेरी सर्विस लेनी को कहा. वो एक अमीर महिला थीं और अपने पति से सन्तुष्ट नहीं थीं. मेरी सर्विस के लिए उसने बीच किनारे एक होटल बुक किया था…

हेलो दोस्तों, कैसे हो? उम्मीद करता हूँ कि आप सब लन्ड और चूत का मज़ा ले रहे होंगे. दोस्तों, मेरा नाम निक है और मैं एक जिगोलो हूँ. मैं दमन का रहने वाला हूँ. आज मैं पहली बार यहां आप सबका पानी निकालने के लिए हाज़िर हूँ.

कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सब को अपने बारे में बता देना चाहता हूँ. दोस्तों, जैसा कि मैंने बताया, मैं एक जिगोलो हूँ और अब तक कई लड़कियों को जन्नत का मज़ा दे चुका हूँ. मेरी हाइट 6 फिट 1 इंच है और मैं दिखने में स्लिम हूँ और मेरे लन्ड का साइज 6 इंच है.

अब मैं अपनी कहानी पर आता हूँ. एक बार मैंने एक हाउस वाइफ को अपनी सर्विस दी थी मेरी यह कहानी उसी की है.

कुछ महीने पहले की बात है, मुझे एक महिला का मेल आया. मेल करने वाली ने अपना नाम मोना बताया और कहा कि वह एक हाउस वाइफ हैं. उसने मुझसे मेरी सर्विस के संबंध में बात की. फिर उसने मुझे मेरा मोबाइल नम्बर लिया और कहा कि जगह और टाइम फिक्स करके मैं कॉल कर दूंगी.

चार दिन बाद मुझे उसका फ़ोन आया. उसने मुझे एक होटल का पता दिया और टाइम बता दिया. मैं तय समय पर होटल पहुंच गया. रास्ते में मैंने वियाग्रा की टैबलेट और कंडोम के पैकेट खरीद लिए थे. टैबलेट तो मैंने रास्ते में ही खा ली थी. होटल पहुंच कर मैंने उसे कॉल किया तो वो मुझे लेने आ गई.

दोस्तों, दिखने में वो काफी खूबसूरत थी. बिल्कुल मेरे जैसे ही स्लिम और गोरी थी. बाहर आकर उसने मुझे देखा और बोली – क्या तुम निक हो? मैंने जवाब दिया – हां, मैं ही निक हूँ. तब वह बोली – तो चलें रूम में? मैंने सब अरेंज कर लिया है.

फिर हम रूम में चले गए. दोस्तों, वो होटल दमन के बीच के पास था और लाफी फेमस था. रूम में जाकर वह मुझसे बोली – क्या लोगे? इस पर मैंने स्माइल देते हुए कहा – सब कुछ. यह सुन कर वो हंसने लगी और बोली – वो तो मिलेगा ही लेकिन अभी क्या पियोगे? तब मैंने कहा – जो भी तुम पिलाना चाहो.

फिर उसने कॉल करके कॉफी मंगवाई और हम बातें करने लगे. वह अमीर घर की शादीशुदा महिला थी. उसने बताया कि उसके पति अपने बिज़नेस में बिजी रहते हैं और घर कम ही आते हैं. इस वजह से वो सेक्स की प्यासी रह जाती है और उंगलियों से काम चलना पड़ता है.

उसने बताया कि लेकिन उंगलियों से उतना मज़ा नहीं आता है. इसलिए एक दिन उसने अपनी एक सहेली को अपने समस्या बताई तो उसने जिगोलो सर्विस लेनी की सलाह दी. उसने बताया कि यह पहली बार है, जब वह किसी गैर मर्द के साथ है.

फिर हमने कॉफ़ी पिया और मैंने मोना के हाथ को अपने हाथों में लेकर सहलाने लगा. इस पर उसने अपनी आंखें बन्द कर ली और मोन करने लगी. फिर मैंने मोना को बेड पर लिटा दिया और उसके माथे पर किस किया. इसके बाद मैं उसके लिप्स पर अपने होंठों का जादू बिखेरने लगा. अब वो भी रिस्पॉन्स देने लगी थी.

थोड़ी देर तक इसी तरह किस करने के बाद हमने एक – दूसरे के मुंह में अपनी जीभ डाल दी और किस करने लगे. मैं अपने एक हाथ से उसके बूब्स को भी प्रेस कर रहा था. इससे वो जल्दी ही गर्म हो गई और मेरी पीठ सहलाने लगी.

अब मैंने किस करना छोड़ कर कपड़ों के ऊपर से ही उसके मम्मों को मसलने लगा. जिससे वो मोन करते हुए मुझसे लिपट गई. फिर मैंने उसे उठाया और उसके कपड़े उतारने लगा. कपड़े उतारने के दौरान मैं उसकी पीठ पर लव बाइट्स भी देता जा रहा था और साथ में उसकी गांड भी मसल रहा था.

उधर वो मेरे पैंट के ऊपर से ही मेरे लन्ड को सहलाने लगी थी. अब उसके मुंह से लगातार आह आह ऊह ऊह की सिसकारियां निकल रही थीं. इसी बीच मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया और पीछे से ही उसके मम्मों को दबाने लगा. तब तक मोना भी मेरा लन्ड बाहर निकाल चुकी थी और मसल रही थी.

धीरे – धीरे मैंने उसे पूरा नंगा कर दिया. उसके बदन पर सिर्फ पैंटी भर बची थी. फिर मैं नीचे बैठ कर उसकी गांड को किस करने लगा. अब वो बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी.

फिर मैंने उसे उठाया और सीधा बेड पर लिटा दिया. इसके बाद मैं उन्हें बेतहाशा चूमने लगा. फिर धीरे – धीरे मैं नीचे आया और उनकी पैंटी के ऊपर से ही अपनी जीभ चलाने लगा. ये सब करते हुए मैं अपने दाहिने हाथ से उसके मम्मों को भी दबा रहा था. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

फिर मैंने अपने दांतों से खींच कर उनकी पैंटी को उतार दिया और उसकी चूत पर अपनी जीभ चलाने लगा. उसकी चूत एक दम गीली हो चुकी थी. शायद अब तक वो दो बार झड़ चुकी थी.

अब मैं उसकी चूत पर अपनी जीभ को घुमा रहा था और वो मेरे सिर को अपनी चूत में दबा रही थी. साथ में बहुत तेज मोन भी कर रही थी. इसी बीच मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल डाली और अंदर – बाहर करने लगा. इस पर वो अपनी गांड उछाल – उछाल कर मज़े ले रही थी.

फिर मैंने अपनी उंगली निकाली और उसको चटाया तो मेरा पूरा हाथ चाटने लगी. फिर मैंने उसकी चूत को फैलाया और जीभ अंदर तक घुसेड़ दी. इससे वो अकड़ गई और मेरे सिर को चूत में दबाते हुए मोन करनी लगी और फिर मेरे मुंह में ही झड़ गई.

मैं उसका सारा पानी पी गया. फिर सिर उठा कर एक लम्बी फ्रेंच किस की और उसकी चूत के पानी का टेस्ट उसे करवाया. वो बड़े मज़े से मेरी जीभ को चाट रही थी.

अब मैंने उसे नीचे बिठाया और अपने लन्ड को उसके मुंह में दे दिया. अब वो अपनी जीभ से मेरे लन्ड को अण्डों तक चाट रही थी. उसने मेरे पूरे लन्ड को गीला कर दिया था. वो मेरे लन्ड को ऐसे चूस रही थी जैसे ये दुनिया का एकलौता लन्ड हो और फिर उसे चूसने को नहीं मिलेगा.

खैर, कुल मिला कर वो बहुत अच्छे से लन्ड चूस रही थी. मैं भी उसके सिर को पकड़ कर लन्ड अंदर – बाहर कर रहा था. उसकी माउथ फकिंग में मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. कई बार लन्ड ज्यादा अंदर जाने पर वह खांसने लगती थी.

करीब 10 मिनट तक लन्ड चूसने के बाद वो बोली – प्लीज, अब मुझे मत तड़पाओ, जल्दी से चोद दो. फिर मैंने उसकी टांगों को अपने कंधे पर रखा और लन्ड को एक ही बार में उसकी चूत के अंदर पेल दिया. फिर मैं फुल स्पीड से उसकी चुदाई करने लगा. मेरे ऐसा करने पर उसे दर्द हुआ और वो चीखते हुए बोली – आराम से करो दर्द होता है.

अब मैं तेजी से उसे चोदने लगा और साथ में उसके बूब्स भी दबा रहा था. फिर मोना ने मुझे रोका और बेड पर लिटा दिया. इसके बाद वो मेरे लन्ड पर बैठ गई और उछल – उछल कर लन्ड अंदर लेने लगी. जब भी वो उछलती उसके बूब्स ज़ोर – ज़ोर से ऊपर नीचे होने लगते.

फिर मैंने उसे बेड से उतार कर खड़ा किया और बेड के सहारे झुका दिया. इसके बाद मैंने पीछे से उसकी चूत में लन्ड पेल दिया और धक्के देने लगा. अब वो बीच – बीच में और तेजी से करने को बोल रही थी. उसे मज़ा आ रहा था और वह कह रही थी – और जोर से चोदो, बहुत मज़ा आ रहा है, और जोर से धक्का मारो और जोर से.

अब मैं भी फूल स्पीड में उसे चोदने लगा. अब तक वो दो बार झड़ चुकी थी. अब मैं भी झड़ने वाला था. तभी मोना को महसूस हुआ और वह बोली – मेरी चूत में ही झड़ जाओ, बहुत दिनों से प्यासी है.

अब मैं तेजी से चुदाई करने लगा और कुछ धक्कों के बाद उसकी चूत में ही झड़ गया. कुछ देर बाद मैंने लन्ड बाहर निकाल लिया. अब वो बहुत खुश लग रही थी. फिर वो मेरे लन्ड को चूमते हुए बोली – अब कब मिलोगे? मैंने कहा – जब तुम बुलाओगी.

आपको मेरी कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *