बीमारी का बहाना बना गर्लफ्रेंड को घर बुलाकर चोदा

एक बार जन्माष्टमी के मेले में मैंने एक लड़की को पटाया. मैं उसे चोदना चाहता था लेकिन कहीं से कोई मौका ही नहीं मिल रहा था. फिर एक दिन बीमार होने का बहाना कर मैंने उसे अपने फ्लैट पर बुला लिया. इसके बाद मैंने जम कर सील तोड़ चुदाई की…

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम अजय है. आज मैं आप सबके सामने मेरे साथ घटित हुई एक सच्ची कहानी लेकर आया हूं. ये कहानी मेरे और मेरी गर्लफ्रेंड तृप्ति की चुदाई की है. तृप्ति 20 साल की एक खूबसूरत लड़की है. उसका फिगर 32 28 32 का था.

बात तब की है जब मैं अपनी पढ़ाई के लिए कानपुर में रहता था. जन्माष्टमी के मेले में मैं अपने दोस्तों के साथ घूमने गया था. वहीं मेले में ही तृप्ति मुझे दिखाई दी. वह काफी खूबसूरत थी, इसलिए मेरी नज़र उस पर टिक गई. उसकी भी नज़र मुझ पर पड़ी और वह भी मेरी तरफ देख कर स्माइल करने लगी.

यह देख कर मेरे दोस्तों, ने कहा कि भाई लड़की लाइन दे रही है! फिर मैंने उसको 3 दिन तक फॉलो किया और इस तरह हमारी दोस्ती हो गई. अभी एक हफ्ते ही बीते थे कि हमारी दोस्ती प्यार में बदल गई.

दोस्तों, मैं कानपुर में किराये पर लिए एक फ्लैट में रहता था. उससे प्यार का इज़हार होने के बाद मेरा अगला कदम उसकी चुदाई करना था. इसलिए मैंने एक प्लान बनाया.

उसी प्लान के तहत मैंने अपने एक दोस्त से कहा कि तृप्ति को फोन करके कहो कि मेरी तबीयत बहुत खराब है और मैं उससे मिलने की जिद कर रहा हूं. दोस्त ने वैसा ही किया और उसको मेरे फ्लैट पर बुला लिया.

जब वो आई तो मैंने थोड़ा नाटक किया. जो कुछ ज्यादा हो गया. इसलिए वो समझ गई. तब तक मेरा दोस्त भी वहां से चला गया था. ऐसे में हम दोनों मेरे फ्लैट पर अकेले थे. मौका सही था. फिर मैंने उसको बहुत जोर से हग किया. फिर धीरे – धीरे वह भी मेरा साथ देने लगी. इससे मुझे एहसास हो गया कि वो भी ऐसा ही कुछ चाहती है.

फिर उसको गले लगाए हुए मैं उसकी पीठ सहलाने लगा. मेरे ऐसा करने से उसे कुछ – कुछ होने लगा. मैं यह समझ गया. फिर मैं उसकी गर्दन पर किस करने लगा. वो पागल सी होने लगी.

अब मैं समझ गया था कि यह चुदने के लिए तैयार है. इसलिए मैंने उसको अपने बेड पर लिटाया और उसके कपड़ों के ऊपर से पूरे शरीर पर किस करने लगा. फिर धीरे से 6मैं अपना मुंह उसके पेट के पास ले गया और दांतों से दबाकर ऊपर उठाने लगा. उसने ऐसा करने के लिए मना किया लेकिन मैं नहीं माना और इस तरह मैंने उसके टॉप को खींच कर उतार दिया.

इसके बाद मैं उसके कंधे को, उसके क्लीवेज को और उसके पेट को चूमने लगा. वो और ज्यादा पागल हुई जा रही थी. या यूं कह लीजिए कि वासना की आग में जल रही थी. फिर मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही मम्मों को मुंह में भर लिया और चूसने लगा.

जैसे ही मैंने उसके मम्मों को अपने मुंह में भरा वो मुझसे बिल्कुल चिपक सी गई. इस दौरान मैं अपना हाथ पीछे ले गया और उसकी ब्रा का हुक खोल कर उसे उतार दिया. अब उसके 32 के साइज के मम्मे मेरे सामने थे. उसके मस्त मुलायम मम्मे देख के मैं पागल हो गया.

दोस्तों, यह उसका पहली बार था. यह बात उसने उसी दरमियान बताई. इसलिए मैं उसे बहुत प्यार से चोदना चाहता था. सबसे पहले मैंने उसके दूध को सहलाया. फिर उनको चाटने लगा. बहुत मज़ा आ रहा था दोस्तों! अब मैंने उसके निप्पल्स को मुंह में भर लिया और चूसने लगा. मेरे ऐसा करने से वो इतनी मदमस्त वो गई कि उसे कुछ होश जी न रहा.

अब उसके हाथ मेरे पूरे बदन पर चल रहे थे. इसी बीच पता नहीं कब उसने मेरे कपड़े उतार कर मुझे नंगा कर दिया. वो तो मुझे तब पता चला जब वह मेरी जीन्स खींचने लगी. फिर मैंने भी उसके बदन से जीन्स और पैंटी को खींच कर अलग कर दिया.

अब हम दोनों एक – दूसरे के सामने पूरे नंगे पड़े थे. तभी वह बोली – कुछ करो वरना मैं मर जाऊंगी. यह सुन कर मैंने उसके मम्मों को फिर से मुंह में लिया और चूसने लगा. उससे अब कंट्रोल नहीं हो रहा था. वह बहुत जोर – जोर से बोल रही थी – जान, अब डाल भी दो कितना तड़पाओगे? मुझसे बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं हो रहा है.

फिर मैंने उसे अपना 7 इंच लम्बा लन्ड चूसने को कहा लेकिन उसने मना कर दिया. इस पर मैं नाराज होने का नाटक करते हुए उठा और अपने कपड़े पहनने लगा. दोस्तों, आग तो उसमें भी भरपूर लगी थी. उसने सोचा कि चुदाई न हुई तो मैं ऐसे ही प्यासी रह जाऊंगी.

फिर उसने झट से मेरा लन्ड पकड़ के मुंह में ले लिया और पागलों की तरह चूसने लगी. इस दौरान मैं दोनों हाथों से उसके मम्मों को मसल रहा था. इसी बीच मेरा एक हाथ उसकी चूत पर पहुंच गया. मैंने महसूस किया कि वो बहुत गर्म और गीली हो सबकी थी.

अब मैं एक हाथ से उसकी चूत रब करने लगा. रब करते – करते मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी. इस पर उसने मेरा लन्ड छोड़ दिया और टांग फैला कर बोली – अब मत तड़पाओ डालो जल्दी से.

उसकी चूत को हालत देख कर मैंने भी देर करने ठीक न समझा. फिर मैंने अपना लन्ड उसकी चूत पर रख कर लन्ड बिना घुसाए चूत मसलने लगा. उसकी चूत मेरा लन्ड लेने के लिए लगातार तड़प रही थी. वह गांड उठा कर लन्ड अंदर लेने की कोशिश कर रही थी लेकिन उसकी हर कोशिश नाकाम रही.

फिर मैंने चुपके से अपने लन्ड पर तेल लगाया. उसे इसका तनिक भी एहसास नहीं हुआ. इसके बाद मैंने एक धक्का देकर 2 इंच तक लन्ड अंदर कर दिया. लन्ड अंदर जाते ही वो चीख पड़ी. उसका सील भंग हो चुका था. चूत से खून भी निकल रहा था. यह देख मैंने तुरंत ही उसके मुंह पर अपना मुंह रख दिया और 2 मिनट के लिए उसके ऊपर लेट गया.

उसे थोड़ा आराम हुआ तो मैंने फिर एक धक्का दे दिया. इस धक्के के साथ मेरा लन्ड 5 इंच तक अंदर घुस गया. वो फिर चिल्ला पड़ी. मैं फिर रुक गया. 2 मिनट बाद मैंने एक झटके के साथ अपना पूरा लन्ड उसकी चूत में उतार दिया. इसके बाद धीरे – धीरे लन्ड अंदर – बाहर करके मैंने उसे चोदना स्टार्ट किया.

शुरुआत में उसे दर्द हो रहा था इसलिए मैं धीरे – धीरे चोद रहा था. लेकिन फिर जैसे ही वह मेरा साथ देने लगी, मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी और बुरी तरह चोदने लगा. अब उसके मुंह से केवल ‘आह, आह, ओह्ह, ओह्ह’ जैसी मादक आवाजें आ रही थीं.

मैं बिना रुके ise लगातार चोदता जा रहा था. करीब 15 मिनट बाद मैंने उसे मेरे ऊपर आने को कहा. वो झट से मेरे ऊपर आ गई. अब वो लन्ड कूद – कूद के चुदवा रही थी.

दोस्तों, अब तक वो 2 बार पानी छोड़ चुकी थी और थकने लगी थी लेकिन मेरा एक भी बार नहीं हुआ था. इसलिए मैंने उसे नीचे किया और खुद ऊपर आ गया. अब मैं जोर – जोर से झटके देने लगा. करीब 10 मिनट के बाद मैं झड़ने को हुआ तो मैंने लन्ड बाहर निकाल लिया और पूरा पानी उसके मुंह में छोड़ दिया औए थक कर उसके ऊपर ही लेट गया.

दोस्तों, उस दिन के बाद मैंने उसे कई बार चोदा. वो मेरे लन्ड के लिए पागल सी रहती है. लन्ड चूसने में उसे बहुत मज़ा आता है. अब उसकी शादी होने वाली है तो उसकी भलाई के लिए मैंने खुद ही उससे दूरी बना ली है. मेरी कहानी कैसी लगी? मुझेमेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

One Reply to “बीमारी का बहाना बना गर्लफ्रेंड को घर बुलाकर चोदा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *