दोस्त के बहन की शादी में आई भाभी कॉल बॉय से चुदी

वो अपने पति से संतुष्ट नहीं थी. आई तो थी दोस्त के बहन की शादी में लेकिन कॉल बॉय को बुलाकर उससे चुदाई करवा रही थी और पति को धोखा दे रही थी…

हेलो दोस्तों, अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली कहानी है. उम्मीद है आप लोगों को पसंद आएगी. मेरी उम्र 22 साल है और मैं 5 फुट 7 इंच लम्बा युवक हूँ. मेरे लन्ड का साइज 7 इंच है. मैं चंडीगढ़ में रहता हूँ और पेशे से एक कॉल बॉय हूँ. अभी तक मैंने बहुत सी महिलाओं को चोद कर संतुष्ट किया है लेकिन ये कहानी कुछ अलग है.

अब आप लोगों को ज्यादा न पकाते हुए सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ. एक बार मेरी एक क्लाइंट का फ़ोन आयया. उसने बताया कि उसकी एक सहेली को मेरी सर्विस लेनी है. मैं तैयार हो गया. दो दिन मुझे दिल्ली से एक महिला का मेल आया. उसका नाम सीमा था और उसकी उम्र 30 साल के आसपास थी.

मैंने उसका रिप्लाई दिया. कुछ दिन तक हम मेल से ही बात करते रहे. फिर जब उसे मुझ पर भरोसा हो गया तो हमने अपने नम्बर एक्सचेंज कर लिए. उसने मुझे बताया कि उसके पति गवर्नमेंट जॉब करते हैं. उसकी शादी को 4 साल हो गए हैं लेकिन वह अपने पति से बहुत ज्यादा संतुष्ट नहीं है.

उसने बताया कि वह एक बार लाइफ को एन्जॉय करना चाहती है और इसके लिए किसी दूसरे के साथ सेक्स ट्राय करना चाहती है. फिर उस महिला ने मुझसे एक बार मिलने को कहा. मैं तैयार हो गया. फिर हमने सब कुछ प्लान किया.

दोस्तों, वो अपने सिस्टर के बहन की शादी में चंडीगढ़ आने वाली थी. तो उसने कहा कि इस दौरान 4-5 दिन मैं उसके साथ ही रहूं. मैं तैयार हो गया.

फिर वो निर्धारित तारीख पर चंडीगढ़ आ गई. मैं उसे रिसीव करने स्टेशन गया और उसे लेकर जहां हमें रुकना था वहां चला गया. वहां पहुंच कर हम थोड़ा रिलैक्स हुए. इसके बाद मैंने उसे अच्छे से देखा. वो हल्की सांवली थी. उसने ग्रीन सूट पहन रखा था, जिसमें वो सेक्सी बहुत लग रही थी. उसका फिगर 34 30 34 के करीव था.

इसके बाद मैंने उससे पूछा कि क्या प्लान है तो उसने कहा कि वह आज ही एन्जॉय करेगी और फ्रेंड के यहां कल जाएगी. यह सुन कर मैंने उसे अपनी बाहों में खींचा और उसके होंठों को चूसने लगा.

फिर मैंने अपनी जीभ उसके मुंह में घुसा दी और चुसाई करने लगा. वो बड़े अच्छे से मेरा साथ दे रही थी. हमने करीब 7 मिनट तक किस किया. फिर मैंने उसके चेहरे पर किस करने लगा. थोड़ी देर बाद मैं धीरे – धीरे नीचे की तरफ आया और उसके गले को चूमने – चाटने लगा. इससे वो मदहोश होने लगी.

थोड़ी देर बाद फिर मैंने उसके सूट को खोल दिया. अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी. इन कपड़ों में वो और भी मस्त लग रही थी. इसके बाद मैंने दांतों से उसकी ब्रा को खींच लिया. अब वो ऊपर से पूरी नंगी हो गई थी. फिर मैं उसकी पीठ को चूमने और चाटने लगा. मुझे ऐसा करने में बहुत मज़ा आ रहा था.

फिर मैंने उसे लिटा दिया और उसके कंधे और गले पर लव बाईट देने लगा. वो कुछ बोल नहीं रही थी बस उम्म आह आह हां हां करके आहें भर रही थी. पूरा माहौल मदहोश कर देने वाला हो रहा था.

फिर मैंने उसके मम्मों को हाथों में लिया और मसलने लगा. इसी बीच मैंने उसके एक निप्पल्स को चुटकी में लेकर मसल दिया, जिससे वो उछल पड़ी. फिर मैं अपनी जीभ उसकी चूचियों पर फिराने लगा. उसे बहुत मज़ा आ रहा और वह मुझसे चूचियों को मुंह में भरने के लिए कहने लगी. तब मैंने उसके पूरे मम्मे को मुंह में भर लिया और जोर – जोर से चूसने लगा. अब वो लेट कर आराम से मेरी पीठ पर हाथ फिरा रही थी.

मैं एक – एक करके उसके दोनों मम्मों से खेल रहा था. फिर मैं उसके पेट और नाभि पर अपनी जीभ फिराने लगा. मेरे ऐसा करने पर वो पागलों जैसी हो गई और तेज – तेज सिसकारी भरने लगा. वो कहने लगी कि मैं पागल हो रही हूँ. मेरे पति ने कभी ऐसा प्यारे नहीं किया. बड़ा मज़ा आ रहा है.

फिर मैं एक दम नीचे चला गया और उसके नंगे पैर की उंगलियों को चूसने लगा. इसके बाद मैं उसके पैर पर किस करता हुआ ऊपर आ गया और उसकी चूत को चूसने लगा.

दोस्तों, मैं उसकी चूत की फांकों को अलग करके अंदर तक जीभ डाल दी. इसके बाद मैंने उसकी चूत को दांतों के बीच ले कर हल्के से काट लिया, इस पर चिहुंक उठी. फिर मैं मस्ती में अपनी जीभ अंदर – बाहर करने लगा. इस पर वह मुझे अपनी चूत में दबाने लगी और कहने लगी कि खा जाओ इसे, बहुत तड़पाती है ये. फिर उसने कहा कि आज के बाद तो यह तुम्हारे प्यार के लिए और तड़पेगी.

अब मैं अंदर तक जीभ डाल कर उसकी चूत चाट रहा था. थोड़ी देर बाद उसने अपना पानी छोड़ दिया, जिसे मैं पी गया और उसकी चूत चाट कर साफ कर दी. इसके बाद मैं ऊपर आया और एक बार फिर से उसे किस करने लगा. अब वह उठी और मेरे कपड़े खोल कर मेरे लन्ड को आज़ाद कर दिया.

फिर वह मेरे लन्ड को हाथ में लेकर खेलने लगी. पहले तो वो उसे ऊपर – नीचे कर रही थी. फिर उसने लन्ड पर जीभ लगा दी. अब वो मेरे लन्ड के सुपाड़े के छेद पर अपनी जीभ फिरा रही थी. थोड़ी देर बाद उसने पूरे लन्ड को मुंह में ले लिया और मस्ती में चूसने लगी.

इस दौरान मैं उसके मम्मों को दबा रहा था. थोड़ी देर तक लन्ड चूसने के बाद उसने कहा कि अब मुझे न तड़पाओ, बस अब जल्दी से लन्ड अंदर डाल दो. मेरे अंदर आग जल रही है, जल्दी से उसे बुझाओ. अगली बार जितना कहोगे उतना लन्ड अगली बार चूस लूंगी.

फिर मैंने उसे लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया. इसके बाद मैंने उसकी चूत के छेद पर लन्ड रख कर एक धक्का लगा दिया. उसकी चूत हल्की टाइट थी. मेरा लन्ड जैसे – जैसे अंदर जा रहा था, वैसे – वैसे उसे दर्द हो रहा था. अब उसने मुझे रुकने को कहा तो मैं रुक गया.

फिर जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने एक बार में ही पूरा लन्ड अंदर ठेल दिया. उसे एहसास न हो इसलिए मैं उसके होंठों को भी चूसने लगा. थोड़ी देर बाद मैंने धक्के देना स्टार्ट कर दिया. अब वो भी गांड़ उठा – उठा कर मेरे धक्के का जवाब दे रही थी.

बहुत जबरदस्त चुदाई चल रही थी. वो लगातार आह आह उह उह, हम्म हम्म की आवाजें निकाल रही थी. वो बड़े मज़े से लन्ड ले रही थी. फिर मैंने उसे डॉगी स्टाइल में आने को कहा. इस पर उसने तुरंत ही अपनी पोजिशन बदल ली.

अब मैं उसके लटक रहे मम्मों को मसलते हुए पहले उसकी गांड़ पर थप्पड़ मारा और फिर किस करने लगा. इसके बाद मैंने पीछे से उसकी चूत में लन्ड पेल दिया और झटके देने लगा. मेरे हर झटके का साथ वो बखूबी दे रही थी.

करीब 35 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना पानी उसकी चूत में ही छोड़ दिया. जो उसकी चूत से बाहर निकलने लगा था. इस दौरान वो 3 बार झड़ चुकी थी. फिर मैं वहीं लेट गया. अब उसके चेहरे पर मुझे संतुष्टि का भाव नज़र आ रहा था. उस दिन हमने 2 बार चुदाई की और रात में साथ ही सोए. अगले दिन वह अपनी सहेली के यहां गई. वहां से वापस आने के बाद मैंने उसकी जम कर चुदाई की.

वह 5 दिन तक चंडीगढ़ में रही और इस दौरान मैंने करीब 18 बार उसकी चुदाई की. आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – sakun…[email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *