खाना देने आई भाभी चूत देकर वापस गई

फिर वो मुझसे कहने लगी कि तुम ये सब देखा करते हो, आने दो तुम्हारे घरवालों को मैं उन्हें सब बता दूंगी. यह सुन कर मैं डर गया मेरी सारी वासना फुर्र हो गई. फिर मैंने उनसे माफी मांगी पर वो नहीं मान रही थीं. मैं रिकेस्ट करता रहा और उनसे कहता रहा ‘प्लीज भाभी किसी को मत बताना’…

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम जैकी है और ये कहानी मेरी और मेरी किरायेदार शिप्रा भाभी की है. मेरी उम्र 23 साल है और मैं स्टूडेंट हूँ.

अब मैं आपको शिप्रा भाभी के बारे में बताता हूँ. उनकी बॉडी में सबसे बेस्ट पार्ट उनके बूब्स हैं. उन्हें देख कर लगता है कि बस उनको दबाता और चूसता ही जाऊं. उनका फिगर 38-26-38 का है. मैं उनको बहुत दिनों से चोदना चाहता था और उन्हें देख – देख कर मुठ मारा करता था.

उनको भी ये बात पता चल गई थी कि मैं उनको देखा करता हूँ. दोस्तों, जब भी वो अपने कमरे से बाहर निकलती तो मैं भी बाहर आ जाता था और उनको तड़ता रहता था. एक दिन हुआ यूं कि मेरे घर वाले एक प्रोग्राम के सिलसिले में बाहर गए हुए थे और मैं अपने पूरे घर में अकेला था इसलिए मैं अपने रूम में बैठ कर अपने लैपटॉप पर एक ब्लू फिल्म देख रहा था.

दोस्तों, मुझे खाना बनाना नहीं आता है इसलिए जब भी मेरे घर वाले बाहर जाते हैं तो भाभी ही मेरे लिए खाना बना कर देती है इसलिए मुझे बाहर खाना नहीं पड़ता. उस दिन मैं मस्ती से बैठ कर बी.एफ. देख ही रहा था कि उतने में ही भाभी ने गेट खटखटाया तो मैंने जल्दी से स्क्रीन बंद कर दी और दरवाजा खोल कर देखा तो सामने भाभी खाना लेकर आई हुई थी. फिर मैंने उनसे खाना ले लिया और फिर वो पूछने लगी कि क्या कर रहे थे?

मैंने कहा – भाभी, मूवी देख रहा था.

यह सुन कर वो कहने लगी – कौन सी मूवी?

तो मैंने कहा – ऐसे ही हॉलीवुड मूवी है.

अब वो कहने लगी कि मैं भी फ्री हूँ, चलाओ मैं भी देख ही लेती हूँ. अब मुझे डर लगने लगा कि इस मूवी को ये देखेंगी तो क्या कहेंगी? मैंने बात टालने की काफी कोशिश लेकिन वो मूवी देखने पर ही अड़ी हुई थीं. अब मैं कुछ कर भी नहीं सकता था. अब मुझे मजबूरी में लैपटॉप का स्क्रीन उठना पड़ा. जिसे देख कर वो चौंक गई क्योंकि उसमें ब्लू फिल्म चल रही थी.

फिर वो मुझसे कहने लगी कि तुम ये सब देखा करते हो, आने दो तुम्हारे घरवालों को मैं उन्हें सब बता दूंगी. यह सुन कर मैं डर गया मेरी सारी वासना फुर्र हो गई. फिर मैंने उनसे माफी मांगी पर वो नहीं मान रही थीं. मैं रिकेस्ट करता रहा और उनसे कहता रहा ‘प्लीज भाभी किसी को मत बताना’.

अब वो मेरी बात अनसुनी करके नीचे जाने लगी तो मैंने उन्हें पीछे से पकड़ लिया. जिससे मेरा खड़ा लंड उनकी गांड में चुभने लगा. मेरे इस अचानक हुए बर्ताव से वो घबरा गईं और मुझसे कहने लगी – चोदो मुझे, ये क्या कर रहे हो तुम?

तो मैंने कहा – भाभी, आई लव यू. मैं आपको बहुत प्यार करता हूँ.

अब धीरे – धीरे वो थोड़ा नॉर्मल हो गई और कहने लगी ‘हाँ मुझे पता है, तभी तुम मुझे हर समय देखा करते हो’. उनके मुंह से यह सुनना भर था कि मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उन्हें किस करने लगा. अब उन्होंने भी मेरा तनिक भी विरोध नहीं किया और कुछ नहीं कहा.

करीब एक मिनट तक किस करने के बाद मैं अपने हाथ को उनके बूब्स पर ले गया और हल्के – हल्के मसलने लगा. क्या बताऊँ यार क्या मस्त बूब्स थे! एक दम मुलायम और काफी बड़े – बड़े थे. मेरा तो मन कर था कि बस अभी उनके कपड़े फाड़ कर उन्हें चूसना शुरू कर दूँ.

उस दिन वो मैक्सी पहन कर आई थी और फिर मैंने उनकी मैक्सी उतार दी. क्या सीन था यार! जिनके बारे में सोच कर मैं रोज़ मुठ मारा करता था, आज वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में खड़ी थी और कुछ ही समय में ये भी उनके खूबसूरत शरीर का साथ छोड़ने वाले थे.

फिर मैंने उनको उठाया और अपने बेड पर ले जाकर लेटा दिया. इसके बाद फिर मैंने अपनी टी-शर्ट और पजामा भी उतार दिया. अब वो मेरा लंड देख कर खुश हो रही थी. फिर मैंने उनकी ब्रा उतार दी. क्या खूबसूरत दृश्य था मेरे सामने! उनके निप्पल पिंक कलर के और फूले हुये थे. फिर मैंने उनके बाएं बूब्स का निप्पल मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे बूब्स को दबाने लगा. जिससे उनके मुंह से भी ‘आह आह’ की आवाजें निकलने लगी थीं.

फिर मैंने अपना एक हाथ ले जाकर उनकी चूत पर रख दिया. अब तक उनकी पैंटी चूत रस से भीग कर पूरी गीली हो चुकी थी. फिर मैंने उनकी पैंटी उतार दी और उनसे अपनी अंडर वियर उतारने को कहा तो जल्दी से उन्होंने भी अपनी अंदर वियर उतार दी और मेरे लंड को पकड़ कर ऊपर – नीचे करने लगी.

फिर मैंने उनसे अपने लंड को मुंह में चूसने को कहा और बिना ना नुकर किये वो चूसने लगी. मुझे बहुत अच्छा लगा था. गजब की फीलिंग आ रही थी. मैं सातवें आसमान में था. फिर हम 69 की पोज़िशन में आ गए और 10 मिनट की चुसाई के बाद मैं उठा और अपने लंड को उनकी चूत पर रख दिया और धक्के मारने लगा.

अभी मेरा लंड थोड़ा ही अंदर गया था लेकिन भाभी मस्त – मस्त आवाजें निकालने लगी थी. फिर मैंने एक ज़ोर का झटका मारा और मेरा पूरा लंड उनकी चूत में चला गया और उनको दर्द होने लगा था तो वो कहने लगी कि धीरे करो यार मुझे दर्द हो रहा है.

अब मैं उन्हें किस करता जा रहा था और साथ ही साथ मैं उनके बूब्स भी दबाता और चूसता भी जा रहा था. मुझे पहली बार किसी को चोदने में मज़ा आ रहा था. फिर मैंने उनसे कहा कि भाभी अब आप मेरे ऊपर आ जाओ. तो वो मेरे ऊपर आकर मेरे लन्ड पर अपनी चूत सेट करके बैठ गईं और अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी थी.

फिर करीब 15 मिनट तक उनको चोदने के बाद मेरा निकलने वाला था तो मैंने भाभी से बताया तो भाभी ने कहा कि अंदर ही डाल दो. फिर मैंने अंदर ही अपना सारा माल निकाल दिया और भाभी के ऊपर लेट गया. इस बीच भाभी भी दो – तीन बार झड़ चुकी थीं.

फिर हम दोनों साथ में ही नहाये और नहाते हुए भी हमने खूब मस्ती की. फिर मैंने उन्हें अपने हाथों से नहलाया और उनके बूब्स खूब दबाये. अब मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और फिर मैंने भाभी से कहा – भाभी, मुझे आपको एक बार फिर से चोदना है.

यह सुन कर भाभी बोली – कितना चोदोगे यार? तुम आज ही मेरी चूत का भोसड़ा बना दोगे क्या?

फिर मैंने भाभी को मनाया और उनको डॉगी स्टाइल में ले जाकर खूब चोदा. अब मैंने शॉवर चालू कर दिया था और हम नहा भी रहे थे और चुदाई भी कर रहे थे. मैं उनके बूब्स को मस्ती में दबा रहा था. फिर हम चुदाई करके अच्छी तरह नहाए और फिर भाभी अपने कपड़े पहन कर मुझे एक जोरदार किस दे कर नीचे अपने रूम में चली गई. अब जब भी हमें टाईम मिलता है तो हम दोनों खूब चुदाई करते है.

तो दोस्तों, आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी. बताना जरूर. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *