भाभी की मालिश

फोरप्ले …..सेक्स की प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण अंग है. फोरप्ले कई तरीके से किया जाता है. इन्हीं में से एक है मालिश. इसी की बदौलत मुझे अपनी पड़ोस वाली भाभी के गदराये बदन का सुख भोगने का सौभाग्य प्राप्त हुआ. शुरुवात से लेकर स्खलन तक  एक -एक क्षण का हमने भरपूर लुत्फ़ उठाया. जानिए कैसे……..

सभी भाभियों को मेरा प्यार और उनकी चूतों  के लिए प्यार भरा चुम्बन. बात कुछ समय पहले की है. मैं कॉलेज की पढाई पूरी कर चुका था लेकिन अभी नौकरी न लगी होने की वजह से अधिकतर समय घर पे ही रहता था. घर पे रहकर घर के कामों में हाथ बटाया करता था.

मेरे ठीक बगल वाला मकान काफी दिनों से बिकाऊ था जिसे नए लोगों ने खरीदा था. इस परिवार में एक पति-पत्नी और उनका एक वर्षीय दूध पीता हुआ बच्चा था. भाभी की उम्र कोई 29-30 वर्ष की थी और फिगर 36-32-36 था. इस दम्पति कको शादी किये अभी 4 वर्ष हुए थे. भाभी के पति मिलनसार थे और कोई प्राइवेट जॉब करते थे. इसी जॉब के सिलसिले में अक्सर वो शहर के बाहर ही रहा करते थे.

भाब्भी के पति से धीरे-धीरे मेरी बातचीत को ५ महीने हो चुके थे लेकिन न तो मैं कभी उनके घर गया था और न ही भाभी से मेरी कोई बातचीत हुयी थी.

एक दिन उनके पति मेरे पास आये और कहे की कुछ दिनों के लिए उन्हें बाहर जाना है तो मैं उनके परिवार का ध्यान रखूँ. फिर वो मुझे अपने घर ले गए और भाही से मिलवाया. भाभी ने उस दिन हलके रंग का सूट पहन रखा था, जिसका गला काफी गहरा था और उसमे से उनकी चूचियों के बीच की घाटियाँ दिख रही थी. उन्होंने मुझे उन्हें ऐसे देखते हुए भाँप लिया और बड़ी अजीब नजरों से देखा. पानी वानी पीने के बाद मैं भाभी को अपने घर माँ से मिलवाने ले आया.

भाभी बहुत बातूनी थीं. वो माँ से खूब बातें करती थी. माँ को भी एक बोलने, बात करने  वाली साथी मिल गयी थी. मेरी भी भाभी से खूब बातें होती थी. वो अक्सर अपने बच्चे को लेकर घर आतीं. उनके बच्चे के साथ खेलना मुझे भी बहुत अच्छा लगता था. जब भाभी अपने बच्चे को दूध पिला रही होतीं तो मैं वहाँ से हट जाता था क्योंकि माँ वहां होती थीं.

मैं अक्सर सोचता था की किसी मसाज सैलून में नौकरी कार लूँ. मैं अक्सर ऐसे मसाज वाले विडियो देखकर सीखने की कोशिश करता. एक दिन मैं अपने लैपटॉप पर ऐसा ही एक विडियो देख रहा था. जिसमे एक लड़का एक लड़की की मालिश कर रहा था. लड़की बिलकुल नंगी लेटी हुयी थी. फिर लड़का उसके दूध की मालिश करने लगा. मैं बड़े ध्यान से ये विडियो देख रहा था तभी चूड़ी की खनक से मेरा ध्यान टूटा. मैंने देखा भाभी तुरंत वहां से भाग गयीं. मुझे पता ही नहीं चला था की वो कब से मेरे पीछे खड़ी थी.

मैं डर गया और लैपटॉप बंद करके माँ का हाथ बटाने नीचे आ गया. मेरे चेहरे का रंग उड़ा हुआ था लेकिन भाभी अभी मुस्कुरा रहीं थीं. शाम को मैं भाभी को बाइक पे बिठा के सब्जी बाजार ले गया लेकिन इस सम्बन्ध में उन्होंने मुझसे कोई बात नहीं की. अगले दिन मैं सुबह काफी देर से उठा. जब मैंने ब्रश कर लिया तो माँ ने बताया की भाभी किसी काम से आई थीं, लेकिन चूँकि मैं सोया हुआ था इसलिए चली गयीं.

मैं तुरंत ही उनके घर चला गया. उनका दरवाजा बंद था पर कुण्डी नहीं लगी थी. इसलिए मैं बिना खटखटाए अन्दर चला गया. अन्दर जब मैं उन्हें आवाज देते हुए उनके बेडरूम में पहुंचा तो मेरी आखें फटी की फटी रह गयीं. उस समय भाभी बच्चे को दूध पिला रही थीं. उन्होंने ऊपर कुछ भी नहीं पहना हुआ था. मेरे दाखिल होते ही उन्होंने अपने हाथों से अपने दूध छुपाने का असफल प्रयत्न किया और मुझे टीवी वाले रूम में बैठने को कहा.

थोड़ी देर बाद भाभी आयीं. वो गाउन पहने हुयी थीं. उन्होंने मुझसे कहा – मेरे कमर में बहुत दर्द रहता ह और कन्धा भी काफी दर्द करता है.

मैं समझ गया की इनको वो विडियो देखकर मसाज करवाने का मन हो गया है. मैंने भी देर न करते हुए कहा- भाभी! मैं आपकी मसाज कर दूं?

भाभी- हाँ! कर दो, मुझे आराम मिल जायेगा.

अब मैं भाभी के साथ उनके बेडरूम में गया. भाभी गौण पहने-पहने ही लेट गयीं.

मैंने कहा – भाभी गाउन उतार दो नहीं तो तेल से ये खराब हो जायेगा और मैं मालिश भी कैसे करूंगा?

भाभी ने गाउन उतार दिया. अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में पेट के बल लेटी हुयी थीं. उनके गोल उभरे हुए चूतडों को निहारते हुए मैं मालिश करने लगा.

भाभी बोलीं- तुम्हारे हाथों में बड़ा जादू है. तुम काफी अच्छा मसाज भी कर लेते हो. विडियो से देखकर ये सब सीखा है क्या? तुम्हें ये सब देखना पसंद है?

मैंने कहा- हाँ! लेकिन आप माँ को मत बताना.

उन्होंने कहा- नहीं बताउंगी. लेकिन पहले तुम्हे मेरा एक काम करना होगा.

मैंने कहा- आप जो कहोगी, मैं करने के लिए तैयार हूँ.

वो खुश हो गयीं और बोली- मेरे दूधों की मसाज कर दो! बड़ा दर्द हो रहा है.

मैं समझ गया की वो क्या चाहती हैं? और उनके दूधों पे हलके हाथों से मसाज देने लगा. वो आखें बंद करके लेटे हुए थीं. मैंने उनके निप्पल को दो उँगलियों के बीच रख कर दबा दिया. उनके मुँह से “आआह्ह्ह!” निकला.

उन्होंने कहा- आराम से करो, नहीं तो मेरा दूध निकल जायेगा.

मैं भी गरम होने लगा था लेकिन उनके टोकने के बाद फिर से हलके हाथों से मसाज करने लगा.

कुछ देर बाद भाभी बोलीं- मेरा दूध निकलने लगा है और मेरा बच्चा भी सो रहा है. इस दूध को तो बोतल में भी नहीं इकठ्ठा कर सकते, तेल लगा है न.

मैं चुप रहा और सिर्फ सर हिलाता रहा.

कुछ देर बाद भाभी बोलीं- तू पिएगा?

मेरे मुँह से एकदम से हाँ निकल गया. मैं उनके दूध को मुँह में लेके चूसने लगा. उनके मुँह से सिसकारियाँ निकल रही थीं. भाभी भी गरम हो रही थीं. और मेरा लिंग भी खड़ा होकर उनके पैरों में चुभ रहा था जो उन्हें पता चल गया. उन्होंने हाथ बढ़ा कर मेरे लोअर के उपर से ही मेरे लंड को पकड़ लिया.

मैंने झट से अपनी चड्ढी उतार कर अपने लंड को उनके हाथों में पकड़ा दिया. भाभी उसे पकड़ कर सहलाने लगीं और मैं फिर से उनके दोनों दूध चूसने में व्यस्त हो गया. भाभी के मुँह से लगातार उफ्फ्फ….ओह्ह्ह…अआह की सिसकारियाँ निकले जारही थीं.

फिर भाभी ने धीरे से कहा- मेरी चूत की भी प्यास बुझा दो मेरी जान! तुम बहुत अच्छे से चूसते हो.

मैंने देर न करते हुए उनकी पैंटी उतार दी. उन्होंने अपनी चूत को चिकना किया हुआ था. मुझे उनकी पहले से की हुयी ये तैयारी काफी पसंद आई और उनकी चूत को अपने मुँह से चूसने लगा. क्या गुलाबी चूत थी उनकी? मजा आ रहा था. अब हम 69 की अवस्था में थे. मैं उनकी चूत चूस रहा था और वो मेरा लंड चूस रहीं थी. फिर हम दोनों साथ-साथ ही झड़ गए.

भाभी बोलीं- आज तुमने मुझे बहुत अच्छा सुख दिया है. तुम्हारे भैया कभी मेरी चूत नहीं चूसते हैं.

अब मैंने उनकी टाँगें खोल कर अपने कंधे पे रख ली और लंड को उनकी चूत पे रख कर धक्कम पेल शुरू कर दिया. अलग-अलग आसनों में उन्हें चोदने में मुझे काफी सुख मिल रहा था.

मैं उन्हें किस करते हुए लगातार पेले जा रहा था. वो भी “और जोर से….चोद दो मुझे….उफ्फ्फ…अआह्ह्ह” की आवाजों से मुझे उत्साहित कर रहीं थीं. 15 मिनट की अनवरत चुदाई के बाद जब मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ तो मैं फिर से 69 की अवस्था में आ गया. उनकी चूत चूसने लगा और अपना लंड उनके मुँह में पेलने लगा. थोड़ी ही देर में मैंने अपना माल उनके मुँह में ही खाली कर दिया. अब उनकी और मेरी दोनों की प्यास शांत हो गयी थी.

मैने कपड़े पहने और घर चला आया. जाने से पहले मैंने भाभी को किस किया और कहा- कल फिर मिलते हैं.

भाभी हंसने लगीं……..

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *