भाभी ने प्रैक्टिकल कर सेक्स के तरीके सिखाये

एक बार एक भाभी मुझे सेक्स के तरीके बता रही थीं. मुझे समझ नहीं आ रहा था तो उन्होंने मुझे बुलाया. फिर मैंने उनके साथ प्रैक्टिकल किया और तरीका जाना…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम खान बशीर है. मैं मुंबई का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 31 साल है. मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और वजन 65 किलो है. मेरी बॉडी एथलेटिक है. मेरे लंड की लम्बाई 7 इंच है और वह 3 इंच मोटा है.

अन्तर्वासना पर सेक्स के तरीकों के बारे में प्रकाशित मेरी पिछली कहानी को पढ़ कर कई आंटियों और भाभियों के मेल आये. सभी ने मेरी कहानी की तारीफ की और मुझे टिप्स भी दिया. इसी दौरान एक भाभी का भी मेल आया. उन्होंने मुझे सेक्स के कई तरीकों के बारे में बताया. इसके लिए मैंने उन्हें शुक्रिया भी बोला.

कुछ दिन बाद उन्होंने मुझे एक और तरीका बताया लेकिन वो मुझे ठीक से समझ नहीं आया. इस पर उन्होंने कहा कि अपना नम्बर दो, मैं बात करती हूँ. इसके बाद मैंने अपना नम्बर दिया और फिर उन्होंने फ़ोन करके मुझे उस तरीके के बारे में समझाया. फिर हमारे बीच कुछ इधर – उधर की बातें हुईं.

तभी अचानक उन्होंने कहा कि एक काम करो. एक तरीका मेरे साथ आजमाओ. मैं तैयार हो गया. फिर उन्होंने जगह का इंतज़ाम करने की बात कही और फ़ोन काट दिया. इसके दो दिन बाद उन्होंने मुझे वापस फोन किया और अपनी एक सहेली के घर मिलने को बुलाया. मैंने कहा ठीक है. फिर उन्होंने मुझे अपनी सहेली का एड्रेस मैसेज कर दिया.

मैं तय समय पर उनकी सहेली के घर पहुंचा. वहां पहुंच कर मैंने उन्हें फोन किया तो उन्होंने मुझे दरवाजे पर बुलाया. जब जब मैं अंदर गया तो देखा कि वो भाभी बहुत ज्यादा गोरी नहीं थीं. उनका रंग हल्का गेंहुआ था लेकिन दिख बड़ी मस्त रही थीं. वे थोड़ी हेल्दी थीं और उनकी उम्र 35 साल के आसपास थी. दोस्तों, उनकी निजता की सुरक्षा के लिए यहाँ पर उनके नाम की बजाय उन्हें मैडम नाम से संबोधित करूँगा.

उनकी चूचियां एक दम उभरी हुई थीं और गांड बाहर की तरफ निकली थी. फिर हम बैठ कर बात करने लगे. थोड़ी देर बाद उन्होंने अपनी सहेली के कान में कुछ कहा. उसके बाद उनकी सहेली मार्केट जाने की बात बोल कर बाहर चली गई.

इसके बाद मैडम ने दरवाजा बंद किया और मेरे बगल में आकर बैठ गईं. हम थोड़ी देर तक ऐसे ही बातें करते रहे. उसके बाद उन्होंने मुझ से मेरी वाइफ के बारे में पूछा. तब मैंने कहा कि आपके बताये तरीकों से सेक्स करने पर उसे बहुत मज़ा आता है और वह बहुत खुश है. मेरी यह बात सुन कर उन्होंने कहा तो फिर अब आज मुझेभी खुश कर दो.

फिर मैंने तुरंत ही उनके गले में हाथ डाला और उन्हें अपने सीने से लगा लिया. इसके बाद मैं उन्हें किस करने लगा. किस करने के दौरान मैं उनके बूब्स को भी दबाने लगा. इसके साथ ही मैं उनकी गर्दन पर किस भी करने लगा. इससे वो गर्म होने लगीं.

फिर वो मुझे बेडरूम में ले गईं. वहाँ पहुंचते ही मैं उनके कपड़े उतारने लगा. सबसे पहले मैंने उनकी साड़ी को उतारा. अब वो ब्लाउज और पेटिकोट में थीं. इन कपड़ों में उन्हें देख कर मैं एक दम मस्त हो गया. अब मैं उनके बूब्स दबाता हुआ उनके मम्मों को ब्लाउज के ऊपर से ही चूसने लगा.

फिर मैंने भाभी को बिठा कर उनके ब्लाउज और ब्रा को भी उतार दिया. इसके बाद मैं उनके मलाई जैसे बूब्स को अपने हाथों में लेकर दबाने लगा. भाभी के बूब्स बहुत ही मस्त थे. एक दम गोल और निप्पल ब्राउन कलर का.

मैं बारी – बारी से उनके मम्मों को अपने मुंह में लेकर चूस रहा था. मेरा लंड भी अब सलामी देने लगा था. फिर मैं खड़ा होकर अपनी पैंट उतारने लगा तो भाभी ने कहा कि इसे मैं उतारूंगी. इस पर मैं सोफे पर बैठ गया और भाभी ने पहले मेरी शर्ट उतारी. फिर घुटनों पर बैठ कर मेरी पैंट और अंडर वियर को एक साथ उतार दिया.

मेरा लंड खड़ा था. फिर भाभी ने उसे हाथ में लिया और बोला कि बहुत बड़ा है. इतना कह कर उन्होंने उसे अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगीं. मुझे इसके लिए बोलना भी नहीं पड़ा. वो खुद से सब करती जा रही थीं.

इसके बाद हम 69 की पोजीशन में आ गए. अब मैं उनकी बगैर बालों वाली क्लीन सेव चूत को चाटने लगा. मेरी जुबान चूत पर लगते ही वो सिहर उठीं और लंड चूसते हुए मेरा सिर अपनी चूत पर दबाने लगीं. उनकी आहें भी निकल रही थीं.

चुसाई के साथ – साथ मैं उनकी चूत में उंगली भी करता जा रहा था. इससे वो जल्दी ही झड़ गईं. अब मैं भी झड़ने के करीब था. मैंने उन्हें बताया तो वो और जोर – जोर से लंड चूसने लगीं. फिर थोड़ी देर बाद मैं उनके मुंह में ही झड़ गया. उसने मेरा माल पिया नहीं. सारा माल मुंह में जमा करने के बाद बाथरूम गईं और थूक आईं.

फिर वापस आकर उन्होंने मुझे खड़ा किया और मेरे लंड को चूस कर उसे टाइट कर दिया. इसके बाद उन्होंने मुझसे कहा कि उन्हें दीवार के सहारे खड़ा करके मैं उनकी चूत चाटूँ. मैं करने लगा.

करीब 5 मिनट के बाद वो उसी पोजिशन में थोड़ा नीचे हुईं और मेरा लंड चूत में ले लिया. इसके बाद उन्होंने मुझे चोदने के लिए कहा. अब मैं उनकी गांड को पकड़ कर चोदने लगा. मैंने उन्हें उठा कर पूरे रूम में घूम – घूम कर चोदा. बड़ा मज़ा आया.

वो हर झटके के साथ चिल्लाती और हंसती. फिर थोड़ी देर बाद उनका पानी निकलने के करीब हुआ तो उन्होंने बिस्तर पर लिटाने और जोर – जोर से धक्का लगाने को कहा. अब मैंने बेड पर लिटा कर स्पीड में उन्हें चोदना शुरू किया. 20-25 जबरदस्त धक्कों के बाद वो कांपते हुए झड़ गईं और मुझसे चिपक गईं.

मैंने झटके मारना जारी रखा. करीब 8-10 झटकों के बाद मैंने भी अपना पानी छोड़ दिया. उसके बाद मैं उन्हीं के ऊपर लेट गया. पानी निकलने के बाद भी 10 मिनट तक लंड बिना निकाले मैं उसी तरह उनके ऊपर पड़ा रहा.

10 मिनट बाद हम उठे और बाथरूम जाकर पेशाब किया और उसके बाद मैंने एक बार टेबल पर लिटा कर और एक बार सोफे पर लिटा कर चोदा. इसके बाद मैंने एक बार उसकी गांड भी मारी. फिर हम फ्रेश हुए और उसने फ़ोन करने अपनी सहेली को आने के लिए कहा. वो 5 मिनट में ही आ गई. फिर हमने नाश्ता किया और मैं वहां से निकल गया. बाद में मैंने उसकी सहेली को चोदा लेकिन वो कहानी फिर कभी.

कहानी कैसी लगी, मेल करके जरूर बताना. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *