भोपाल में भाभी को चोदा

दोस्तों जब किसी लड़की के जी-स्पॉट को चूसा जाता है, तो वो सब कुछ भूल कर आपकी हो जाती है.

नमस्कार! मेरा नाम कुंदन है और मैं कॉल बॉय हूँ. वैसे तो मैंने बहुत से क्लाइंट्स को संतुष्ट किया है, लेकिन ये मेरी सबसे नए क्लाइंट की कहानी है. अब आप लोगो को ज्यादा बोर न करते हुए सीधा कहानी पर आता हूँ.

मुझे मेरे जीमेल पर अंजलि (बदला हुआ नाम) नाम की एक लड़की का मेल मिला. उसको मेरी ईमेल आईडी मेरी ही एक क्लाइंट ने दिया था.

उससे बात करने पर पता चला कि वह भोपाल से है और उसकी शादी को चार साल हो गए हैं. उसका पति एक बड़ा बिज़नसमेन है. इस कारण वह उसको खुश नहीं रख पाता. उसने मुझसे मेरी सर्विस के लिए रिक्वेस्ट की. सारी डिटेल क्लियर कर लेने के बाद हमारी मीटिंग सोमवार को 1 बजे की तय हुई.

सोमवार को जैसा हमने तय किया था कि वह मुझे विजयनगर चौराहे से पिक करेगी. मैं वहां मेरी बाइक से पहुँच गया. बाइक मॉल की पार्किंग में लगा कर, मैं उसका इंतजार कर ही रहा था. तभी उसका कॉल आया.

अंजलि- हाय, कहां हो?
मैं- पार्किंग में हूँ, और आप?

अंजलि- चौराहे पर पहुँचने वाली हूँ.
मैं- ओके, मैं काली शर्ट में, चौराहे के दाहिने मोड़ पर खड़ा हूँ, ऑडी शोरूम के सामने.

अंजलि- हां, मैंने आपको देख लिया है.

उसके बाद एक सफ़ेद कलर की हुंडई वर्ना कार मेरे पास आकर रुकी, उसमे अंजलि थी. उसने मुझे बैठने का बोला और हम चल पड़े. सच कहूँ तो दोस्तों अंजलि वास्तव में गज़ब की खूबसूरत थी. ऐसा लग रहा था जैसे वह दूध से नहाई हुई हो. उसने अपना फिगर भी बहुत अच्छे से मेन्टेन कर रखा था.

उसका फिगर 37-27-37 था. वह एकदम सेक्स बम लग रही थी, ऊपर से उसके खुले बाल और लाल साड़ी में उसे देखकर ऐसा लग रह था जैसे आज वह ट्रैफिक जाम करने के विचार में है.

वहां से हम एक होटल में गए जो उसने पहले ही बुक कर रखा था. रूम में जा कर उसने आइस-क्रीम आर्डर किया और फ्रेश होने चली गयी. फ्रेश होकर वह सीधा मेरे बगल में आकर बैठ गई और मुझसे बात करने लगी.

उसके बदन की खुशबू मुझे पागल कर रही थी, लेकिन मेरे प्रोफेशन में हमें क्लाइंट के हिसाब से रहना पड़ता है. इसलिए मैंने उससे बात करना चालू कर दिया. बातों ही बातों में उसे नशा सा छाने लगा. इतने में वेटर आइस-क्रीम लेकर आ गया.

अंजलि का ध्यान अब आइस-क्रीम से हट गया था, वो तो सिर्फ सेक्स चाहती थी. वह हॉर्नी हो गयी थी. वह मेरे एकदम पास आकर मुझे स्मूच करने लगी और यहां से मेरा काम शुरू हुआ.

मैंने उसको फ्रेंच किस किया और उसके फिगर को पहली बार हाथ लगाया. वह कसम से मखमली हुस्न की मालकिन थी. किस करते-करते ही उसने मेरी शर्ट को उतार दिया. मैंने भी उसकी साड़ी निकाल कर उसके ब्लाउज के हुक को खोल दिया. उसने लाल रंग की ब्रा पहन रखी थी, जिसमें वह बहुत ही सेक्सी लग रही थी. जब मैंने उसके ब्रा के हुक खोले तो उसके दोनों बूब्स पंछी की तरह आजाद हो गए.

मैं उसके निप्पल को मुंह में लेकर चूसने लगा और वह मेरे बालों में हाथ घुमाने लगी और मजे लेने लगी. उसने मेरी जीन्स के बटन को खोल कर मेरी जीन्स को नीचे कर दिया और धीरे से मेरे कान में बोली- तुम बहुत प्यार से करते हो.

फिर मैंने उसको पूरा नंगी कर दिया. उसने मेरे लंड की तरफ देख कर अपने होठों पर जीभ घुमाने लगी और तुरन्त ही मेरी अंडरवियर को मेरे शरीर से अलग कर दिया. अब मेरा 9 इंच का लण्ड उसके मुंह के सामने था.

वह उसको किस करके लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. मैंने उससे 69 की पोजिशन में आने को कहा और उसकी क्लीन शेव चूत को होठों से चूमा और उसके जी-स्पॉट को चूसने लगा.

दोस्तों जब किसी लड़की के जी-स्पॉट को चूसा जाता है तो वो सब कुछ भूल कर आपकी हो जाती है. उसकी आवाज और ज्यादा तेज़ हो गयी और वह और ज्यादा मजे लेने लगी.

थोड़ी देर में उसने पानी छोड़ दिया. जिसे मैंने चाट कर उसकी चूत को साफ कर दिया और वापस उसको गरम करने लगा. इतना सब करते समय मुझसे भी कंट्रोल नहीं हुआ और मैं स्खलित हो गया. उसने भी मेरा पूरा वीर्य पी लिया और वापस मेरा लंड चूसने लगी.

जल्द ही मेरा लंड फिर से अपने असली रूप में आ गया. अब उससे सब्र नहीं हो पा रहा था. वह मुझसे बोली- अब मुझसे रुका नहीं जा रहा है, प्लीज अब लण्ड डाल दो.

मैंने उसे कंडोम दिया जिसे उसने उसे मेरे लंड पर तुरन्त ही चढ़ा दिया और वह डॉगी पोजिशन में आ गयी और मेरा लंड सेट करके बोली- अब डालो.

मैंने धीरे से धक्का दिया लेकिन लण्ड फिसल गया. शायद ठीक से चुदी न होने के कारण उसकी चूत थोड़ी टाइट थी. मैंने थोड़ा जोर लगाया जिससे लण्ड करीब तीन इंच तक अन्दर चला गया और उसके मुंह से जोर की आवाज निकली. मैं थोड़ी देर ऐसे ही रुका रहा. अगले ही पल वह आगे पीछे होने लगी.

मैंने भी थोड़ा जोर से झटका लगाकर, पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. वह दर्द से तड़प गई और आगे निकलने की कोशिश करने लगी, लेकिन मेरी पकड़ मजबूत थी. वह आगे न निकल पाई और वापस पीछे आ गयी. धीरे-धीरे करने पर वह वापस नार्मल हो गयी और मजे से आवाजें करने लगी.

अब मैंने अपनी रफ़्तार को बढ़ा दिया. जिससे वह एक बार फिर से झड़ गयी. मैंने उसे वापस गरम किया और उसे मिशनरी पोजीशन में ला कर करीब 30 मिनट तक चोदा. इतनी देर की चुदाई के बाद दोनों साथ में शांत हो गए.

करीब 20 मिनट आराम करने के बाद वह वापस मुझसे चिपक गयी और मुझे चूमने लगी. उसने मेरा लंड अपने बूब्स के क्लीवेज में दबाकर, रगड़-रगड़ कर फिर से खड़ा कर दिया और मेरे ऊपर चढ़ कर चुदवाने लगी. उसको बहुत आनंद आ रहा था.

पंद्रह-बीस मिनट में वह थक कर नीचे लेट गयी और मुझे अपने ऊपर खींच लिया. फिर मैंने उसको वापस अपनी पूरी रफ़्तार में करीब आधा घंटे तक विभिन्न पोज में चोदकर संतुष्ट कर दिया.

अंजलि के चहरे पर एक अलग ही ख़ुशी दिख रही थी. पंद्रह मिनट बाद हम फ्रेश हुए और निकलने लगे, रास्ते में उसने मुझे मेरी पेमेंट की और अगली बार मिलने का वादा लिया. एक स्मूच कर उसने मुझे वापस विजय नगर छोड़ दिया और चली गयी.

रात में मुझे, उसका थैंक यू का मेसेज आया. उसने मुझसे उसकी दोस्त के लिए भी बोला. वह कहानी फिर कभी. आपको मेरी कहानी कैसी लगी? जरूर बताइएगा.

मेरी ईमेल आईडी[email protected]

2 Replies to “भोपाल में भाभी को चोदा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *