ब्लू फिल्म की शौकीन बुआ की मस्त चुदाई

ब्लू फिल्म देखकर उनकी उत्तेजना बढ़ गयी और वो काफी जोश में आ गयी थीं. अब वो मुझे कुछ नहीं बोल रही थीं. बस उसे देखती रहीं. कुछ देर तक ब्लू फिल्म देखने के बाद अब बुआ जी गर्म होने लगीं और उनके मुंह से आह आह की सिसकारी निकलने लगी…

हाय दोस्तों, मैं अंकित साहू मध्यप्रदेश से हूँ. अपनी कहानी पर आने से पहले मैं बता दूं कि मैं एक नवजवान और खूबसूरत लड़का हूँ और मुझे सेक्स करना बहुत पसंद है. तो दोस्तों अब मैं आपको बोर न करते हुए अपनी कहानी पर आता हूँ. ये मेरा अब तक की जिंदगी का सबसे बड़ा अनुभव था.

बात उस समय की है, जब मैं अपनी बुआ के घर गया हुआ था. मेरी बुआ के चार बच्चे हैं और उनके पति काफी हट्टे – कट्टे है और बुआ जी के बच्चे पढ़ाई के सिलसिले में ज्यादातर बाहर ही रहा करते हैं. और मेरे फूफा भी बाहर काम करते हैं, लेकिन जब वो आते हैं तो बुआ की बहुत जोरदार चुदाई करते हैं. पहले वो बुआ को ब्लू फिल्म दिखा – दिखाकर उत्तेजित करते हैं और फिर काम शुरू कर देते है. इस तरह मेरे बुआ की ब्लू फिल्म देखते ही गर्म होने की आदत पड़ गई थी. वैसे बुआ जी को सेक्स बहुत पसंद है और मैंने भी कई बार उन्हें चुदते हुए देखा है.

वैसे मैं आपको बता दूं, मेरी बुआ सांवली हैं लेकिन उनकी जबरदस्त सेक्स क्षमता के कारण मैं हमेशा से ही उन्हें चोदना चाहता था, क्योंकि फूफा जी हमेशा उनसे बहुत खुश रहते थे और जैसे कि हम सभी जानते है, एक अच्छे पति – पत्नी के रिश्ते के पीछे अच्छे सेक्स सम्बन्ध होते हैं. ठीक वैसे ही मेरी बुआ भी काफी खुश रहा करती थी, लेकिन जब फूफा जी चले जाते थे तो उनका रंग उतर जाता था.

इन दिनों वह काफी खुश रहती थीं, हों भी क्यों न क्योंकि उन्हें चुदवाने का इतना शौक और अनुभव है और आजकल फूफा जी भी आए हुए थे. बुआ जी काफी मजे ले – लेकर चुदती हैं. सच में फूफा जी उनसे बेहद संतुष्ट रहते हैं. एक दिन की बात है फूफा जी अपनी छोटी बहन के यहाँ चले गए थे. उस दिन शाम को मैं और बुआ जी जल्दी ही खाना खा कर सो गए. मैं बुआ जी के पास ही सो रहा था.

अचानक आधी रात को मेरी नींद खुली और मैंने देखा कि बुआ की साड़ी खिसक कर काफी ऊपर पहुंच गयी है. जिससे उनकी जांघें साफ – साफ दिख रही हैं. उन्हें ऐसी स्थिति में देखते ही मेरा मन उत्तेजित होने लगा. मैंने सोचा कि आज तो बुआ को चोदने का अच्छा मौका है.

बस फिर क्या था, मैंने धीरे – धीरे उनकी साड़ी को और ऊपर उठाने की कोशिश शुरू कर दी और धीरे – धीरे ऊपर करके उनकी चूत तक ला दिया. फिर मुझे उनके साए का नाड़ा दिखाई दिया तो मैं उनके साए के नाड़े को खोलने की कोशिश करने लगा और आखिरकार धीरे – धीरे मैंने उसे खोल ही लिया. फिर क्या था, उनकी चड्डी मेरे सामने थी. जिसे देखकर मुझसे तो रहा ही नहीं जा रहा था लेकिन एक तरफ मुझे डर भी लगा था कि कहीं उनकी नींद न खुल जाये लेकिन वो आराम से सो रही थीं.

चूंकि खाने के बाद उन्होंने थोड़ी शराब भी पी ली थी इसलिये वो काफी गहरी नींद में थीं. मुझे इसका पता था, तो मैं एक दम निश्चिंत होकर धीरे से उनकी चड्डी में हाथ डालने की कोशिश करने लगा और आखिर में मैं अपना हाथ उनकी चड्डी के अंदर करने में सफल भी हो गया. बस फिर क्या था, अब मेरे हाथ बुआ जी की गोल मटोल गांड पर थे. मैं अपने हाथ ऐसे ही उनकी मुलायम गांड़ को सहलाता रहा.

कुछ देर तक ऐसे ही सहलाने के बाद जब मुझसे रहा ही नहीं जा रहा था तो मैंने अपने मोबाइल में एक ब्लू फिल्म चालू की और उसे देखते – देखते अपना पैंट खोल कर अपनी चड्डी से अपने लंड को बाहर निकाला और फिर बुआ के पीछे जकर उनकी गांड में लन्ड लगाकर धीरे – धीरे धक्के देने लगा. मेरे धक्कों की वजह से अचानक ही बुआ जी जाग गईं और मुझसे बोली – ये क्या कर रहा है?

ये सुनकर मैं तो बिलकुल डर ही गया लेकिन मुझे बुआ की कमजोरी का पता था. बस फिर क्या था, मैं बुआ को मनाने के लिए अपने मोबाइल में चल रही ब्लू फिल्म उनके सामने कर दी और उन्हें दिखाने लगा. उसे देखकर तो बुआ ने पहले मना किया लेकिन फिर मैं जबरदस्ती उन्हें ब्लू फिल्म दिखाने लगा.

ब्लू फिल्म देखकर उनकी उत्तेजना बढ़ गयी और वो काफी जोश में आ गयी थीं. अब वो मुझे कुछ नहीं बोल रही थीं. बस उसे देखती रहीं. कुछ देर तक ब्लू फिल्म देखने के बाद अब बुआ जी गर्म होने लगीं और उनके मुंह से आह आह की सिसकारी निकलने लगी.

यह देख कर मुझे पता चल गया कि अब बुआ पूरी तरह गर्म हो गईं हैं और इस स्थिति में ये किसी का भी लन्ड ले सकती हैं. इसलिए मैंने कहा – बुआ, मैं आपको चोदना चाहता हूँ.

वो सच में एक दम गर्म हो चुकी थीं तो वो बिना कुछ बोले एक दम सीधा लेट गईं. मुझे संकेत मिल गया था. मैंने झट से उनकी जांघों को फैलाया और फिर उनकी टाँगों पर बैठ कर अपना 8 इंच के लंड को उनकी चूत पर सेट किया और फिर चूत में डालने लगा. मैंने झट से एक झटका मारा और अपना पूरा लंड उनकी ढीली चूत में घुसा दिया. क्या बताऊँ दोस्तों, क्या चूत थी उनकी! बिल्कुल जन्नत जैसी. इससे पहले मैंने कई बार कई लड़कियों से सेक्स किया है लेकिन एक चुदक्कड़ हाउसवाइफ को चोदना काफी आनंद दायक था.

अब फिर क्या था, मैंने जोर – जोर से झटके लगाने शुरू किर दिए और ब्लू फिल्म देखते हुए उन्हें जम के चोदने लगा. ऐसा करने में मुझे काफी ज्यादा मजा आ रहा था और चूँकि बुआ नशे में थीं इसलिए ये मजा और भी ज्यादा बढ़ गया था. क्योंकि वो खुद भी अपनी कमर उठा – उठा कर पूरे लन्ड को अपनी चूत में घुसा रही थी और अपनी चुदाई के मजे ले रही थीं.

मेरा लन्ड उनकी बच्चेदानी तक ठोकर मार रहा था लेकिन फिर भी बुआ उसे और अन्दर तक लेने की कोशिश कर रही थी. तभी मैंने उन्हें उठाकर मैं नीचे चला गया और उन्हें अपने लंड पर बैठाने की कोशिश की और उनसे कहा कि अब मुझे ऐसे ही करना है.

तब उन्होंने अपनी साड़ी को अपनी गांड तक ऊपर उठाया और अपनी चूत को मेरे लंड के ऊपर रखने लगी. जैसे ही उन्होंने मेरे लन्ड के ऊपर अपनी चूत को सेट किया मैंने अपने खड़े लंड को उनकी चूत के अंदर घुसा दिया और देखते ही देखते पूरा का पूरा लंड उनकी चूत के अन्दर चला गया.

अब उन्होंने अपनी कमर हिलाना शुरू कर दिया और मैं उनकी गांड को पकड़कर उन्हें ऊपर – नीचे करने लगा. सच में दोस्तों, मुझे ऐसा करने में बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था. मुझे बिल्कुल जन्नत जैसा एहसास हो रहा था. अब फिर नीचे से मैंने भी जोर लगाना शुरू कर दिया और अपनी पूरी ताकत के साथ चोदने लगा.

काफी देर तक ऐसे ही चोदने के बाद जब उनका पैर दर्द करने लगा तो मैंने उन्हें नीचे आने को और उल्टा लेटने को कहा. जैसे ही वो उल्टा लेटी मैंने उनकी मुलायम सी गांड में अपना लंड पेल दिए और पूरा अन्दर तक घुसा के उन्हें चोदने लगा. वो ठहरी पूरी चुदक्कड़ उन्हें इसमें तनिक भी दिक्कत नहीं हुई और वो अपनी गांड उठा – उठाकर मजे लेने लगी.

काफी देर तक उनकी गांड़ मारने के बाद फिर मैंने उन्हें सीधा किया और उनकी चूत में फिर से लन्ड पेल दिया और फिर 5 मिनट तक चुदाई करता रहा. इस तरह काफी देर तक की गांड़ और चूत चुदाई के बाद हम दोनों झड़ गये और मैंने अपने वीर्य की धार उनकी चूत में ही छोड़ दी. फिर काफी देर तक हम दोनों ऐसे ही चिपके पड़े रहे और फिर उठकर हमने अपने कपड़े पहने और सो गए.

अगर आपको कहानी पसंद आये तो जरूर मुझे ईमेल जरूर करें – [email protected]

“ब्लू फिल्म की शौकीन बुआ की मस्त चुदाई” पर एक उत्तर

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *