चूत रस से भीगी उंगली चाट कर चोदा

मैं मसाज का काम करता हूँ. मसाज के साथ – साथ मैं जिगोलो का काम भी करता हूँ. अपनी इस कहानी में मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी दिल्ली की क्लाइंट को चोदा और उसके काम रस से भीगी उंगली का मज़ा लिया…

मेरा नाम अयान है और यह मेरी पहली सेक्सी स्टोरी है. मुझे उम्मीद है कि आप सब इसे पसंद करेंगे.

मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. मेरी लम्बाई 5 फुट 8 इंच और उम्र 24 साल है. मेरा लन्ड भी काफी लम्बा है और अपने सुडौल बदन के साथ मेरा स्टेमिना भी काफी अच्छा है. मैं मसाज सर्विस देता हूँ. मेरी सभी ग्राहक मेरी मसाज पसंद करती हैं. फीमेल ग्राहकों को मैं मसाज के साथ न डिमांड सेक्स सर्विस भी देता हूँ.

यह मेरी और मेरी क्लाइंट की स्टोरी है. वह बहुत सेक्सी है. उसकी उम्र 27 साल और लम्बाई 5 फुट 5 इंच है. उसका रंग गोरा और साइज 34 30 34 का है. यानी उसकी चूची 34 की, कमर 30 की और चूतड़ 34 की साइज के हैं. उसकी बॉडी काफी सॉफ्ट है और वह दिल्ली में रहती है.

आप लोगों का ज्यादा समय न वेस्ट करते हुए अब मैं अपनी सेक्सी स्टोरी शुरू करता हूँ. एक बार मेरे पास एक लड़की का फोन आया. उसका नाम ईशा था. उसने मेरी एक क्लाइंट का नाम लेते हुए कहा कि उसने मुझे आपका नम्बर दिया है. आपको कल शाम सात बजे मेरे घर आना है. दोस्तों, मेरी उस क्लाइंट का का नाम ज्योति था और वह मेरी रेगुलर ग्राहक थी. तो मैं उसे सर्विस के लिए तैयार हो गया.

फिर अगले दिन तय समय पर मैं उसके दिए हुए एड्रेस पर पहुंच गया. वहां पहुंच कर मैंने उसे फोन किया और कहा कि मैं बाहर खड़ा हूँ! फिर उसने मुझसे कहा – बेसमेंट में आ जाओ!

फिर मैं बेसमेंट में पहुंचा तो उसने दरवाजा खोल दिया. उसने काला टॉप और कैपरी पहनी हुई थी. उसे देखते ही मैं एक दम से पागल हो गया. लेकिन मैंने खुद पर कंट्रोल किया.

उसने मुझे ड्राइंग रूम में बैठाया और पानी दिया. फिर उसने मुझसे कहा – थोड़ी देर बैठो मैं अभी आती हूँ. अब मैं सोफे पर बैठ कर उसका वेट करने लगा. थोड़ी देर बाद वो आई और उसने मुझे कोल्ड ड्रिंक दिया. फिर मैंने जैसे ही कोल्ड ड्रिंक खत्म की, उसने कहा कि बेड रूम में चलो.

अब हम बेड रूम में आ गए. फिर उसने एसी ऑन किया और मुझसे बोली कि पहले तुम मुझे थोड़ी बॉडी मसाज दे दो. अब मैंने तुरंत ही उसकी टी-शर्ट और कैपरी उतार दी.

अब वो केवल ब्लैक ब्रा और पैंटी में मेरे सामने थी. फिर मैंने उसकी ब्रा और पैंटी भी उतार दी और उसे पूरण नंगी करके उसकी पूरी बॉडी की ढंग से मसाज किया.

लगभग 30 मिनट तक मैंने उसके बूब्स, बैक और चूत पर हर जगह मसाज दी. उसको उसकी फ़्रेंड ज्योति ने बताया था कि मैं मसाज बहुत अच्छी तरह करता हूँ. इसी वजह से उसने मसाज के लिए कहा था.

फिर उसने मुझे किस करना स्टार्ट कर दिया तो मैंने भी उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. उसके होंठ बहुत मुलायम थे. थोड़ी देर बाद उसने अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल दी. करीब 15 मिनट तक हमारी किसिंग चलती रही.

फिर मैंने उसके बूब्स पर हाथ रख कर उन्हें दबाना शुरू कर दिया. उसके बूब्स को दबाते हुए मैं उसकी क्लीवेज पर लिक करने लगा और उसकी निपल्स को मसलने लगा.

अब मैं अपने दोनों हाथों से उसके बूब्स ज़ोर से दबाता रहा. फिर मैंने उन्हें अपने मुंह में भर लिया और मस्ती में चूसने लगा. मेरे ऐसा करने से उसके मुंह से हल्की – हल्की आवाज़ निकलने लगी.

अब उसने मेरे सिर को पकड़ कर ज़ोर से अपने मम्मों के बीच दबा लिया और कहा कि इन्हें और ज़ोर से दबा कर चूसो. दोस्तों, मैं वैसे ही करता रहा.

फिर कुछ देर बाद मैं उठा और अपने कपड़े उतार दिए. इसके बाद मैंने अपना लंड उसके बूब्स के बीच में दबा कर हिलाने लगा. ऐसा करने से मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

मेरे ये सब करने पर ईशा को भी अच्छा लग रहा था. अब वो ज़ोर – जोर से आवाज़ निकालने लगी थी. उसके मुंह से लगातार ‘आआहह अया ऊहह’ की आवाज निकाल रही थी.

फिर मैं उसके होंठों को किस करने लगा. कुछ देर उसके लिप्स पर किस करने के बाद फिर मैं नीचे के तरफ गया और उसकी चूत को देखने लगा. उसकी चूत एक दम साफ थी और मसाज की वजह से गजब की साइन कर रही थी.

मैंने देखा कि उसकी चूत से पानी निकल रहा था. जिससे उसकी चूत पूरी तरह भीगी हुई थी. फिर मैं थोड़ी देर तक उसकी चूत को अपने हाथों से रब करता रहा. जिससे उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. इसके बाद मैंने अपना हाथ हटा लिया.

तब वो अपने हाथ से अपनी चूत को रगड़ने लगी. उसके पैरों से बहुत मुलायम थे और उनसे बहुत अच्छी स्मेल आ रही थी. फिर मैं उन्हें चाटने लगा. थोड़ी देर बाद उसके दोनों पैरों के बीच में अपना लंड दबा लिया और वो अपने पैर को उस पर रगड़ने लगी. उसके ऐसा करने से मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और अब मेरा लन्ड एक दम से तन गया.

थोड़ी देर बाद मैं उठा और मैंने उसकी टांगों को फैला दिया और अपना मुंह उसकी चूत पर रख दिया. अब मैं उसकी गीली चूत को चाट रहा था. जिससे वो मदमस्त हो गई और उसके मुंह से ‘आआहह उहह ऑश’ जैसी मादक आवाजें आने लगीं.

कुछ देर तक उसकी चूत चाटने के बाद मैंने अपना मुंह हटाया और फिर चूत में अपनी एक उंगली डाल दी. उंगली डालने पर मुझे एहसास हुआ कि उसकी चूत काफी टाइट थी. उंगली करते हुए अभी 2 मिनट भी नहीं हुए थे कि उसकी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया.

उसके पानी से मेरी उंगली भीग गई. फिर मैंने उंगली निकाल ली और उसे चाटने लगा. इसके बाद मैंने फिर अपनी जीभ उसकी चूत पर लगाया और उसका पानी चाट गया. उसके पानी का टेस्ट हल्का नमकीन सा था, जो मुझे बहुत अच्छा लगा.

फिर उसने मुझसे कहा कि वह मेरा लंड चूसना चाहती है. उसकी बात सुन कर हम दोनों एक – दूसरे के उल्टी तरफ़ होकर लेट गये. अब मेरा लंड उसके मुंह में था और वो उससे पागलों की तरह चूस रही तो और मैं उसकी गांड को थोड़ा ऊपर उठा कर उसके नितंम्बों को दबाने लगा. मेरा ऐसे करना उसे बहुत अच्छा लग रहा था और वो और ज्यादा उत्तेजित हो रही थी.

बीच – बीच में मैं उसकी चूत पर मुंह लगा कर उसे चाटने भी लगता था. जिससे वो चिहुंक उठती. फिर हम उठे और वो मुझे किस करने लगी.

इसके बाद मैंने उससे लिटा दिया और सबसे पहले कंडोम पहना और फिर उसकी टांगों को खोल कर अपना लंड उसकी चूत पर रखा और रगड़ने लगा. अब तक उसकी चूत और मेरा लंड दोनों बहुत गीले हो चुके थे.

फिर मैंने जोर से एक धक्का मारा तो मेरा थोड़ा लन्ड अंदर घुस गया. उसकी चूत बहुत टाइट थी. अब मैंने उसके बूब्स को पकड़ा और उन्हें दबाते हुए धीरे – धीरे धक्के मारने लगा. उसको काफ़ी दर्द हो रहा था.

अभी मेरा आधा लन्ड उसकी चूत के अंदर था. फिर मैंने ज़ोर से एक धक्का मारा और लन्ड पूरा अंदर चला गया. इससे वो थोड़ा सा चीख उठी. दोस्तों, वो वर्जिन नहीं थी. उसका अपने बॉयफ्रेंड से ब्रेकअप हो चुका था और उसने पिछले 4-5 महीने से सेक्स नहीं किया था. ये बाद में उसी ने मुझे बताया.

उसकी चीख सुन कर मैं कुछ देर को रुक गया और उसके बूब्स को चाटने लगा. मैं उसके होंठों को भी चूस रहा था. थोड़ी देर बाद फिर मैंने अपना लंड अंदर – बाहर करना शुरू कर दिया.

अब मैं ज़ोर – ज़ोर से उसकी चूत में धक्के मारने लगा. हम दोनों एक दम मस्त हो चुके थे और हमारे मुंह से लगातार मादक आवाजें निकल रही थी.

दोस्तों, उसकी चूत बहुत गरम थी. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मेरा लन्ड किसी भट्टी में घुस गया हो. करीब 7 मिनट की चुदाई के दौरान वो 2 बार झड़ चुकी थी.

मैं अभी भी उसे चोदता और उसके बूब्स दबाता रहा. उधर उसके मुंह से मादक आवाजें निकल रही थीं. थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और ऊपर से उसकी चूत पर लन्ड रगड़ने लगा. थोड़ी देर बाद फिर मैंने लन्ड अंदर सरका दिया और ज़ोर – जोर अंदर – बाहर करता रहा.

लन्ड अंदर – बाहर करते – करते थोड़ी देर बाद मैंने अपना सारा कम (स्पर्म) उसकी चूत में ही छोड़ दिया. लेकिन मैंने कंडोम पहना हुआ था तो डरने वाली कोई बात नहीं थी.

अब कुछ देर तक मैं धीरे – धीरे अपना लंड डाले उसकी चूत में हिलता रहा. जिससे लन्ड से सारा माल कंडोम में निकल गया. फिर मैंने लन्ड बाहर निकल लिया और देखा तो कंडोम मेरे कम से भरा हुआ था. इसके बाद मैंने उसे उतार कर पहले लंड को और फिर ईशा की चूत को भी साफ किया.

अब वो मुझसे बोली कि आज जो मज़ा तुम्हारे साथ करके आया है वो आज से पहले कभी नहीं आया. उसने ये भी बताया कि पहले भी कई बार उसने कॉल बॉय (जिगलो) की सर्विस ली है पर मैं उन सबसे बेस्ट हूँ. उसने मुझे बाद में भी बुलाने को कहा. उस दिन मैं उसके पास 11 बजे तक रहा और हमने दो बार सेक्स किया.

फिर उसने मुझे मेरा सर्विस चार्ज दिया और कहा कि वो मुझे अपनी फ्रेंड्स के लिए भी बुलाएगी. फिर मैंने उसे शुक्रिया किया और वहाँ से चला आया.

आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected],
[email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *