दोस्त की शादीशुदा बहन की चुदाई

वो तड़प रही थी. फिर थोड़ी देर बाद वो मुझसे बोली, “अब और मत तड़पाओ मुझे, जल्दी से चोद दो मुझे मेरे राजा.” पर मैं कहाँ मनाने वाला था. मैं फिर भी उसकी चूत को चाटता रहा और वो सिसकारी लेती रही…

हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम रवि है. ये मेरी पहली कहानी है. जिसमें मेरी और मेरे दोस्त की शादीशुदा बहन मुख्य भूमिका में हैं.

मेरे दोस्त का नाम विनोद है और वह हमारे ही पड़ोस में रहता है. पड़ोस का होने के कारण हम दोनों की दोस्ती काफी पुरानी है. यह कहानी 2 साल फके की है. उस समय मेरी उम्र 23 की थी.

एक दिन मैं अपने दोस्त के साथ उसकी बहन के घर गया था. उसकी बहन का नाम अन्नू है. जिसकी उमर 40 साल के करीब है. उसकी एक बेटी भी है, जिसकी उम्र करीब 17 साल है. उसके पति 55 साल के हैं और एक सरकारी बैंक में मैनेजर की पोस्ट पर काम करते हैं.

दोस्तों, अन्नू दिखने मे थोड़ी मोटी है. उसका फिगर 38 – 32 – 40 का होगा. अन्नू के पति की उसके साथ अपनी दूसरी शादी थी. उनके पास पैसा बहुत है.

मैं ओर विनोद जब अन्नू दीदी के घर गए तब वह किसी से फोन पर बात कर रही थी. फिर हमारा परिचय हुआ उसके बाद हम बात करने लग गए. तभी विनोद का फ़ोन बजा और वह दूसरे कमरे में जाकर फोन पर ही अपनी गर्लफ्रैंड से बात करने में लग गया और इधर मैं अन्नू दीदी से बात करने लगा.

थोड़ी देर बाद विनोद कमरे से बाहर आया और मुझसे बोला तुम बैठो और दीदी से बात करो मैं थोड़ी देर में बाहर से आता हूँ. दरअसल वो अपनी गर्लफ्रैंड से मिलने गया था. उसके जाने के बाद अन्नू दीदी कोल्ड ड्रिंक ले आई.

अब घर पर मैं और अन्नू दीदी ही थे. उनकी बेटी अपने कॉलेज गयी थी और उनके पति अपनी जॉब पर गए थे. कोल्ड ड्रिंक पीने के बाद फिर अन्नू दीदी और मैं टीवी देखने लगे.

टीवी देखते समय अन्नू दीदी ने मेरे फोन को हाथ मार के नीचे गिरा दिया और फिर सॉरी बोल के झुक कर उठाने लगी. उस समय मेरी नजर उसके बूब्स पर गयी. क्या गजब के बूब्स थे यार! उनके बूब्स काफी मोटे भी थे. उन्हें देख कर ही मेरा मन फिसल गया और मेरा लंड भी खड़ा हो गया था.

अन्नू दीदी ने ये सब देख लिया फिर सीधे होकर वो मुस्करा के बोली क्या हुआ? तो मैंने कहा कि कुछ नहीं. उसके बाद बार – बार उनकी नजर मेरे लंड की तरफ जा रही थी.

तभी पता नहीं मेरे को क्या हुआ और फिर अचानक से मैंने अन्नू दीदी का हाथ पकड़ लिया और उसके बूब्स को दबाने लगा. तभी वो मुझसे अपने हाथ को छुड़ा कर दूसरे कमरे मे भाग गयी.

यह देख कर मेरी फट गयी. मैंने सोचा कि आज तो मैं फंस गया. यही सोच कर फिर मैं सॉरी बोलने के लिए दूसरे रूम में गया. लेकिन ये क्या, अंदर जाते ही अन्नू दीदी खुद ही मुझसे लिपट गयी और बोली तुमने मेरी प्यास को जगा दिया. इतना कह कर वो मुझे चूमने लगी.

अब मैं भी उसके होंठों को खाने लगा. यह सीन करीब दस मिनट तक चला. उसके बाद मैंने अन्नू को बेड पर लेटा दिया. इसके बाद फिर मैंने उसके सूट और सलवार को निकाल दिया.

अब वो केवल काले रंग की ब्रा और पैंटी में थी. फिर मैंने उसकी ब्रा को भी खींच कर निकाल दिया और अब उसकी नंगी चूचियां मेरे सामने थीं. फिर मैं उसकी चूचियों को हांथों में लेकर मसलने लगा.

दोस्तों, उसकी चूची इतनी मोटी थी कि मेरे दोनों हाथों में भी नहीं आ रही थी. फिर मैंने उनको खूब मसला और चूसा. अब वो जोर – जोर से सिसकारी लेने लगी. फिर मैंने उसकी पैंटी को भी खींच कर उतार दिया. अंदर का नज़ारा देखते ही मैं मस्त हो गया.

दोस्तों, उसकी फूली हुई मोटी चूत बिल्कुल लाल थी और उस पर छोटे – छोटे बाल भी थे. फिर मैं झट से उसकी चूत को चाटने लगा. इस पर वो जोर – जोर से सिसकियाँ लेने लगी और ‘उईई उईई आआ आह आह’ की आवाजें निकालने लगी.

वो तड़प रही थी. फिर थोड़ी देर बाद वो मुझसे बोली, “अब और मत तड़पाओ मुझे, जल्दी से चोद दो मुझे मेरे राजा.” पर मैं कहाँ मनाने वाला था. मैं फिर भी उसकी चूत को चाटता रहा और वो सिसकारी लेती रही.

करीब 10 मिनट बाद वो झड़ गयी और तेज – तेज सांस लेने लगी. अब वो मेरे कपड़े निकालने लगी. कुछ ही देर में मैं भी केवल अंडर वियर में था. फिर जैसे ही उसने मेरा अंडर वियर निकला, वैसे ही एक झटके के साथ वो मुझसे दूर हो गयी. वो मेरे लंड को देख के डर गयी थी.

दोस्तों, मेरा लंड 8 इंच लंबा और 3.5 इंच मोटा है. फिर वो बोली, “क्या ये मूसल है?” इस पर मैंने कहा, “ये लंड है मेरी जान.” तो वो बोली, “मुझे कुछ नहीं करना तुम्हारे साथ, तुम अपना काम करो, मरना थोड़ी ही है मेरे को इसके नीचे लेट कर! इस पर मैंने कहा कि कुछ नहीं होगा.

लेकिन उसने मेरी एक न सुनी और वो भाग के कपड़े पहने लगी. यह देख कर मैंने सोचा कि अब तो काम बिगड़ गया. फिर मैंने उसको कहा कि प्लीज़ एक बार मुंह में ही ले लो बस. इस पर वो मान गयी और लन्ड को मुंह में ले लिया.

मेरे लंड के टोपे से ही उसका मुंह भर गया और उसको सांस भी नहीं आ रही थी. फिर वो बोली कि मैंने आज तक ऐसा लंड नहीं देखा. तो मैंने कहा कितनों से चुद चुकी हो? इस पर उसने बताया कि 3 से चुद चुकी है पर किसी का भी इतना बड़ा नहीं था. उसने बताया कि उसके पति का तो इस से आधा ही है.

अब मैंने उसको उठा कर बेड पर लेटाया ओर उसकी चूत पर थूक लगा दिया. इसके बाद मैं लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा. वो अब दोबारा से गरम हो रही थी. फिर मैंने जैसे ही धक्का लगाया लंड का टोपा फच्च की आवाज म साथ अंदर घुस गया और वो रोने लगी. साथ ही छुड़ाने की भी कोशिश करने लगी. लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा.

थोड़ी देर रुकने के बाद मैंने एक और धक्का लगाया और इस धक्के के साथ मेरा पूरा लन्ड उसकी चूत में घुस गया और उसकी बच्चेदानी से जा टकराया. अब मैं फिर से रुक गया और उसको यहां – वहां किस करने लगा.

थोड़ी देर बाद जब लन्ड उसकी चूत में सेट हो गया तो उसे भी मज़ा आने लगा और वो नीचे अपनी कमर हिलाने लगी. अब मैंने अपने धक्के लगाने शुरू कर दिया. इन धक्कों के साथ ही वो भी उछल रही थी.

करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपने माल से उसकी चूत को फूल कर दिया और लन्ड बाहर निकाल के उसके मुंह में दे दिया. जिसे चूस कर उसने साफ कर दिया. 10 मिनट की इस चुदाई में वह 4 बार झड़ चुकी थी.

अभी हम वैसे ही लेते थे कि तभी बेल बजी और वह उठ कर अपने सारे कपड़े लेकर बाथरूम में भाग गई और मैंने भी जल्दी से अपने कपड़े पहन कर दरवाजा खोला तो देखा कि विनोद आ गया था. फिर हम बैठ कर बात करने लगे.

अन्नू बार – बार कड़वी नजर से मेरी तरफ देख रही थी और साथ – साथ मुस्करा भी रही थी. मेरे को कुछ समज नही आ रहा था. फिर हम थोड़ी देर में वहां से चलने के लिए रेडी हुए तो विनोद बाथरूम चला गया. फिर अन्नू मेरे पास आई और मेरा नंबर लिया इसके बाद मुझे किस करके बोली मैं कॉल करुँगी.

उसके बाद हम वापस चले आये. लेकिन बाद में अन्नू ने मुझे फोन किया और अब हम जब भी मौका पाते हैं मैं उसके घर पहुंच जाता हूँ और जम कर चुदाई करते हैं.

मेरी यह कहानी आपको कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *