फ़ेसबुक पर मिली गर्लफ्रेंड को दर्द देकर चोदा

फ़ेसबुक पर मुझे मेरे ही शहर की एक लड़की मिली. जिसे मैंने माउंट आबू ले गया और वहां पर होटल में ले जाकर उसकी जबरदस्त तरीके से चुदाई की…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम अहमद है और मैं गुजरात के अहमदाबाद में रहता हूँ। मैं एक स्मार्ट सा दिखने वाला लड़का हूँ. लड़कियां कहती हैं कि मेरी आंखों में अजीब सा अट्रैक्शन है.

अब आप लोगों को ज्यादा बोर न करते हुए मैं अपनी स्टोरी पर आता हूँ. यह कहानी मेरे और मेरी गर्लफ्रेंड के बीच हुए सेक्स की सच्ची घटना है. मेरी गर्लफ्रेंड का नाम रिया है. उसका फिरगर 32 26 30 का है. दोस्तों, वो बहुत ही सेक्सी है और उसका गोरा रंग देख कर किसी का भी लन्ड खड़ा हो जाए.

रिया और मैं फ़ेसबुक के माध्यम से एक – दूसरे से जुड़े थे. वो मेरे ही शहर की रहने वाली थी. शुरुआत में हमारे बीच बहुत चैटिंग होती थी. फिर हमने अपना नम्बर एक्सचेंज कर लिया और फ़ोन पर बात करने लगे. हम पूरी – पूरी रात फ़ोन पर बात करते रहते. शुरू में तो हमारे बीच नॉर्मल बातें होतीं लेकिन फिर धीरे – धीई सेक्स चैट चालू हो गया.

एक रात हम यूं ही बात कर रहे थे. बातों ही बातों में मैंने उससे पूछा कि क्या तुम वर्जिन हो? इस पर उसने हां में। जवाब दिया. यह सुन कर मैंने मन में सोचा कि चल बेटा फिर तो ठीक है, अब तेरी सील तो मैं ही तोडूंगा.

फिर हम फ़ोन सेक्स करने लगे. मैंने उससे कहा कि इमैजिन करो कि मैं तुम्हारे साथ लेटा हूँ और तुम्हें किस कर रहा हूँ. किस के साथ ही मैं तुम्हारे बूब्स को भी दबा रहा हूँ. यह सुन – सुन कर वो गर्म होने लगी.

फिर मैंने उससे कहा कि अब अपनी चूत में उंगली डालो और उसे अंदर – बाहर करो. उसने वैसे ही किया. इधर मैं भी अपना काम कर रहा था. फ़ोन सेक्स करते – करते हम झड़ गए.

रोज फ़ोन सेक्स करने का यह सिलसिला करीब 1 हफ्ते तक चलता रहा. फिर हमने मिलने का प्लान बनाया. दोस्तों, अब मैं उसे चोदने के लिए बेचैन था. हमने डिसाइड किया कि हम सिटी से दूर किसी दूसरे स्थान पर मिलेंगे.

फिर उसने अपने घर पर कॉलेज ट्रिप का बहाना बनाया और हम माउंट आबू पहुंच गए. वहां हमने एक होटल बुक किया और फिर अपने रूम में पहुंच गए.

रूम का दरवाजा बन्द करते ही मैंने उसे पीछे हग किया और उसकी गर्दन पर किस कर दिया. किस करते ही उसके मुंह से एक मीठी सी सिसकारी निकल पड़ी. फिर मैंने उसे अपनी तरफ घुमाया और उसके होंठों को करीब 3 मिनट तक स्मूच करता रहा.

उस समय उसकी आखों में एक अलग सी चमक थी. फिर जल्दी से मैंने उसे उठा कर बेड पर लिटा दिया और उसके होंठों को किस करते हुए उसके बूब्स दबाने लगा. अब कभी मैं उसकी गर्दन तो कभी उसके नाज़ुक होंठों पर किस करता था और वो लगातार सिसकारियां ले रही थी.

फिर मैंने उसका टॉप उतार दिया. उसने पिंक कलर की ब्रा पहन रखी थी. उसमें से उज़के बूब्स बाहर आने के लिए तड़प रहे थे. यह देख मैंने उसकी ब्रा भी उतार दी और उसके बूब्स को नंगा देखते ही उन पर टूट पड़ा और चूसने लगा.

मैं उसके निप्पल्स के चारों ओर अपनी जीभ फेर रहा था. फिर मैंने उसकी गहरी नाभि देखी तो मुझसे रहा नहीं गया और मैं उसकी नाभि पर भी जीभ फेरने लगा. अब कभी मैं उसकी नाभि पर तो कभी उसके बूब्स पर जीभ फेर कर उसके निप्पल्स को बच्चों जैसे चूसता था.

मेरे ऐसा करने से वो लगातार गर्म होती जा रही थी और उसके मुंह से आह आह की आवाज निकल रही थी. वो ‘मज़ा आ रहा है और चूसो और तेज चूसो, खा जाओ इन्हें’ चिल्ला रही थी.

फिर मैंने अपने हाथों से उसकी जीन्स का बटन खोला और उसकी पैंटी के अंदर हाथ डाल कर चूत को दबाने और मसलने लगा. मेरे ऐसा करने से वो पागल हुई जा रही थी. फिर उसने मुझे बेड पर पलट दिया और मेरी शर्ट को उतारने लगी. शर्ट उतारते समय वह उतावली होकर मेरे होंठ भी चूस रही थी. ऐसा लग रहा था जैसे वो मेरे होंठों को खा ही जाएगी. शर्ट उतारने के बाद वह मेरी छाती पर किस करने लगी और मेरे छोटे – छोटे निप्पल्स को चूसने लगी.

फिर उसने मेरी जीन्स और अंडर वियर उतार दी. इसके बॉक्स मी लन्ड को हाथ में लेकर हिलाने लगी और मेरे पेट पर किस करने लगी. तब मैंने उसे लन्ड चूसने को कहा तो वह अपनी जीभ से मेरे टोपे को चाटने लगी. उसके ऐसा करने में मुझे इतना मज़ा आया कि मैं आपको बता नहीं सकता.

फिर उसने लन्ड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी. वो बहुत मस्त तरीके से लन्ड चूस रही थी. वह उसे पूरा अंदर तक लेने की कोशिश भी करती थी. उसकी चुसाई से मैं एक दम उत्तेजित हो गया था. आज भी जब मैं उसे याद करता हूँ तो मेरा लन्ड खड़ा हो जाता है.

फिर मैंने इससे बताया कि मेरा निकलने वाला है. फिर मैंने उसके मुंह को अपने लन्ड से हटाया और उसे ऊपर करके उसके होंठों का रस पान करने लगा. थोड़ी देर बाद मैं फिर से उसके पेट और कमर पर अपनी जीभ फिराने लगा था. दोस्तों, कान के नीचे और गर्दन पर किस करने से लड़कियों पर बहुत जल्दी सेक्स की खुमारी चढ़ती है. मैंने भी ऐसा ही किया.

फिर मैं नीचे आया और उसकी जीन्स उतार कर उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चाटने लगा. उस समय तक उसकी पैंटी पूरी गीली हो चुकी थी. फिर मैंने उसकी पैंटी उतारी और उसकी चूत को चाटने लगा. मेरे ऐसा करने से वो बिल्कुल पागल हो चुकी थी. थोड़ी देर बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया, जिसे मैं पी गया.

फिर मैं ऊपर आया और लन्ड पर कंडोम चढ़ा कर उसे उसकी चूत के ऊपर रखा और एक धक्का दिया. उसकी चूत बहुत टाइट थी. इसलिए मेरा लन्ड फिसल गया. फिर मैंने दोबारा लन्ड रख कर धक्का दिया तो मेरा टोपा उसकी चूत के अंदर चला गया लेकिन दर्द की वजह से वो चिल्लाने लगी.

वो मुझसे लन्ड बाहर निकालने के लिए कहने लगी. तब मैंने उसे बताया कि देखो पहली बार है थोड़ा दर्द तो होगा ही लेकिन फिर मज़ा बहुत आएगा. इतना कह कर मैं उसे किस करने लगा. फिर जब वह थोड़ा नार्मल हुई तो मैंने एक और धक्का दे दिया. इस धक्के के साथ मेरा आधा से ज्यादा लन्ड उसकी चूत में घुस गया.

तभी मुझे अपने लन्ड पर खून महसूस हुआ. मैंने देखा तो उसकी चूत की झिल्ली फट चुकी थी. इस वजह से वो बेहोश सी हो गई थी. फिर मैं रुक कर उसे किस करने लगा. जब वो नॉर्मल हुई तो मैं अपना लन्ड आगे – पीछे करने लगा. थोड़ी देर बाद उसे भी मज़ा आने लगा और वो अपनी गांड़ उछाल – उछाल के मेरा साथ देने लगी.

फिर मैंने अपना पूरा लन्ड बाहर निकाला और एक जोर के झटके से साथ पूरा अंदर कर दिया. इस झटके की वजह से उसकी सांस ही रुक गई थी. उसकी आंखों में आंसू थे. फिर मैंने उसके होंठों पर किस किया और बूब्स को चूसने लगा. साथ ही धीरे – धीरे धक्के भी देने लगा.

आराम मिलने के बाद वह भी मेरा साथ देने लगी थी. अब वह चिल्ला – चिल्ला कर ‘चोदो मुझे, मिटा दो आज मेरी चूत की खुजली, हां ऐसे ही चोदो, बहुत मज़ा आ रहा है आह आह’ की आवाज निकाल रही थी.

फिर मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और थोड़ी देर बाद उसकी चूत ने एक बार फिर पानी छोड दिया. अब वो एक दम से शांत हो गई. लेकिन मेरा अभी नहीं हुआ था तो मैंने उसे डॉगी स्टाइल में किया और उसकी चूत मारने लगा. इस दौरान मैं उसकी कमर पे किस भी कर रहा था और उसके बूब्स भी दबा रहा था.

करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मेरा निकलने वाला हुआ तो मैंने धक्के तेज कर दिए. तभी एक बार फिर उसका बदन अकड़ने लगा. मैं बहुत तेजी से उसे चोद रहा था. पूरा कमरा फच्च – फच्च की आवाज से गूंज रहा था. करीब 15-20 धक्के के बाद हम दोनों साथ में ही झड़ गए. इसके बाद मैं उसके ऊपर लेट गया.

थोड़ी देर बाद हम अलग हुए तो उसने मुझे थैंक्स कहा. मैंने पूछा तो बताया कि मुझे लड़की से औरत बनाने के लिए. फिर मैंने उसे किस किया और वॉशरूम जाकर साथ में नहाए. इसके बाद मैंने उसकी गांड़ भी मारी लेकिन वो फिर कभी.

मेरी कहानी के सम्बन्ध में आप अपने सुझाव मुझे मेल कर सकते हैं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *