फेसबुक से मिली तलाकशुदा, बीवी बन कर सारी रात चुदी

गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप होने के बाद मैं किसी और की तलाश में था. इसी दौरान फेसबुक पर मुझे एक लड़की को प्रोफाइल दिखी. उसकी पोस्ट देख कर मुझे लगा कि कुछ हो सकता है. फिर मैंने उससे दोस्ती कर ली. वो तलाकशुदा औरत थी. बाद में मैं उसे अपने घर ले गया और वह मेरी बीवी बन के खूब चुदी…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम शुभ है और मैं उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर का रहने वाला हूं. पेशे से मैं इंजिनियर हूं. दोस्तों, कॉलेज के दौरान मेरी एक गर्लफ्रेंड थी, जिसके साथ मैं मेरी पढ़ाई खत्म होने के 2 साल बाद तक मज़े लेता रहा था, पर बाद उसे कोई और पसंद आ गया तो वो मुझे छोड़ के उसके साथ चुदवाने लगी. इस तरह मुझे चूत मिलना बंद हो गयी.

अपनी वासना शांत करने के लिए मैंने मीरपुर जाकर कई बार रंडिया भी चोदी पर वहां सुकून से सेक्स नहीं मिल पा रहा था. दोस्तों, मुझे सेक्स में सुकून और एक्सपेरिमेंट ज्यादा पसंद है. मैं आज तक 7 लड़कियों को चोद चुका हूं. मेरी हाइट 5 फुट 10 इंच की है और बॉडी एक दम फिट. मेरे लंड का साइज 6 इंच है और चूंकि मैं स्पोर्ट्स से भी जुड़ा हूं इसलिए स्टॅमिना भी बहुत अच्छा है. आज तक जिसने भी मुझे एक बार चोदने का मौका दिया है उसको फिर बाद में मैंने कई बार चोदा और हर बार अच्छे से सेटिस्फाइड भी किया.

ये सिलसिला पिछले साल अक्टूबर माहीने से शुरू हुआ था. उस टाइम मेरा ब्रेकअप हुए 3 महीने बीत गये थे और चूत क लिए परेशान था. एक दिन मैं फेसबुक चला रहा था तभी मुझे एक लड़की की प्रोफाइल आई. उसने खुद की प्रोफाइल पिक्चरलगा रखी थी. फ़ोटो में वह बहुत खूबसूरत लग रही थी. उसकी बड़ी – बड़ी आंखे और दूध जैसा सफेद और गोल चेहरा मुझे आकर्षित कर रहा था.

फिर मैंने उसकी फेसबुक पोस्ट देखी तो लगा कि शायद उसका भी अभी – अभी ब्रेकअप हुआ है. यह देख के लगा कि शायद कंधा देते ही काम बन जाए.

फिर मैंने उसको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज दी और मैसेज किया कि कैन वी बी ए फ्रेंड? 2 दिन बाद उसने रिक्वेस्ट ऐक्सेप्ट कर के रिप्लाई दिया और इस तरह हमारी बात होने लगी. वह भी कानपुर की रहने वाली थी. इस तरह हमने कुछ दिन बातचीत की और फिर एक हफ्ते बाद मिलने का प्लान बनाया.

हम कानपुर में CCD में मिले. वो अपनी कार से उतरी उस ने सिंपल सी कुरती ओर लेगिंग पहन रखा था. वह बहुत सरल और खूबसूरत नज़र आ रही थी. इतनी कि जो भी देखे सीधे शादी कर ले.

वो आई और आकर मेरे सामने बैठ गई. फिर हमने बातें चालू की. उसने सीधे बताया कि वो डाइवोर्सी है, उसके पति ने उसको 3 महीने में ही छोड़ दिया था और कहा था कि मैं तुमसे ऊब गया हूं. तब मैंने उसको सहानुभूति दिखाई.

काफी देर तक हमारी बातें होती रहीं. फिर शाम को जब हम निकलने को हुए तो मैंने उसको प्रपोज़ कर दिया और उसने भी हां कह दिया. इस तरह हमारे प्यार की शुरुआत हो गई. फिर हमने नम्बर एक्सचेंज किए और वापस आ गए.

घर आने के बाद हमने व्हाट्सएप पर खूब बातें करना स्टार्ट कर दिया. धीरे – धीरे हमारे बीच सेक्स चैट भी स्टार्ट हो गयी. एक दिन मैंने उससे उसकी नंगी फोटोज मांगी तो उसने अपनी जांघों की और चूचियों की फोटो सेंड कर दी.

अपनी फ़ोटो भेजने के बाद उसने मुझे भी ऐसा ही करने को कहा तो मैंने अपने खड़े लंड की फ़ोटो उसके पास भेज दी. उसको देख कर वह बोली कि मुझे इसे चूसना है और इस लंड से ही अपनी चूत चुदवानी है.

फिर हमने मिलने का प्लान बनाने लगे. शहर में कोई जुगाड़ था नहीं इसलिए बाहर जाने के बारे में सोचने लगे. लेकिन काम ज्यादा होने की वजह से हो नहीं पा रहा था. किस्मत मेरे एक करीबी रिश्तेदार की शादी पड़ गई तो मेरे मम्मी – पापा रात में 5 दिन के लिए इंदौर चले गये.

जब मैंने उसको यह बताया तो वो यह सोच के कि अब हमारी चुदाई हो जाएगी बहुत खुश हुई. फिर उसने कहा कि वो सुबह 8 बजे आ जाएगी और रात 9 बजे तक रुकेगी. मैंने उसे घर का पता भेज दिया. फिर उसी रात मैं बाजार गया और वहां से कंडोम और खाने पीने का बाकी समान ले आया.

अगली सुबह 8 बजे आ गई और सीधा घर में घुसी. उसने साड़ी पहन रखी थी. खैर, मैंने उसके आते ही उसके माथे पर एक किस जड़ दिया. जब मैंने उससे पूछा तो बोली कि घर पर ऑफिस जाने को बोल के निकली हूं.

फिर वो मेरे पास आ कर मुझसे चिपक गयी और बोली – शुभ मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं, मुझे अब कभी छोड़ के मत जाना. यह सुन कर मैंने पीछे हाथ ले जाकर उसकी कमर पकड़ी और अपने पास खींच कर चिपका लिया

अब मैं उसके बाल सहला रहा था और आंखों मे देख रहा था. मैंने देखा कि उसकी आंखों मे मेरे लिए बहुत सारा प्यार है. दोस्तों, उस दिन पहली बार मैंने उसके बदन पर ध्यान दिया. उसकी हाइट 5 फुट 5 इंच थी और बूब्स 36 के थे. गांड और कमर की तो पूछिए ही मत! 30 की कमर और 38 की साइज की गांड थी. वह दूध जैसे गोरी थी. कुल मिला कर एक भरपूर गदराई हुई 23 साल की जवान औरत थी, जिसको अपनी जिंदगी में प्यार चाहिए था.

फिर मैंने उसके होंठ चूसना चालू कर दिया. तब तक वह मेरी टी – शर्ट के अंदर हाथ डाल कर मेरा बदन सहलाने लगी. मैंने उसके पूरे चेहरे को जम के चूमा और उसके बाल खोल दिए. बाल खोलने के बाद मैं उसकी गर्दन चाटने लगा.

जब मैं ऐसा कर रहा था तो उसकी उत्तेजना बहुत बढ़ गई और उसने मेरी टी – शर्ट फाड़ दी और मेरे सीने को चाटने लगी. अब मुझसे नहीं रहा जा रहा था. इसलिए सबसे पहले मैंने उसकी साड़ी की पिन्स हटाई और फिर साड़ी खींच ली.

ऐसा करने से उसकी चूचियों की घाटियां मेरे सामने आ गई थीं. अपने को ऐसा देख वो थोड़ा सा शरमाई लेकिन फिर मेरे पास आकर मेरे हाथ अपनी चूचियों पर रख के बोली – शुभ, मसलो इन्हें, मसल – मसल के इनका पूरा रस निकाल लो.

उसकी ये बात सुन कर मैं उसके मम्मों को कस के दबाने लगा. वह बहुत उत्तेजित हो चुकी थी. फिर उसने खुद ही अपना पेटीकोट उतार दिया ओर बोली – मेरे ब्लाउज को खोलो. दोस्तों, ब्लाउज के हुक पीछे की तरफ थे तो मैंने उसे खींच के खुद से चिपका लिया और उसकी पीठ सहलाते हुए एक – एक करके के उसके ब्लाउज का हुक खोल दिया.

ब्लाउज खुलते ही वह शर्म के मारे मुझसे और कस के चिपक गई. कब मैं पीछे से उसके पूरे बदन पर हाथ चलाने लगा. फिर धीरे से मैं एक हाथ नीचे ले गया और उसकी टांगों को सहलाने लगा. उसकी चूचियां बहुत मुलायम और खूबसूरत थीं और निपल एक दम टाइट!

थोड़ी देर बाद वो बिस्तर पर लेट गयी और मैंने उसकी ब्रा का हुक खोल कर उसे उतार दिया और फिर उसके ऊपर आकर उसकी चूचियां चूसने लगा. इसी दौरान उसने अपना हाथ मेरी अंडर वियर में डाल दिया और मेरे लंड को सहलाने लगी.

थोड़ी देर तक लंड सहलाने के बाद वह बिस्तर से उठी और नीचे बैठ कर मेरा लंड बिन कहे ही मुंह में लेकर चूसने लगी. वो पूरा का लंड मुंह में लेकर ऐसे चूस रही थी जैसे कोई रंडी हो. वो बोल भी यही रही थी कि मैं तुम्हारी पर्सनल रंडी हूं और तुम मुझे रंडियों की तरह चोदना.

करीब 10 मिनट तक लंड चूसने के बाद वो बिस्तर पे लेट गई. फिर मैंने उसकी पैंटी हटाई. उसकी चूत काफी गीली हो चुकी थी और उससे उसका काम रस टपक रहा था. यह देखते ही मैं 69 की पोजिशन में आ गया और उसकी चूत को चटना शुरू कर दिया. वो भी मेरा लंड चाट रही थी.

करीब 10 मिनट के बाद वो झड़ गयी और बोली – अब मेरे ऊपर आओ. तब मैं सीधा हुआ और मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और दबाव बनाया. उसकी चूत एक दम गीली थी तो लंड आसानी से पूरा का पूरा अंदर चला गया. लंड अंदर जाने से उसको हल्का सा दर्द हुआ और उसने मेरी कमर पर पैर लपेट लिए.

अब मैं लंड अंदर – बाहर करने लगा. मैं उसको बहुत कस के चोद रहा था और वो पूरा लंड अंदर ले रही थी. वो काफी दिनों बाद चुद रही थी इसलिए उत्तेजनावश जल्दी ही झड़ गयी.

फिर मैंने उसकी चूत को चाटा और उसे कुतिया बना दिया. इसके बाद मैंने उकते बाल पकड़ लिए. फिर मैं उस की गांड पर कस – कस के थप्पड़ मारता हुआ पीछे से उसे चोदता रहा. पीछे से करने में उसे दर्द हो रहा था इसलिए वो चिल्ला रही थी. लेकिन उस समय मुझे उसके दर्द की कोई परवाह नहीं थी. मैं तो बस उसको चोद रहा था और उसके साथ – साथ खुद को भी मज़े दे रहा था.

फिर मैं बिस्तर से नीचे उतरा और उसकी टांगों को अपने कंधे पर रख के लंड अंदर कर दिया. इस पोज़ मे मेरा लंड उसकी बच्चेदानी के अंदर तक जा रहा था. मुझे अपने लंड पर किसी चीज़ का खुलना और बंद होना महसूस हो रहा था. शायद उसकी चूत सिकुड़ रही थी.

करीब 5 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद मैं उसके अंदर ही झड़ गया और फिर उसके बगल में लेट गया. इसके बाद उसने मुझे हग किया और होंठों पर किस करके आई लव यू बोला. साथ ही में उसने कहा कि हमारी शादी नहीं हुई तो क्या हुआ, आज से तुम मेरे हसबैंड हो. मैं अब पूरी तरह तुम्हारी हूं. तुम्हारा जब भी मन करे तुम सिर्फ और सर्फ मुझे चोदना. मैं किसी और पर हाथ भी लगाने नहीं दूंगी. क्योंकि ये मैं बर्दाश्त नहीं कर पाउंगी.

दोस्तों, फिर अगले 4 दिन तक वह कोई न कोई बहाना बना कर मेरे पास आ जाती और हम जम के चुदाई करते. बाद में भी मैंने कई बार उसकी चुदाई की. आप सबको मेरी यह कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *