फ़ेसबुक पर मिले पड़ोसी ने घर बुलाकर मेरी गांड मारी

उंगली की वजह से मुझे बहुत तेज दर्द हुआ लेकिन मैंने उसे बर्दाश्त कर लिया. उसके बाद वो एक लोशन की बोतल ले आया और अपने लन्ड के साथ – साथ मेरी गांड पर भी लगाने लगा…

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम सिड है और मैं 21 साल का हूं. आज मैं आपके सामने अपनी पहली चुदाई की कहानी लेकर हाज़िर हूँ. उम्मीद है आप सब को जरूर पसंद आएगी.

कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देना चाहता हूँ. मेरी लंबाई 5 फुट और 10 इंच है. मैं चिकनी बॉडी वाला लड़का हूँ. मेरे बूब्स और गांड 16 साल की लड़की की तरह हैं, जो भी मेरे बूब्स देखता है उसे पिए बिना नहीं रहता.

बात आज से करीब 6 महीने पहले की है. दोस्तों, मुझे बचपन से ही मर्दों के प्रति कुछ अलग सा अट्रैक्शन था. बड़े होने के बाद मैंने फेसबुक के माध्यम से कई बार अनजान मर्दों से बात की लेकिन कभी मिलने की हिम्मत नहीं हुई.

कुछ महीने पहले ही मैं एक लड़के से फेसबुक पर बात कर रहा था. चैट के दौरान पता चला कि वो पास में ही रहता है. चैट पर ही उसने मुझे अपने लन्ड की कई सारी फोटोज भेजी. उसके लन्ड की फोटोज देख कर मेरे अंदर एक अजीब सी तड़प पैदा गई. उस दिन हम काफी देर तक चैट करते रहे.

अब हमारा यही रोज का प्रोग्राम बन गया था. वो ऑनलाइन होता और मुझे रोज अपनी एक नई फ़ोटो भेजा और फिर हम सेक्स चैट करते.

उसने मुझे कई बार अपने घर बुलाया लेकिन मुझ में जाने की हिम्मत नहीं थी. एक दिन उसने वीडियो चैट करने के लिए कहा तो मैंने हामी भर दी. उस दिन वेब कैम पर हम दोनों एक – दूसरे को नंगे देख कर पागल से हो गए.

फिर उसने अपने लन्ड पर फोकस किया और मुझे मेरे बूब्स और गांड को हिलाने के लिए बोला. अब मैं उसके कहे अनुसार अपनी बॉडी को मसले जा रहा था. थोड़ी ही देर में उसने अपने लन्ड से जोरदार पिचकारी छोड़ी, जो सीधा वेब कैम पर आ गिरी. मैंने अपने कैम से किस किया और उसने चाट कर खत्म कर दी.

ये सिलसिला करीब 2 दिन तक चला. तीसरे दिन उसने मुझे अपने घर बुलाया और फिर मैंने जाने के लिए हां कर दी. फिर देखते ही देखते कपड़े पहन कर करीब 15 मिनट में मैं उसके घर पहुंच गया.

वो करीब 24 साल का वेल टोंड लड़का था. उसके चेहरे पर हल्के – हल्के बाल थे. उसके सीने पर ढेर सारे बाल उसे और मोहक बना रहे थे.

जब मैं पहुंचा तो उसने मुझे अंदर बुलाया और गेट लगा दिया. गेट बंद करने के बाद वह मेरे ऊपर टूट पड़ा. अब उसने मेरे मोटे – मोटे होंठों को अपने होंठों में ले लिया और चूसने लगा. अब हम एक – दूसरे के मुंह में जीभ डाल कर चूस रहे थे.

करीब 15 मिनट तक उसने मेरे होंठों को चूसा और काटा. इस दौरान नीचे की तरफ मुझे उसका मोटा और भयानक लन्ड साफ फील हो रहा था.

फिर उसने मेरी टी शर्ट उतारी और मैंने बीबी उसकी बनियान उतार दी. अब वो मेरे मोटे निप्पल्स को जोर – जोर से दबाने और चूसने लगा. उसके ऐसा करने से मेरे मुंह से अजीब तरह की सिसकारी निकलने लगी थी. अब मैं उसका सर दबाने लगा और वो मेरे मोठे निप्पल्स को काटने और चूमने लगा.

कई जगह उसके काटने की वजह से दाग भी पड़ गए थे. अभी जब मैं उस दिन को याद करता हूँ तो मेरे निप्पल्स में कुछ अजीब सी कशिश सी होने लगती है.

देखते ही देखते हम दोनों पूरे नंगे हो गए और एक – दूसरे को पागलों की तरह चूमने और चाटने लगे. फिर मैंने उसका लन्ड अपने मुंह में ले लिया और अब वो पागलों की तरह मेरी टाइट गांड को सहलाने लगा.

अब उसके मुंह से कामुक आवाजें आ रही थीं और वो पूरा लन्ड मेरे मुंह में डालना चाहता था. लेकिन उसका मोटा और लम्बा लन्ड पूरा अंदर नहीं जा रहा था. थोड़ी देर बाद वह मेरे मुंह को चोदने लगा. कुछ ही वक्त बीता था कि मेरा पूरा मुंह थूक और उसके प्रीकम से भर गया था. मैं बीच – बीच में उसके लन्ड पर थूक कर चाट भी लेता था.

प्रीकम और लन्ड की मोटाई की वजह से अब मुझे उल्टी सी आने लगी लेकिन इसके बावजूद मज़ा बहुत आ रहा था. फिर उसने अपनी एक उंगली मेरे गांड के छेद में डाल दी और अंदर – बाहर करते हुए गांड को ढीली करने लगा.

उंगली की वजह से मुझे बहुत तेज दर्द हुआ लेकिन मैंने उसे बर्दाश्त कर लिया. उसके बाद वो एक लोशन की बोतल ले आया और अपने लन्ड के साथ – साथ मेरी गांड पर भी लगाने लगा.

फिर उसने धीरे से मेरी टांगों को अपने कंधे पर रखा और अपने लन्ड का टोपा मेरी गांड के छेद पर लगाया. अब एक बार फिर से वो मेरे निप्पल्स दबाने लगा और मेरे लिप्स पर अपने लिप्स को रख कर लन्ड को गांड में पेलने लगा.

मुझे बहुत दर्द हुआ और इस दर्द की वजह से मेरी चीख निकल गई लेकिन उसका मुंह मेरे मुंह में होने के कारण आवाज बाहर न गई. फिर वो थोड़ी देर के लिए बिना हिले मेरे ऊपर पड़ा रहा. फिर मैंने अपने दो हाथों से उसकी पीच नोच ली लेकिन उसे कोई फर्क नहीं पड़ा.

अभी उसका आधा लन्ड ही मेरे अंदर गया था और इसी पर मेरी जान निकल रही थी. फिर वो धीरे – धीरे मुझे चोदने लगा. थोड़ी देर में मैं भी उसका साथ देने लगा. फिर उसने मुझे घोड़ा बनाया और इस बार पीछे से अपना पूरा लन्ड मेरी गांड में पेल दिया.

अचानक हुए इस हमले से मेरी आंखों में आंसू और मुंह से जोरदार चीख निकल गई. तभी उसने झट से मेरे मुंह पर हांथ रख दिया और किसी कुत्ते की तरह मुझे जोर – जोर से पेलने लगा.

करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद उसने फिर से पोजीशन बदली. इस पोजीशन में उसने करीब 15 मिनट तक मेरी चुदाई की और फिर लन्ड निकाल कर उसकी सफाई करने के बाद उसे मेरे मुंह में दे दिया. अब मैं उसका लन्ड चूसने लगा.

थोड़ी ही देर में उसका गर्म जूस मुझे अपने मुंह में महसूस हुआ. जिसे मैं पी गया और उसका लन्ड चाट कर साफ कर दिया. अब हम अलग हुए. फिर जब मैं उठना चाहा तो मुझसे उठा भी नहीं जा रहा था. यह देख उसने मुझे सहारा देकर उठाया और बाथरूम तक ले गया और फिर शॉवर ऑन कर दिया.

अब हम दोनों ने एक साथ नहाना शुरू लिया। तभी वो एक बार फिर से मुझे चूमने लगा. अब उसने मुझे नीचे झुकाया और मेरे मुंह को चोदने लगा. फिर उसने मुझे दीवार की तरफ कर दिया और खड़े – खड़े ही मेरी गांड में लन्ड पेल दिया. इस बार मुझे दर्द थोड़ा कम हुआ और मज़ा ज्यादा आ रहा था.

फिर उसने मुझे अपनी गोद में ले लिया और उछाल – उछाल कर चोदने लगा. इस पोजीशन में मुझे उसका लन्ड अपने पेट तक महसूस हो रहा थ. देखते ही देखते इस बार वह मीठी गांड में ही झड़ गया.

इसके बाद हमने एक लम्बा स्मूच किया और नहाना खत्म किया. फिर हम दोनों नंगे ही बिस्तर पर चिपक कर लेट गए. तभी उसका मूड फिर से चुदाई करने को हुआ लेकिन इस बार मैंने उसे रुकने को कहा.

मेरे मना करने पर उसने मेरी गांड तो नहीं मारी लेकिन मेरे मुंह को एक बार फिर से चोद दिया. इसके बाद मैंने अपने कपड़े पहने और अपने घर आ गया.

अब वो मुझे हर दूसरे दिन अपने घर बुलाता है और हम दोनों चुदाई का पूरा मज़ा लेते हैं. वो मुझे अपने दोस्तों से चुदवाने लगा है लेकिन वो कहानी अगली बार.

आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *