गर्मी में छत पर गर्लफ्रेंड की चुदाई

हेलो दोस्तों, मेरा नाम आशु है और अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है. उम्मीद है आप सबको बहुत पसंद आएगी. इस कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि किस तरह मैंने गर्मी को रात में घर की छत पर अपने पड़ोस में रहने वाली सेक्सी लड़की की मस्त चुदाई की…

दोस्तों, मैं पिछले 5 सालों से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं और इसकी हर एक कहानी को पढ़ता हूं. मैं अपने अनुभव से यह बता रहा हूं कि उनमें से अधिकांश कहानियां सही होती हैं. मेरी भी यह कहानी पूरी तरह सही है.

अब आप लोगों का ज्यादा समय व्यर्थ न करते हुए मैं सीधा अपनी कहानी पर आता हूं. मेरे पड़ोस में एक लड़की रहती थी. उनका नाम रीना था. वो बहुत ही सेक्सी थी और उनका फिगर भी बड़ा ही मस्त था. वो 36 इंच वाली ब्रा पहनती हैं. एक बार उनकी ब्रा उड़ कर मेरे छत पर चली आई थी, तभी मैंने उसका साइज देखा.

दोस्तों, मैं क्रिकेट बहुत खेलता था. एक बार मेरे कॉलेज में टीमों के बीच क्रिकेट टूर्नामेंट हुआ. रीना मेरे ही साथ कॉलेज में पढ़ती थी और हम दोनों बीए के छात्र थे. इसलिए वह भी मैच देखने और बीए वाली टीम का हौसला बढ़ाने आती थी. पहले ही मैच में मैंने बहुत अच्छी बैटिंग की थी. जिसकी वजह से हम मैच जीत गए. जब मैं बैटिंग कर रहा था तो मेरे बैट से निकलने वाले हर रन पर वह चिल्ला कर मेरा उत्साह बढ़ा रही थी.

फिर मैंने लगातार अच्छी बैटिंग की और आखिरकार हमारी टीम ने फाइनल भी जीत लिया. मेरी बेहतरीन बैटिंग की वजह से मुझे मैन ऑफ द सीरीज चुना गया. मेरे खेल से वह बहुत इम्प्रेस हुई. मैच खत्म होने के बाद जब मैं उसके पास से गुजरा तो वह मुझे देख कर मुस्कुराने लगी. जवाब में मैंने भी स्माइल पास कर दी.

दोस्तों, उस समय उसकी उम्र 20 और मेरी 19 साल थी. यह युवा अवस्था का शुरुआती चरण होता है और आप लोग जानते ही हैं कि इस उम्र में अपोजिट लिंग के प्रति कितना आकर्षण होता है.

दोस्तों, जैसा कि मैंने आपको बताया कि वह मेरे घर के बगल में ही रहती थी लेकिन फिर भी हमारी ज्यादा बातचीत नहीं होती थी. एक दिन मैं अपने घर में ही था. तभी रीना हमारे घर मुझसे नोट्स लेने आई.

उसे अपने घर में देख कर मैं खुश हो गया. फिर हमने साथ में बैठ कर काफी देर तक बातें की. बातों ही बातों में मैंने उससे फ्रेंडशिप करने के बारे में पूछ लिया तो उसने हां कह दी. फिर हमने फ़ोन नम्बर भी एक्सचेंज कर लिए. इसके बाद हमारे बीच खूब बातें होने लगीं. हम हर तरह की बात करते थे. कॉलेज में मिलने पर भी हम बॉयफ्रेंड – गर्लफ्रेंड की तरह बिहैव करने लगे थे.

ऐसे ही समय कटता रहा. फिर मैंने सेक्स करने का प्लान बनाया. इस बारे में जब मैंने उसे बताया तो वह सेक्स के लिए तैयार हो गई.

फिर क्या प्लान के मुताबिक, अगले दिन मैंने उसे नींद की कुछ गोलियां ला कर दे दी. रात के समय उसने उसे खाने में मिलाकर अपने घर वालों को खिला दिया. दवा के चलते उसके घर के सभी लोग गहरी नींद में सो गए.

दोस्तों, गर्मी का समय था. इसलिए मैं अपनी छत पर ही सोता था. जब उसके घर के सभी लोग सो गए तो वह अपनी छत को फांद कर मेरी छत पर आई. मैं उसका इंतज़ार करते – करते सो गया था. इसलिए मुझ पर पानी फेंक कर उसने मुझे जगा दिया. जब मैं जागा तो उसने मुझे आई लव यू बोला.

फिर मैंने उसका हाथ पकड़ा और अपने ऊपर खींच लिया. वो मेरे ऊपर लेट गई. फिर हम दोनों एक – दूसरे पर टूट पड़े. मैं लगातार उसे किस कर रहा था और वह भी मेरा साथ दे रही थी.

दोस्तों, उससे कंट्रोल नहीं हो रहा था. इसलिए उसने तुरंत ही खींच कर मेरा लोअर और शर्ट उतार दिया. इसके बाद उसने अपनी नाइटी भी उतार दी और नंगी हो गई. दोस्तों, अंदर उसने कुछ भी नहीं पहन रखा था. फिर उसने मेरी अंडर वियर खींची और मुझे भी नंगा कर दिया.

नंगे होने के बाद मैं फिर उसे किस करने लगा. दोस्तों, मैं चारपाई पर लेटा था. फिर वो उठी और मेरी जांघ पर बैठ कर मेरी छाती और पेट को चूमती हुई मेरे लन्ड की तरफ जा रही थी. उसकी ये अदा मुझे बहुत ही अच्छी लग रही थी. मैं भी पूरी तरह उत्तेजित हो चुका था.

अब वो मेरे लन्ड तक पहुंच चुकी थी. फिर उसने मेरे लन्ड को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी. लन्ड के साथ – साथ वो मेरी गोटियों को भी चूस रही थी. मुझे तो जन्नत जैसा एहसास जो रहा था.

फिर मैंने उसको लिटाया और उसकी चूत में उंगली डाल दी. उसकी चूत गीली थी. इस वजह से उसके रस से मेरी उंगली भी भीग गई. मैंने उसे निकाला और चाट लिया. उंगली चूत में जाने की वजह से अब उससे भी कंट्रोल नहीं जो रहा था. वह तड़पने लगी थी.

अब तक मेरा मुंह उसके बड़े – बड़े बूब्स तक पहुंच गया था. मैंने उनको मुंह में भर लिया और मस्ती में चूसने लगा. वो बिल्कुल मस्त हो गई. थोड़ी देर बाद मैंने उसकी टांगों को चौड़ा किया और चूत के पास बैठ गया.

फिर मैंने अपने लन्ड को उसकी चूत में ऊपर से ही रगड़ने लगा. इससे वह आहें भरने लगी. उसकी चूत एक दम गीली थी. फिर मैंने उसकी चूत पर और अपने लन्ड पर थोड़ा सा तेल लगाया. इसके बाद मैंने एक झटका दिया तो मेरा पूरा लन्ड उसकी चूत में घुस गया. उसको हल्का दर्द हुआ लेकिन मज़ा बहुत आया. उसकी आहें बढ़ने लगीं.

फिर मैंने हाथ में तेल लगाया और उसके बूब्स पर लगा कर मसाज करने लगा. साथ में चुदाई भी चल रही थी. फिर मैं उसके ऊपर लेट कर उछलने लगा. बहुत मज़ा आ रहा था. उसकी चूत लगातार पानी छोड़ रही थी.

फिर मैंने उससे पूछा कि पहले भी चुदाई की है या नहीं? इस पर वो बोली – आज से पहले मैं तुम्हारे बारे में सोच कर सेक्स टॉय का इस्तेमाल करके चुदाई करती थी. फिर थोड़ा रुक कर वो बोली कि लेकिन उसमें इतना मज़ा नहीं आता था.

मैंने उससे पूछा कि आज मज़ा आ रहा है या नहीं? तो वो बोली – आज तो स्वर्ग ही मिल गया है. मेरा तो मन कर रहा है कि आज तुम सारी रात मुझे चोदते रहो और फाड़ दो मेरी चूत को.

यह सुन कर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी. कुछ देर चोदने के बाद मैं नीचे आ गया. अब वो मेरे लन्ड पर बैठ गई और पागलों की तरह ऊपर – नीचे उछलने लगी. करीब 4 मिनट बाद वो झड़ गई. उसके काम रस से मेरा लन्ड एक दम गीला हो गया था.

इसके बाद मैंने उसको नीचे किया और उल्टा लिटा कर लन्ड पीछे से उसकी चूत में पेल दिया. अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. मैं झड़ने वाला था. इस वजह से मेरी स्पीड और बढ़ गई. लन्ड खुद ब खुद अंदर – बाहर होने लगा.

अब मेरा पानी छूटने वाला था. तभी एक झटके से लन्ड बाहर आया और मैंने अपना सारा माल उसके बूब्स पर गिरा दिया. इसके बाद मैंने सारा माल उसके मम्मे पर सनी लियोनी जैसे मल दिया. उसके बाद अब जब भी उसका मन करता है, वो रात को छत पर आकर मुझसे चुद जाती है. आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी? कमेंट करके जरूर बताएं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *