घर बुलाकर शीमेल ने चुदवाया

जैसे ही मैं उसके पीछे -पीछे, उसके बेडरूम में घुसा. उसने मुड़ कर मेरा टॉवल खींच लिया और मुझे पूरा नंगा कर दिया. मेरे कुछ बोलने से पहले ही उन्होंने मुझे किस करना शुरू कर दिया…

मेरा नाम मंजीत है. मैं दिल्ली में रहता हूं. मेरी उम्र 25 साल है. मेरे घर के पास एक 35 साल की औरत रहती है. उसका नाम रानी है. वो देखने में एकदम मस्त लगती है, लेकिन उसकी आवाज़ में थोडा मर्दानापन है मतलब उसकी आवाज लड़कों जैसी है. उसके बूब्स कम से कम 36 के होंगे और गांड भी बहुत बड़ी और बाहर को निकली हुई है.

वो जब भी मुझे देखती थी, तो मुझे कुछ अलग किस्म की स्माइल देती थी. लेकिन मुझे कुछ भी पता नहीं चलता था. एक दिन, मेरे घर में कोई भी नहीं था. सब लोग बाहर गए हुए थे. मैं टीवी देख रहा था, कि डोरबेल रिंग हुआ. जैसे ही मैंने दरवाजा खोला, तो देखा कि सामने रानी खड़ी थी. उसने एक व्हाइट कलर का टॉप और पिंक कलर की स्कर्ट पहन रखा था. शायद उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी, इसलिए मुझे उसका निप्पल दिखाई दे रहा था.

मैंने उससे पूछा – क्या हुआ?

वो बोली – मेरे घर का नल ख़राब हो गया है. मैं नया खरीद कर लायी हूं. क्या तुम उसको लगा दोगे?

मैंने कहा – ठीक है.

फिर मैं उसके घर पर चला गया और हम दोनों बाथरूम में गए. मैं उसका नल खोल ही रहा था, कि वो मेरे हाथ से फिसल गया और हम दोनों पानी कि धार में भीग गए. फिर मैंने नल लगा दिया और जब पीछे मुड़ा, तो एकदम से सरप्राइज हो गया. रानी की ड्रेस पूरी भीगी हुई थी और अब मुझे उसके निप्पल साफ़ – साफ़ दिखाई दे रहे थे.

तभी अचानक से वो बोली – क्या देख रहे हो?

मैंने कहा – कुछ नहीं.

फिर वो मुस्कुरा कर बोली – कुछ तो देख रहे थे. मुझे मालूम है, कि तुम क्या देख रहे थे?

मैं थोड़ा सा घबरा गया था और मैं वहां से निकलने लगा. तभी रानी बोली – रुको. तुम्हारे कपडे पूरे भीग गए हैं. मैं उनको सुखा देती हूं.

मैंने कहा – कोई बात नहीं है. मैं घर जाकर चेंज कर लूँगा.

वो बोली – नहीं, मैं सुखा कर देती हूं तुम को.

फिर उसने मुझे एक टॉवल दे दिया. चूंकि मैं घर में अंडरवियर नहीं पहनता था. वो मेरी पैंट और शर्ट सुखाने के लिए ले गई. फिर उसे सुखा कर वापस ले आईं. वो वैसे ही भीगे कपड़ो में थी और मैं टॉवल में था. उसको भीगे कपड़ों मे देखकर मेरा लौड़ा अब तक खड़ा होकर टॉवल में टेंट बना चुका था. अब तक रानी भी ये नोटिस कर चुकी थी.

फिर अचानक से रानी मेरे पास आई और बोली – मेरा एक काम करोगे?

मैंने कहा – हाँ, क्या काम है?

वो बोली – मेरे बेडरूम में आओ. फिर बता देती हूं.

जैसे ही मैं उसके पीछे -पीछे, उसके बेडरूम में घुसा. उसने मुड़ कर मेरा टॉवल खींच लिया और मुझे पूरा नंगा कर दिया. मेरे कुछ बोलने से पहले ही उन्होंने मुझे किस करना शुरू कर दिया. मैं तो कुछ भी सोच ही नहीं पा रहा था. मुझे समझ ही नहीं आ रहा था, कि क्या करूं? क्या नहीं?

लेकिन मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. फिर वो मेरा लंड चूसने लगी और अब मैं उनके बूब्स को दबाने लगा था. फिर मैंने धीरे – धीरे उसके टॉप को निकाल दिया. क्या मस्त बूब्स थे उसके? मैंने उसको बेड पर लिटा दिया और उसके बूब्स को दबाने लगा. फिर जब मैंने अपना हाथ उसकी चूत की तरफ किया तो उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया.

मैंने कहा – क्या हुआ?

वो बोली – कुछ नहीं. तुम पहले आँखें बंद करो.

मैंने कहा – क्यों?

वो बोली – पहले आँखें बंद करो तो सही. फिर बताती हूं.

मैंने अपनी आँखे बंद कर ली और जब आँख खोली, तो मैं पूरा शॉक हो गया. उसके चूत तो थी ही नहीं. बस एक छोटा सा नुन्नू था.

मैंने कहा – आप लड़की नहीं हो?

उसने कहा – नहीं. मैं एक शीमेल हूं.

तो मैंने उसको कहा – अब ऐसा नहीं हो सकता है. मेरे कपडे़ वापस करो. मुझे अब घर वापस जाना है. नहीं तो मैं सब को बता दूंगा, कि तुम कोई लड़की नहीं हो, एक शीमेल हो.

उसने मेरा पैर पकड़ लिया और बोली – प्लीज, ऐसा मत करो. तुम्हें चोदने के लिए एक चूत चाहिए. तुम अपना लंड मेरी गांड में डाल दो. मुझे अपनी गांड चुदवाना है. बहुत खुजली हो रही है. मैं अपना लंड तुम्हारी गांड में नहीं डालूँगा. मैं तुम्हारा लंड चूसूंगा और तुम्हारे लौड़े को अपनी गांड में ले कर अपनी गांड को चुदवाऊंगा. तुम तो बस मेरी गांड मारो और मेरे बूब्स को दबा दो.

मेरा भी पारा चढ़ा हुआ था. मैंने कहा – ठीक है. वो मेरे लौड़े को हाथ में ले कर अपने मुंह में लेने लगी और उसको चूसने लगी. उसके बाद मैंने थोड़ा तेल लेकर उसकी गांड में लगा दिया और थोड़ा तेल मैंने अपने लंड पर भी मल लिया. फिर मैंने उसको चोदना शुरू कर दिया. क्या मस्त टाइट छेद था! मेरे लंड के अन्दर जाने पर वो चीख रही थी – अह्ह्ह ऊं ओह्होह्ह हहह मेरी गांड ऊऊ मर गयी मैं तो.

इस दौरान मेरा हाथ उसके लंड पर चला गया. मुझे तो पता भी नहीं चला. इधर मैं उसको चोद रहा था और हाथ से उसके लंड को भी हिला रहा था. वो 3 मिनट में ही झड़ गयी और मैं 20 मिनट तक उसको चोदता रहा. जब मैं झड़ने वाला था. तो उसने मुझे कहा, कि अन्दर मत झाड़ना. मैं तुम्हारा सारा माल पीना चाहती हूं.

मैंने अपने लंड को उसकी गांड से बाहर निकाल कर उसके मुंह में डाल दिया. उसने चूस – चूस कर मेरा सारा माल बाहर निकाल लिया. मैं थक कर बैठ गया.

फिर वो जूस का एक ग्लास लेकर मेरे पास आई और बोली – कभी मेरी याद आये तो बेझिझक चले आना. मैं तुम्हारा लंड चूस लूँगा और तुम मेरी गांड मार देना.

मैंने कहा – ठीक है.

फिर मैंने उसको पूछा – तुम्हारे बूब्स इतने बड़े कैसे हो गए?

उसने कहा – ये ऑपरेशन करवा के इतने बड़े हुए हैं.

फिर मैंने उसको पूछा – क्या आपके ऑफिस के लोग आप पर डाउट नहीं करते हैं?

तो वो बोली – सिर्फ उसका बॉस जानता है उसके बारे में. वो रोजाना ऑफिस के बाद, उसकी गांड मारता है. वो रोजाना उसके घर भी जाती है.

फिर रानी ने बताया कि एक दिन मैं ऑफिस में बॉस का लंड चूस
रही थी. कि एक आदमी अन्दर आ गया. मैं टेबल के नीचे थी. मैं वैसे ही बॉस के लंड को चूसती रही. वो आदमी बॉस का दोस्त था तो बॉस ने मुझे टेबल के नीचे से बाहर आने को कहा. फिर बॉस और उनका दोस्त दोनों मेरे सामने अपने लंड खोल कर खड़े हो गए.

फिर मैंने बारी – बारी से उन दोनों के लंड को चूसा और लंड चुसवाने के बाद, बॉस ने मुझे कुतिया बना दिया. बॉस मुझे कुतिया बनाकर मेरी गांड चोद रहे थे और उसके दोस्त ने मेरे मुंह में अपने लंड डाला हुआ था. फिर कुछ देर बाद, दोनों ने अपनी
पोजीशन बदल ली. कुछ देर के बाद, उन दोनों ने एकसाथ अपने लंड मेरे गांड में डाल दिए. वो दोनों मेरी गांड को एकसाथ चोद रहे थे. मेरी तो हालत ही ख़राब हो रही थी. करीब मिनट चोदने के बाद, वो दोनों झड गए. इतना बताकर रानी शांत हो गई.

उसके बाद तो अब कभी – कभार टाइम मिलता है तो मैं रानी के घर चला जाता हूं. टाइम कम होने पर सिर्फ लौड़ा चुसवा कर आ जाता हूं और अगर ज्यादा टाइम हो, तो उसकी गांड मारने का मजा भी ले लेता हू. अब तो वो कभी – कभी मुझे पैसे भी देती है चुदवाने के लिए.

तो दोस्तों, मुझे जरुर लिखना कि आपको मेरी ये स्टोरी कैसी
लगी?

[email protected]

“घर बुलाकर शीमेल ने चुदवाया” पर एक उत्तर

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *