घर आई पड़ोस वाली खूबसूरत भाभी को चोदा

मुझे एक्सपीरियंस वाली औरतों को चोदना बहुत अच्छा लगता था. मेरे पड़ोस में एक खूबसूरत भाभी थी, जो स्कूल में पढ़ाती थीं. उनके घर वालों के बाहर जाने पर जब वह मेरे यहां चाभी लेने आई तो मैंने उसे कैसे चोदा जाने मेरी इस कहानी में…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम विवेक है और मैं अहमदाबाद से हूँ. मेरी उम्र 22 साल है और मैं 6 फिट लम्बा हूँ. मेरे लंड की लम्बाई 6.5 इंच और मोटाई 2 इंच है. यह किसी भी लड़की या भाभी को ख़ुश करने के लिए काफ़ी है. दोस्तों, मुझे 25 से 30 साल की उम्र की एक्सपीरियंस वाली औरतें काफ़ी अच्छी लगती हैं.

दोस्तों, यह एक सच्ची घटना है. अब देर ना करते हुए सीधे मुद्दे पर आता हूँ. मेरे घर के सामने ही एक परिवार रहता है. वहाँ पर क़रीब 28 साल की एक बहुत ही सेक्सी सी दिखने वाली औरत भी रहती है. वह शादीशुदा है और उसका फ़िगर कमाल का है. क़रीब 36-30-38 फिगर वाली वह औरत एक दम पटाखा है.

उसका नाम प्रियंका है और वो एक स्कूल में टीचर है. वो सुबह अपने घर की सफ़ाई करते समय सिल्क का नाइट ड्रेस पहने हुए होती है. उसमें से उसके 36 के बूब्स बाहर निकल आते हैं और मैं रोज़ उसे देख कर मुठ मारा करता हूँ.

फिर मैंने डिसाइड कर ही लिया कि इसकी तो एक बार जम के चुदाई करनी ही है. बस फिर क्या था फिर मैं लग गया जम के उस पर लाइन मारने.

दोस्तों, मैं अपने बारे में एक बात बता देना चाहता हूँ. मैं बहुत ही हैंडसम सा दिखने वाला लड़का हूँ और जिम भी जाता हूँ. इसलिए किसी भी लड़की या औरत को पटाना मेरे बाएँ हाथ का खेल है.

अब जब भी मुझे मौक़ा मिलता मैं उससे बात करने और उसकी तारीफ़ करने से नहीं चूकता था. एक दिन की बात है. उस दिन उनके घर वालों को कहीं बाहर जाना था तो वे अपने घर की चाभी हमारे घर पर रख कर चले गए.

स्कूल से आने के बाद जब वो चाभी लेने मेरे घर पर आईं तो मैंने दरवाजा खोला. मैं भी घर पर अकेला ही था. उसने सेक्सी साड़ी पहन रखी थी और उसमें उसके उठे हुए बूब्स साफ़ नज़र आ रहे थे.

उसने मुझसे चाभी माँगी तो मैंने उनसे कहा कि आप बहुत दिनों बाद हमारे घर पर आयी हैं, कम से कम पानी तो पी लीजिए. फिर मैंने पानी का ग्लास लाकर उनको दिया. इसके बाद फिर जब वो जाने लगी तो मैंने कहा, आप अकेली घर पर बोर हो जाएंगी इससे अच्छा है कि आप मेरे साथ ही बैठिए.

वो मान गयी फिर हमने थोड़ी इधर – उधर की बातें की और इसी बीच मौक़ा देख कर मैं उनकी तारीफ़ के पूल बाँधने लगा. वो अपनी तारीफ़ सुन कर लाल – लाल हो गयी और मुझसे बोलीं कि इतनी अच्छी बातें कर लेते हो, अब तक कितनी लड़कियाँ पटायी हैं? उनके इस सवाल पर मैं भी पीछे ना हट कर एक स्ट्रोक मार दिया कि मुझे तो एक्सपीरियंस वाली औरतें ज़्यादा पसंद हैं.

यह सुन कर उसकी आँखों में चमक सी दिखने लगी. अब हम दोनों काफ़ी खुल चुके थे. फिर मैंने उनकी लाइफ़ के बारे में पूछा तो वो बोलने लगीं कि बस वही बोरिंग लाइफ़ है, कुछ नया नहीं है. उनकी यह बात सुन कर मैं समझ गया कि इसे चेंज चाहिए.

वो सोफ़े पर मेरे बाज़ू में ही बैठी थी तो मैंने भी हिम्मत करके उसके साथ अपने आप को सटा लिया और उसकी बॉडी को टच करने लगा. इस पर जब उसने कोई रेस्पॉन्स नहीं किया तो मैंने भी अपना हाथ सोफ़े पर ऐसे रखा कि मेरा हाथ उसके नेक पर टच होने लगा था.

अब वह उत्तेजित हो रही थी और उसकी नज़र मेरे टाइट लंड पर सेट हो गयी थी. फिर मैंने अपना हाथ उसकी पीठ पर रख दिया और हिम्मत करके अपने होंठ उसके होंठ पर रख दिए. इस पर उसने पहले तो अपने आप को छुड़ाने की थोड़ी कोशिश की और कहने लगी कि तुम तो मुझसे काफ़ी छोटे हो हमें यह सब नहीं करना चाहिए.

लेकिन अब मैं कहां मानने वाला था. मैंने उसको बोला कि आज मैं एक फ़्रेश और नया एक्सपीरियंस आपको कराउँगा. इतना कह कर मैंने उसे अपनी गोद में ले लिया.

मेरे कड़क लंड का एहसास पाते ही वो मदहोश होने लगी. अब मैंने उसे खड़ा करके अपने हाथ को उसकी कमर पर रख दिया और झटके से उसे अपनी ओर खींच लिया. इसके बाद मैं उसे एक हार्ड किस करने लगा और धीरे – धीरे अपने दोनों हाथ उसकी मुलायम गांड पर रख कर उसे दबाने लगा. इधर वह भी अपने एक हाथ से मेरा लंड दबाने लगी थी.

इस कारण मैं पूरे जोश में आ गया और देर ना करते हुए उसे उठा कर बेडरूम में ले गया और भूखे शेर की तरह उस पर टूट पड़ा. दोस्तों, मुझे किस करना बहुत पसंद है तो मैं सर से लेकद पाँव तक उसे किस से भिगो दिया.

अब मैंने उसकी साड़ी को अलग कर के ब्लाउस की डोरी खींच ली. इससे वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में ही रह गई. उसका गोरा बदन डिम लाइट में चमक रहा था. जिसे देख कर मैं उसके रसीले आमों पर टूट पड़ा. इससे वो सिसकियाँ भरने लगी थी.

अब उससे रहा नहीं जा रहा था. फिर उसने मेरी जिप खोल के लंड बाहर निकाला और उसे पूरा निगल लिया. क्या बताऊं दोस्तों, वो मेरी ज़िंदगी का सबसे हसीन पल था! अब हम 69 की पोज़िशन में आ गए.

उसकी चूत पर मुलायम हल्के काले बाल देख कर मैंने झट से अपना मुँह उसकी चूत पर दबा दिया. अब हम दोनों से रहा नहीं जा रहा था. वो कहने लगी कि अब जल्दी से इस लंड से मेरी प्यास बुझा दे तो मैंने उसे अपने ऊपर ले लिया.

दोस्तों, लड़की के ऊपर होकर करने वाली पोज़िशन में ज़्यादा मज़ा आता है. उससे लड़की को ज़्यादा फ़्रीडम मिलती है. अब वो मेरे ऊपर आकर बैठ गयी और मेरा लंड पकड़ के अपनी चूत पर सहलाने लगी. फिर मैंने मौक़ा पाकर एक ज़ोर का शॉट मारा और मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ अंदर घुस गया.

इससे उसकी हल्की सी चीख़ निकल गयी पर सुनने वाला कोई नहीं था. थोड़ी देर बाद वो ऊपर से अपनी गांड हिलाने लगी और अब मैं भी नीचे से झटके मार रहा था.

उसकी गीली चूत की वजह से फ़च – फ़च और उसकी बड़ी सी गांड की वजह से ठक – ठक आवाज़ आ रही थी. वो आह… यस बेबी… ओह फ़क मी… फ़क मी हार्डर… करके चिल्ला रही थी. इधर मैं तो सातवें आसमान में था. मैं रुक – रुक के उसको मज़े से पेल रहा था.

क़रीब 10 मिनट बाद वह अकड़ने लगी और उसने अपना पानी छोड़ दिया. मेरा भी साथ में ही निकलने वाला था तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और दो – तीन मिनट बाद मैं भी झड़ गया. अब वो मेरे ऊपर ही लेट गयी. हम दोनों पसीना – पसीना हो गए थे. फिर वो मुझे किस करने लगी और बोली कि यह मेरी ज़िंदगी की सबसे रोमांटिक और पैशनट चुदाई है.

दोस्तों, थोड़े टाइम बाद मेरा फिर से खड़ा हो गया और वो बोली कि अब मैं तुम्हारा नीचे से लेना चाहती हूँ तो प्लीज़ मुझे अपने नीचे लेकर एक बार चोद डालो. अब मैं भी उसकी ख़्वाहिश पूरी करने के लिए उसके ऊपर चढ़ गया और लंड पेल दिया.

उधर वो मेरे पीठ पर अपने नाख़ून गड़ाने लगी और मेरे कान को काटने लगी. अब मैं भी जोश में आ गया और ज़ोर – ज़ोर से उसकी चूत मारने लगा. इस बार वो दो बार जड़ गयी, लेकिन मेरा चल ही रहा था। पूरे कमरे में मदहोशी छायी हुयी थी.

क़रीब 15 मिनट बाद मैं भी निढाल हो के उसके ऊपर गिर पड़ा. फिर मैंने उसे बताया कि आज तक मुझे इतना अच्छा कभी नहीं लगा तो वह ख़ुश हो गयी और फिर हम दोनों फ़्रेश हो गए और मैं उसे उसके घर तक छोड़ने गया. इस दौरान रास्ते में वो मुझसे कान में बोली कि अब से मैं पूरी तरह तुम्हारी हूँ. तुम्हारा जब भी मन करे मिल लेना.

दोस्तों, उसके बाद मैंने उसको कई जगहों पर अलग – अलग तरीक़े से चोदा है. आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *