गर्लफ्रेंड की कुंवारी चूत मेरा बर्थडे गिफ्ट

एक बार मेरी गर्लफ्रेंड ने कहा कि मुझे शराब पीनी है तो मैंने उसे अपने बर्थडे वाले दिन पिलाने का वादा किया. मेरे बर्थडे वाले दिन वो मेरे रूम आई और फिर क्या – क्या हुआ जानने के लिए कहानी पढ़ें…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम मनीष है और अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है. उम्मीद है आप सब को जरूर पसंद आएगी. आप को मेरी कहानी कैसी लगी, कमेंट कर मुझे जरूर बताएं.

बात 2 साल पहले की है. तब मैं शुरू – शुरू मुंबई में पढ़ने के लिए आया था. मेरे क्लास में ही रिया एक नाम की लड़की भी पढ़ती थी. वो बहुत ही सिम्पल सी लड़की थी. कॉलेज में मैं भी नया – नया था इसलिए मैं भी एक दम सीधा बन कर रहता था.

एक दिन रिया ने मुझसे मेरी नोट्स मांगी. मैंने दे दी. उस दिन से हमारी बातें शुरू हुई. वो भी मेरी तरह दूसरे शहर से यहाँ पर पढ़ने आई थी. ऐसे ही हमारे बीच होने वाली बातें बढ़ती रही.

अब धीरे – धीरे वो मुझे पसंद आने लगी. उसके बूब्स के बारे में क्या बताऊँ दोस्तों! वो 34 के साइज के थे और एक दम टाइट थे. हालांकि, वो थोड़ी पतली थी पर उसकी कमर… हाय! जब वह चलती थी तो ऐसा लगता कि कयामत आ रही है.

एक दिन हम ऐसे ही बैठ कर बात कर रहे थे. बातों ही बातों में उसने मुझसे कहा कि उसे शराब पीनी है. उसने ये भी बताया कि आज तक कभी भी उसने पी नहीं है. उसकी बात सुन कर मैंने कहा कि अगले हफ्ते मेरा जन्मदिन है. उस दिन मेरे फ्लैट पर आ जाना. वहीं पर तुम्हें पिला दूंगा और पार्टी भी हो जाएगी. वो मान गयी.

अब मेरा जन्मदिन आ गया. मैं अपने रूम पर अकेला था. उस रात ठीक 12 बजे मेरे रूम की घंटी बजी. जब मैंने दरवाजा खोल के देखा तो रिया सामने ब्लैक कलर के टी-शर्ट और जीन्स पहने खड़ी थी. उसके कपड़े बहुत सेक्सी थे और उस पर काफी अच्छे लग रहे थे. उसको इन कपड़ों में देखते ही मुझे झटका सा लगा.

फिर मैंने उसे अंदर बुलाया. अंदर आते ही उसने मुझे पकड़ लिया और कस के गले लगाया. ऐसा करने से उसके बूब्स मेरे सीने से टकरा गए. इससे मेरे अंदर का शैतान जाग उठा और मैं उसकी चुदाई के ख्वाब देखने लगा.

वो मेरे लिए केक भी लेकर आई थी. फिर उसने केक निकाला और कैंडल जलाई. फिर हम दोनों ने साथ में केक काटा और एक – दूसरे को खिला कर जन्मदिन मनाया. इसके बाद मेंने उसे कहे मुताबिक दारू की बोतल निकाली और एक पेग बना कर उसे दिया.

पहले तो वो पीने में थोड़ी हिचकिचाई. लेकिन चूंकि उसकी इच्छा दारू पीने की थी इसलिए वो पी गयी. पहला पेग लगाने के बाद वो खुल गई और फिर उसने एक साथ 3-4 पेग लगा दिए.

पहली बार पीने के हिसाब से ये कुछ ज्यादा ही हो गई थी. इस वजह से शायद उसे कुछ ज्यादा ही नशा चढ़ गया था. फिर उसने मेरा फोन लिया और हम दोनों की सेल्फी लेने लगी.

अभी वो सेल्फी ले ही रही थी कि तभी मेरे फोन पर एक वॉट्सऐप ग्रुप में मैसेज आया. वो एक वीडियो मैसेज था. दोस्तों, चूंकि मैं अकेला ही रहता हूं, इसलिए फोन में लॉक नहीं लगा रखा था. उसने तुरंत वो वीडियो ओपन कर दी. वो ग्रुप मेरे दोस्तों का था तो किसी ने ग्रुप में पोर्न वीडियो भेज दी. उसके चालू होते ही उसमें चुदाई के सीन आने लगे. अब वो बड़े ध्यान से वीडियो देखने लगी.

वो पूरा वीडियो देखा. वीडियो की चुदाई देख वो थोड़ी उत्तेजित होने लगी. दोस्तों, या तो उसे कुछ ज्यादा ही चढ़ गई थी इसलिए उसे पता नहीं चल रहा था कि वह क्या कर रही है या फिर उस के दिल की बात ज़ुबान पे आ रही थी. फिर उसने मुझसे कहा कि ऐसा करने में बहुत मजा आता है क्या?

मैंने कहा – हां, सब लोग कहते तो हैं पर मैंने कभी किया नहीं इसलिए ज्यादा जानकारी नहीं है.

इस पर उसने कहा – मैंने भी नहीं किया. क्यों ना आज हम दोनों ट्राई करें!

यह सुनते ही मेरे तो जैसे बरसों की ख्वाहिश पूरी हो गई हो. मैं खुश हो गया. फिर मैंने उसे अपनी गोद मे ले लिया और उसके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिये. पोर्न फिल्म देखने के कारण वो भी काफी उत्तेजित हो गयी थी.

थोड़ी देर किस करने के बाद उसने मेरा लन्ड बाहर निकाला और मुंह में ले लिया. अब वह मस्ती में मेरा लन्ड चूस रही थी. लन्ड चुसाई में वो परफेक्ट तो नहीं थी लेकिन फिर भी मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

इसी बीच मैंने उसके कपड़े उतार दिए और उसकी चूत में उंगली डाल दी. उस दिन पहली बार उसकी चूत में उंगली गई थी इस वजह से वो दर्द के कारण कराहने लगी. फिर मैं उसे किस करने लगा.

थोड़ी देर बाद फिर मैं उसके ऊपर आ गया और लन्ड सेट किया. जैसे ही मैंने अपना सुपारा उसकी चूत पर रखा वो सिसकियां भरने लगी. तभी मैंने एक झटका दिया और उसी झटके की मदद से मेरा सूपड़ा अंदर घुस गया.

दोस्तों, उसकी चूत बहुत ही टाइट थी तो पहले झटके में मेरा आधा ही लन्ड घुस पाया. उसे बहुत दर्द हुआ और इस वजह से वो रोने लगी. यह देख मैं थोड़ी देर ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा. बाद में मैंने एक बार और जोर से धक्का लगा दिया.

अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस चुका था. जैसे ही मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुसा, वो जोर से चिल्लाई और फिर बेहोश हो गयी. अब वो एक दम शांत होकर पड़ गई. यह देख मैं डर गया.

फिर मैंने बाजू में रखे ग्लास से उस पर पानी डाला तो वो होश में आई. अब वो मुझे मार – मार कर अपने से दूर करने लगी पर मैं कहां हटने वाला था. अब मैं धीरे – धीरे उसे चोदने लगा. थोड़ी देर के बाद जब उसे मज़ा आने लगा तो वो भी मेरा साथ देने लगी.

हमने करीब 10 मिनट तक चुदाई की. फिर मैंने उसकी चूत में ही अपना माल निकाल दिया. हमें सच में बहुत मज़ा आया था. इतना मज़ा हम दोनों को आज तक नहीं मिला था. ऐसे ही उस पूरी रात हम दोनों ने कई बार चुदाई की. फिर सुबह होते ही वह चली गई. जाते टाइम उसने मुझसे कहा कि आज जो भी हुआ वह तुम्हारा बर्थडे गिफ्ट था.

उसके बाद जब भी उसका या मेरा मन करता था वो मेरे रूम पर आ जाती थी और हम जमकर चुदाई करते थे. अब हम कॉलेज में नहीं हैं. कभी – कभी फ़ोन पर उससे बात भी हो जाती है लेकिन जब मैं उसे याद करता हूं मेरा लन्ड खड़ा हो जाता है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *