लन्ड की मालिश करवाकर मम्मी को चोदा

मैंने अपने मम्मी पापा को कई बार चुदाई करते देखा था. एक बार मम्मी ने मुझे मुठ मारते देख लिया. जिसके बाद मैंने उनसे अपने लन्ड की मालिश करवाई और फिर उन्हें गर्म करके चोद दिया…

नमस्कार दोस्तों, मुझे अन्तर्वासना की कहानियां बहुत पसन्द हैं. ये जो कहानी मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूँ वह एक साल पुरानी और मेरे साथ घटी सच्ची घटना है.

मेरा नाम विशाल है और मेरे परिवार में पापा, मम्मी और एक छोटी बहन हैं. दोस्तों, मैंने और मेरी बहन ने अपने बचपन में मम्मी और पापा की चुदाई कई बार देखी है. तब से हमारे दिमाग से बचपन की वे यादें जा ही नहीं रही हैं.

दोस्तों, हमारे मम्मी और पापा सेक्स बहुत करते हैं. आज मैं 20 साल का हूँ और मेरी मम्मी 38 की हैं. मेरी बहन की उम्र 19 साल है. जब भी मैं मम्मी और पापा की चुदाई देखता तो मेरा मन मम्मी की बुर में अपना लन्ड पेलने को करने लगता.

अब तो मेरी छोटी बहन भी जवान हो गई थी तो उनको देख कर मेरे मन में दोनों को चोदने की बहुत इच्छा होती थी. दोस्तों, मैं ग्रेजुएशन कर रहा हूँ. एक साल पहले मैं अपने रूम में था और अंडर वियर में हाथ डाल कर मुठ मार रहा था. इसके साथ ही मैं ब्लू फ़िल्म भी देख रहा था.

तभी अचानक मम्मी अंदर मेरे रूम में आ गईं. उन्होंने मुझे मुठ मारते देख लिया. फिर वो बोली, ये क्या कर रहा था? इस पर मैंने कहा कि नीचे अंदर वियर में दर्द हो रहा इसलिए हाथ डाल रहा था. यह सुन कर मम्मी मुस्कुराईं और बोलीं कि तेल लगाकर मालिश कर लें.

यह सुन कर मैं बोला कि मेरे से नहीं हो पाता आप कर दो न जैसे बचपन में किया था. इस पर वो बोलीं, नालायक अब तू बड़ा हो गया है. तो मैंने कहा ठीक है फिर रहने दो. तभी अचानक से मम्मी मुड़ीं और बोलीं कि अंडर वियर उतार दो.

यह सुन कर मैंने अंडर वियर उतार दिया. जिससे मेरा 6.5 इंच का लम्बा लन्ड बाहर आ गया. वो पूरा तना हुआ था और बड़ा अजीब लग रहा था. अब उन्होंने धीरे – धीरे मेरे लन्ड पर तेल लगाया. अब मेरे से रुका नहीं जा रहा था. मैं सोच रहा था कि कब मम्मी नंगी हों और फिर मैं पूरा लन्ड उनकी चूत पर दे मारूं.

फिर मैंने डरते हुए मम्मी से बोला कि मम्मी लड़कियों के पास लंड क्यों नहीं होता? तो मम्मी ने कहा, ताकि तू किसी लड़की से मज़े ले सके. इस पर मैंने कहा कि वो कैसे कर सकता हूँ? इस पर वो हंसने लगीं.

इतने में मैंने उनकी जांघों पर हाथ रखा तो मुझे फील हुआ कि वो बहुत गर्म हैं. फिर मैंने थोड़ी हिम्मत करते हुए बोला कि मम्मी मैंने पापा को आपकी बुर में लन्ड डालते हुए देखा है तो मुझे भी वहां पर डालना है. इस पर वो बोलीं कि तू इसमें नहीं किसी और की बुर में डालना इस पर तेरे पापा का नाम लिखा है.

अब मैंने कहा कि ठीक है लेकिन मुझे आपकी बुर देखनी है तो वो बोलीं कि ठीक है देख लो लेकिन सिर्फ छूना बस और कुछ मत करना. सी पर मैंने उनसे उनके पूरे कपड़े उतारने के लिए कहा. फिर उन्होंने अपने सारे कपड़े उतार दिए. उनकी सांवली चूत देख कर मैं दंग रहा गया. उनकी चूत गद्देदार थी और फूली हुई थी. जिसे देख कर मेरा लन्ड भड़क रहा था.

फिर मैंने मौका देख कर उनकी बुर को छूते समय अपनी एक उंगली उसमें डाल दी और बोला कि मम्मी आपकी बुर कितनी सुंदर है, मुझे किस करना है. दोस्तों, मैं जानता था कि यही एक मौका है उनकी बुर को पेलने का, इसके बाद पता नहीं कब मिले न मिले. फिर उन्होंने कहा कि अच्छा कर ले.

अब मैंने उनकी बुर को चूसना शुरू किया. जिससे वो धीरे – धीरे गर्म हो गईं. अब उनकी बुर से पानी रिसने लगा था. मैं करीब 10 मिनट तक उनकी चूत को चूसता रहा और फिर वो लेट गईं. इस पर मैंने उनसे पूछा कि अच्छा लगा? तो वो कुछ न बोलीं बस हंस दिया.

अब मैंने ज्यादा देर न करते हुए उनकी टांगों को फैलाया. कसम से यकीन नहीं हो रहा था कि ये मेरी मां की चूत है. मुझे लग रहा था कि मैं किसी 18 साल की लड़की की चुदाई करने जा रहा हूँ.

उनकी बुर की फांकें मोटी थीं और बीच में एक पतली सी धारीदार लाइन थी. अब मैंने लेट न करते हुए उनकी टांगों को अपने कंधों पर रखा. इससे बुर अच्छे से खुल कर मेरे लन्ड के सामने आ गई. उनके बूब्स मुझे मेरी बहन के जैसे लग रहे थे.

फिर मैंने मम्मी को पापा के साथ की एक दिन की चुदाई की बात बताई. जिसमें वो चिल्ला रही थीं. मैंने कहा कि उस दिन तो पापा ने आपकी बुर को फाड़ ही दिया था तो बोलीं कि वो तेरे बाप हैं और तू बेटा, आज तुझे अपनी मम्मी की बुर को जितना फाड़ना है फाड़ ले.

इस पर मैंने कहा कि ठीक है अभी पता चल जाएगा. फिर मैंने पहला झटका दिया तो मेरा पूरा लन्ड आराम से अंदर जाकर खो गया. फिर मैंने धीरे – धीरे अपनी स्पीड बधाई और दनादन उनके बुर की पेलाई करने लगा. लेकिन उन्हें कुछ फर्क ही नहीं पड़ रहा था.

फिर मैंने लन्ड बाहर निकाला और पापा की स्टाइल में उनकी चूत में तेल लाग्या और एक झटके में पूरा लन्ड पेल दिया. अब मैं दोबारा दनादन उनकी बुर चोदता जा रहा था और वो बस आह आह की आवाज कर रही थीं और सिसकियाँ भी ले रही थीं.

अब मैं नॉनस्टॉप जोरदार धक्के मारने लगा. वो अब चिल्ला रही थीं. वो कह रही थीं कि हट जाओ. लेकिन मुझे कोई फ़र्क नहीं पड़ा. अब पूरे कमरे में फच्च – फच्च की आवाज आ रही थी. उनकी सीत्कारें मेरे लन्ड की करेंट दे रही थीं.

अब मेरा लन्ड फूल कर उनकी बुर का बुरादा बना रहा था. करीब 30 मिनट की लगातार चुदाई के दौरान मेरे लन्ड ने जम कर उनकी बुर की खबर ली. इस दौरान वो दो बार झड़ चुकी थीं. अब वो मेरे से छुटकारा पाना चाहती थीं लेकिन मेरा लन्ड वैसे हिखडा था.

अब मैंने दोबारा पेलाई चालू की. वो लगातार कांप रही थीं और मैं लगातार धक्के मारे जा रहा था. फिर कुछ देर बाद मैं उनकी बुर में ही झड़ गया. इसके बाद मैं उनके ऊपर ही करीब आधे घंटे तक लेटा रहा.

इसके बाद जब मैं उठा तो मेरा इरादा एक बार फिर से उनकी बुर की गहराई नाप लेने का था लेकिन उन्होंने मना कर दिया तो मैंने कहा कि नहीं एक बार और. लेकिन उन्होंने मना कर दिया. तब मैंने एक शर्त रखी की अगर आप नहीं चुदवाती हैं तो मुझे मेरी बहन पिंकी की चूत दिलावाईये.

इस पर वो गुस्सा करने लगीं और बोलीं, नालायक वो तेरी बहन है. तब मैंने कहा कि उसकी चूत में खुजली नहीं होती होगी क्या? जैसे आज मैंने अपनी मां यानी कि आपकी बुर फाड़ी वैसे ही एक बार उसके साथ भी करने का जुगाड़ करिए. इस पर वो तैयार हो गईं.

अपनी अगली कहानी में आपको बताऊंगा कि मैंने अपनी प्यारी छोटी बहन की सील पैक चूत को चोदा. तब तक आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *