लेना था केला ले लिया लन्ड

एक बार मैं अपने गांव गया था. वहां का मौसम देख कर मुझे अपनी गांड में केला लेने का मन हुआ और फिर मैं ट्यूबवेल पहुंच गया. लेकिन मेरी गांड के भाग्य में तो लन्ड लेना लिखा था, वही मिला…

हाय फ्रेंड्स, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं और यहां पर यह मेरी पहली स्टोरी है. यहां प्रकाशित होने वाली मदमस्त और उत्तेजक कहानियों को पढ़ कर ही मैंने आप लोगों के साथ अपना एक्सपीरियंस साझा करने की सोची.

अब ज्यादा टाइम न वेस्ट करते हुए मैं अपनी कहानी पर आता हूं. दोस्तों, हमारा परिवार काफी पैसे वाला है. मेरी लम्बाई 5 फुट 9 इंच है और मैं बॉडी एथेलेटिक है. दोस्तों, मैं सेक्स का बहुत दीवाना हूं लेकिन मेरी भूख सिर्फ चूत भर की नहीं है, मुझे अपनी गांड मरवाना भी पसन्द है. मैं अक्सर अपनी गांड में केला डाल कर खुद ही मज़ा लेता था और जब भी मौका लगता चुपके से ब्रा और पैंटी पहन के खुद को शीशे में निहारता रहता.

ये बात तब की है, जब मैं अपने गांव गया था. गांव में मैं अपने दो भाइयों के साथ रोज फार्महाउस स्थित अपने ट्यूबवेल पर नहाने जाता था.

दोस्तों, उस दरमियान इलेक्शन चल रहे थे और मेरे रिलेटिव भी उसमें भाग ले रहे थे. एक दिन मौसम काफी सुहाना था तो मैंने सोचा कि आज दारू पीकर ट्यूबवेल में नहाते हैं और सम्भव हुआ तो गांड को मज़ा भी दिलवा दूंगा.

मैंने भाइयों से चलने को कहा तो उन्होंने कहा कि उन्हें कुछ काम है इसलिए वे नहीं जा पाएंगे. फिर मैंने बाइक उठाई और नजदीक के मार्केट से कंडोम के दो पैकेट खरीद लाया. इसके बाद घर से एक शीशी में सरसों का तेल ले लिया. साथ में चुपके से अपनी भाभी की ब्रा – पैंटी और उनकी ब्लैक कलर की स्टॉकिंग भी निकाल के बैग में डाल ली और अकेला ही ट्यूबवेल की तरफ चल पड़ा.

ट्यूबवेल पहुंच कर मैंने एक नौकर से दारू लाने को कहा और ट्यूबवेल चालू करके उसमें नहाने लगा. जब वो आया तो मैं दारू पीने लगा. तभी उसका फ़ोन आया और वह घर चला गया.

दोस्तों, वहां फार्महाउस पर केले का एक पेड़ था और उसमें फल लगे थे. दारू पीने के बाद मैंने उसमें से फुल साइज के 3-4 केले तोड़े और भाभी की ब्रा – पैंटी और ब्लैक स्टॉकिंग पहन लिया. फिर मैंने चादर बिछाई और उस पर लेट गया.

इसके बाद मैंने तेल की बोतल खोल के उसमें से तेल निकाला और अपनी गांड के छेद पर मलने लगा. इसके बाद पहले एक और फिर दो उंगली अंदर डाल के छेद बड़ा करने लगा ताकि 10 इंच का केला मेरी गांड में आसानी से घुस जाए.

ऐसा करते – करते मुझे जोश आने लगा और फिर मैंने एक केले पर कंडोम चढ़ाया फिर उस पर तेल लगाने के बाद उसे अपनी गांड में घुसाने लगा.

केला गांड में घुसते ही मैं मदहोश हो गया और इसी मदहोशी में मैंने पूरा का पूरा केला अंदर कर लिया. मेरा पूरा ध्यान अब सिर्फ केले को अंदर – बाहर करके मज़ा लेने पर था. लेकिन ये क्या! अचानक वहां पर एक 6 फुटा लम्बा – चौड़ा आदमी आ गया.

उसे देख कर मैं डर गया और चादर लपेट के वहीं खड़ा हो गया. वो आदमी गांजा पी रहा था. फिर उसने मुझे देखा और गांजा साइड में रख कर मेरी तरफ बढ़ा. उसे अपनी यरफ बढ़ता देख मैं पीछे हट गया. लेकिन उसने मुझे पकड़ लिया और कहा कि मैं किसी से नहीं कहूंगा. इतना कह के मेरे जवाब का इंतज़ार किए बिना ही उसने मुझे चूमना चालू कर दिया.

पहले तो मैंने उसे खुद से दूर किया लेकिन फिर पता नहीं मुझे क्या हो गया मैं खुद ब खुद उसके पास गया और उससे चिपकने लगा.

फिर मैंने उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि पेशे से ड्राइवर है और उसका गांव काफी दूर है. उसके बारे में जान कर मैं भी खुलने लगा और उसे चूमना शुरू कर दिया.

अब हम दोनों मदहोश होने लगे. तभी अचानक पानी बरसने लगा. यह देख मैंने उसे रोका और कहा कि ट्यूबवेल बंद करके पीछे कहीं सुरक्षित जगह पर चलते हैं. क्योंकि काफी देर हो गई और नौकर आ सकता है. यह सुन कर उसने मुझे छोड़ दिया.

फिर उठ कर मैंने ट्यूबवेल बंद कर दिया और बाइक से पीछे बाग में चले गए. वहां पर हम लोग सुरक्षित थे क्योंकि कोई आता – जाता नहीं था. फिर उसने मुझे अपनी तरफ खींचा और चूमने लगा. साथ में वह मेरे बदन को सहला भी रहा था.

धीरे – धीरे उसका लन्ड खड़ा हो गया और मेरे बदन को छूने लगा. मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. फिर मैंने उसके कपड़े उतार दिए और खुद की भी टी – शर्ट और जीन्स निकाल दी. मुझ पर अभी भी दारू का खुमार था. इसके बाद मैंने चादर बिछाई और फौरन घुटनों के बल बैठ गया.

फिर मैंने उसका अंडर वियर खींच के नीचे कर दिया. सामने जो दृश्य था उस पर मुझे भरोसा ही नहीं हुआ. उसका लन्ड 12 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा था. उसे देख कर मैं डर गया और उससे बोला कि मैंने कभी इतना बड़ा लिया नहीं. तब वह बोला – परेशान न हो, एक दम आराम से जाएगा.

उसकी बात सुन कर मैंने तुरन्त ही उसका लन्ड मुंह में ले लिया और चूसने लगा. मेरे ऐसा करने से वह मस्त होने लगा और फिर मेरे मुंह में ही धक्के मारने लगा. करीब 10 मिनट तक मेरे मुंह को चोदने के बाद वह मेरे मुंह में ही झड़ गया और मैं उसका सारा माल गटक गया.

फिर उसने मुझे लन्ड खड़ा करने को कहा. मैं फिर से उसका लन्ड चूसने लगा. करीब 5 मिनट बाद उसका लन्ड फिर से तैयार हो गया. अब उसने मुझे लेटने को कहा. मैंने वैसा ही किया.

तभी मुझे याद आया कि मेरे पास कंडोम है. फिर मैंने उसके लन्ड पर कंडोम चढ़ाया और अपनी गांड में तेल लगा लिया. इसके बाद उसने मुझे मेरी टांग फैलाने को कहा. मैंने वैसा ही किया. फिर उसने मेरे छेद पर अपना लन्ड सेट किया और धीरे – धीरे करके अपना सुपाड़ा अंदर डाल दिया.

दोस्तों, जैसा कि मैं पहले ही बता चुका हूं कि उसका लन्ड मोटा भी बहुत था तो सुपाड़ा अंदर जाने से मुझे बहुत दर्द हुआ और रुकने को कहा. वह रुक गया. फिर मैंने उसे लेटने को कहा और खुद ऊपर आकर उसके लन्ड पर बैठ गया. अब मैं धीरे – धीरे उसका लन्ड अंदर लेने लगा.

जब करीब 5 इंच तक लन्ड अंदर गया तो दर्द के मारे मेरी जान ही निकल गई. फिर मैं कुछ देर के लिए रुक गया. तब उसने मुझे अपने ऊपर लिटा लिया और चूमने लगा. मैं मस्त होने लगा. तभी अचानक से उसने नीचे से एक जोरदार झटका दिया. उस झटके की वजह से उसका पूरा लन्ड मेरी गांड के अंदर हो गया और दर्द के मारे मेरी चीख निकल गई.

तब उसने भाभी वाली पैंटी उठाई और उसे मोड़ कर मेरे मुंह में घुसेड़ दिया. इसके बाद वह जोर – जोर से झटके देने लगा. करीब 5 मिनट बाद जब लन्ड मेरी गांड में सेट हो गया तो मुझे मज़ा आने लगा और मैं भी उसका साथ देने लगा.

फिर उसने मुझे घोड़ा बनने को कहा. मैंने वैसा ही किया. मेरे घोड़ा बनते ही उसने फिर मेरी गांड में लन्ड पेल दिया और जो चोदा क्या बताऊं! उस समय वो भी नशे में था और मैं भी. कंडोम डॉटेड था इसलिए मुझे और भी ज्यादा आनंद आ रहा था.

अब बारिश की बूंदें टिप – टिप करती मेरी गांड से टकरा कर उसे गीली कर रही थीं. इस वजह से फच्च – फच्च की आवाज भी हो रही थी. करीब 15-20 मिनट बाद उसने मुझे नीचे लिटाया और थोड़ा तेल लगा कर फिर से लन्ड मेरी गांड में डाल दिया. साथ ही स्टाकिंग में फंसे मेरे पैरों को भी चूमने लगा.

उसके ऐसा करने से मैं पागल सा हुआ जा रहा था और मेरे मुंह से तेज सिसकियां निकल रही थीं. वह लगातार धक्के लगाए जा रहा था. करीब 25 मिनट बाद उसने लन्ड बाहर निकाला और कंडोम उतार कर मेरे पैरों के बीच में अपना माल छोड़ दिया. जिसे मैं उठ कर चाट गया.

इसके बाद उसने अपने कपड़े पहने और वहां से निकल गया. फिर मैंने भी लन्ड हिला कर अपना माल निकाला और उसे भी चाट गया. इसके बाद कपड़े पहन कर मैं भी वापस घर आ गया. दोस्तों, आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, कमेंट करके जरूर बताएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *