लिफ्ट देकर भाभी को रात भर चोदा

एक बार मैंने एक भाभी को लिफ्ट देकर उनके घर छोड़ा. जब मैं वापस आने लगा तो उन्होंने मुझे चाय के लिए रोक लिया. फिर कैसे बात आगे बढ़ी ये आपको कहानी में जानने को मिलेगा…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम बब्लू है और मेरी उम्र 26 साल है. अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली कहानी है. इसमें अगर कोई गलती हुई हो तो माफ कर देना.

कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देना चाहता हूं. दोस्तों, मैं इंदौर का रहने वाला हूं और मेरी लम्बाई 5 फुट 9 इंच है. मैं दिखने में सीधा – सादा पर स्मार्ट हूं. ऐसा मैं नहीं मेरे साथ वाले बोलते हैं. मेरे लंड की लम्बाई 6 इंच और मोटाई 2.5 इंच है, जिससे मैं किसी भी लड़की या महिला को संतुष्ट कर सकता हूं.

अब आप लोगों का टाइम ज्यादा न वेस्ट करते हुए मैं सीधा अपनी कहानी पर आता हूं. दोस्तों, मुझे सेक्स का बहुत शोक है. आप ये कह सकते हैं कि ये मेरी हॉबी है. मुझे हमेशा से ही बड़े बूब्स वाली लड़कियां और भाभियां पसंद हैं. और अगर उनकी गांड बड़ी हो तो फिर बात ही अलग है.

एक बार की बात है. मैं अपने कुछ दोस्तों के साथ एक चौराहे पर खड़ा था. तभी मुझे व्हाइट ड्रेस में एक भाभी मेरी तरफ आती हुई दिखीं. कुछ दूर आने के बाद वो ऑटो स्टैंड पर खड़ी हो गईं और ऑटो का इंतज़ार करने लगीं.

शाम का टाइम था इसलिए कोई ऑटो मिल नहीं रहा था. उस भाभी को देखते ही मैं फ्लैट हो गया और मेरा सारा ध्यान उन्हीं पर चला गया. मैं लगातार उन्हें देख रहा था. जब काफी देर तक खड़े रहने के बाद भी उन्हें कोई ऑटो न मिला तो वो परेशान होने लगीं.

उन्हें परेशान होते देख मैं उनके पास गया और जाकर उनसे कहा कि मैं आपको देख रहा हूं, आप काफी देर से परेशान हैं, आपको जाना कहां है. तब उन्होंने बताया कि मुझे विजय नगर जाना है. इस पर मैंने उनसे कहा कि अब इतनी रात को तो साधन मिलना बड़ा मुश्किल है, अगर आपको ठीक लगे तो मैं आपको छोड़ सकता हूं.

तब उन्होंने थोड़ी देर सोचा और फिर हां कर दिया. इसके बाद मैंने उन्हें गाड़ी पर बिठाया और चल दिया. रास्ते में मैं उनसे उनका नाम, पता वगैरह पूछने लगा. तभी अचानक रास्ते में एक बाइक मेरी गाड़ी के सामने आ गई. जिस कारण मुझे ब्रेक मारना पड़ा. ब्रेक लगते ही झटके की वजह से वो अचानक पूरी तरह मेरे ऊपर आ गईं. उनके मम्मे मेरी पीठ से दब गए.

जब उनके मम्मे मेरी पीठ से दबे तो मेरे अंदर सिरहन सी दौड़ गई. फिर वो थोड़ा सा पीछे होकर बैठ गई लेकिन अब उन्होंने अपना हाथ मेरे कंधे पर ही रहने दिया. अब मैंने इस झटके के लिए उनसे सॉरी बोला तो उन्होंने कहा, ‘कोई बात नहीं’.

अब हम फिर बातचीत करने लगे. मैंने उनसे उनके पति के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि वो एक प्राइवेट कम्पनी में काम करते हैं और बाहर टूर पर ही रहते हैं. उन्होंने बताया कि इस समय वो अपनी सहेली से मिल कर आ रही है.

यह सुनते ही मुझे मौका मिला और मैंने पूछ लिया कि फिर आप अकेली कैसे रह लेती हो? तब वो थोड़ा उदास होकर बोलीं कि मेरी तो लाइफ ही बेकार कर दी मेरे पति ने. इसी बीच उनका घर आ गया. फिर मैंने उनको बाइक से उतारा और वापस जाने लगा तो वो बोलीं कि आइए बैठिए अब तो आपको चाय पीकर ही जाना पड़ेगा.

मुझे भला क्या ऐतराज था. मैंने सोचा कि शायद कुछ बात आगे बढ़ ही जाए. फिर हम अंदर गए. इसके बाद उन्होंने मुझे बैठने को कहा और बोली कि मैं चेंज करके आती हूं.

थोड़ी देर में जब वो चेंज करके आई तो मैं उन्हें देखता ही रह गया. उस टाइम बो एक दम कमाल की लग रही थी. उसके बड़े – बड़े बूब्स तो जैसे रस से भरे हुए हों. उस टाइम वो एक टी-शर्ट और शॉर्ट पहन कर आई थी. मेरी तो उस पर से नज़र ही नहीं हट रही थी. फिर वो मेरे सामने आकर बोली, “क्या हो गया ऐसे क्यों देख रहे हो? कभी लड़की नहीं देखी क्या”? और इतना बोल कर कातिल सी एक मुस्कान बिखेर दी.

इस पर मैंने कहा, “देखी तो है पर आपके जैसी नहीं देखी. आप बहुत…” इतना बोलते – बोलते मैं रुक गया. तब वो बोली कि क्या बोल रहे थे, रुक क्यों गए, बोलो. मैंने कहा कि आपको बुरा लग जाएगा. तब उन्होंने कहा, “बोल दो नहीं लगेगा बुरा”. फिर मैंने कहा कि आप बहुत सेक्सी लग रही हैं, अगर कोई बूढ़ा भी इस टाइम आपको देख ले तो वो भी बोल पड़े कि काश! अगर ये मुझे मिल जाए तो जन्नत मिल जाए”.

मेरे इतना कहने पर उसने एक कातिल मुस्कान बिखेरी और बोली, “मैं आपके लिए चाय बना कर लाती हूं”. इतना बोल कर वह अपनी गांड मटकाती हुए किचन में चली गई. दोस्तों, उसका फ़िगर 30 28 30 का था. फिर मैं भी उनके पीछे – पीछे किचन में चला गया और जाकर उनके बगल में खड़ा हो गया.

वह चाय बनाने लगीं. फिर दूध निकालने के लिए जब उन्होंने फ्रिज खोली तो उसमें मुझे बियर की बोतल दिखी. बियर देख कर मैंने उनसे पूछा कि आप पीती हैं क्या? तब वो बोली कि हां, जब दुख बर्दाश्त नहीं होता तो कभी – कभी पी लेती हूं, और आप?

तब मैंने उनकी ओर इशारा करते हुए कहा, “मैं भी कभी – कभी जब कोई साथ देने वाला मिल जाता है तो पी लेता हूं. यह सुन कर वह एक बार फिर मुस्कराई और बोली, “तब फिर चाय की क्या जरूरत, जाम ही छलकाते हैं”. यह सुन कर मैंने भी स्माइल पास कर दी.

फिर वे एक बोतल निकाल लाईं और हमने पीना स्टार्ट कर दिया. वो मेरे एक दम बगल में बैठी थीं और पीते हुए तिरछी नज़रों से मुझे देख भी रही थीं. फिर जब थोड़ा सुरूर आने लगा तो मैंने अपना एक हाथ उनके पैर पर रख दिया और धीरे – धीरे सहलाने लगा.

कुछ देर बाद उन्होंने पैर पर से मेरा हाथ हटा दिया और उसे पकड़ कर अपने मम्मों पर रख दिया. फिर वे बोलीं, “बुझा दो मेरी प्यास, मैं बहुत दिनों से प्यासी हूं”. इतना कह कर उन्होंने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मुझे किस करने लग गईं. मैं भी उनका भरपूर साथ दे रहा था.

थोड़ी देर में मैं अपने पूरे फॉर्म में आ गया. फिर मैंने एक – एक करके दोनों के सब कपड़े उतार दिए. इसके बाद मैं उनके मम्मों पर टूट पड़ा. उनके मम्मे बड़े ही रसीले और कड़क थे. अभी मुझे ये करते कुछ ही देर हुई थी कि वो बोलीं, “मुझे तुम्हारा लंड चूसना है”.

यह सुन कर मेरी खुशी का ठिकाना ही न रहा. मैं कई लड़कियों और भाभियों को चोद चुका था लेकिन ऐसा पहली बार था जब कोई खुद से मेरा लंड चूसने को बोल रही थी. फिर हम 69 की पोजीशन में आ गए और चूत – लंड चुसाई का खेल शुरू हुआ.

करीब 5 मिनट बाद वो झड़ गई लेकिन मेरा इतनी जल्दी कहां छूटने वाला था. फिर मैं सीधा हुआ और लंड को उनके चूत पर सेट करके एक झटका मारा तो मेरा आधा लंड उनकी चूत में घुस गया और वो ज़ोर से चिल्लाईं.

चूंकि वह काफी टाइम से चुदी नहीं थीं इसलिए उन्हें दर्द हो रहा था. फिर मैंने उन्हें किस किया और उनके मम्मों को सहलाने लगा. इससे उनका दर्द कुछ काम हुआ. फिर जब उनको थोड़ा ठीक लगा तो आगे पीछे करके मैंने एक और झटका मारा तो पूरा लंड अंदर चला गया. इस बार भी उन्हें दर्द हुआ लेकिन मैंने अपनी स्पीड कम नहीं की. मैं लगातार जोर – जोर से चुदाई करने लगा.

अब उन्हें भी मज़ा आ रहा था और वह भी मेरे झटकों का जवाब दे रही थीं. करीब 12 मिनट तक चली जोरदार चुदाई के बाद फिर मैं उनकी चूत में झड़ गया. इस दौरान वो पता नहीं कितनी बार झड़ी थीं.

फिर उस पूरी रात मैं उन्हीं के साथ रहा और 5 बार उनकी चुदाई की. साथ ही एक बार मैंने उनकी गांड भी मारी. आप लोगों को मेरी यह कहानी कैसी लगी? मेल करके जरूर बताना. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *