माँ को फिर से माँ बनाया

माँ के मुह से आह्ह्ह्ह निकल रही थी। थोड़ी देर बाद मैं उनकी चूत में उंगली डालने लगा। उनकी चूत बहुत टाईट थी, तो मैंने उंगली माँ के मुह में डाली और उनकी थूक उंगली में लगाकर उनकी उंगली से चुदाई करने लगा।

 

हाय दोस्तो। मेरा नाम वैभव है और मै महाराष्ट्र का रहनेवाला हूँ।

आज मैं अपने दोस्त की कहानी, अपनी बोली में लिख रहा हूँ। मेरे दोस्त का नाम रोहित है। उसकी उम्र 25 साल है। रोहित दिखने में भी सुन्दर है। उसने मुझे उसकी और उसकी माँ के सेक्स की कहानी बतायी। उसके माँ की उम्र 40 साल थी लेकिन अभी भी वो बहुत सेक्सी थी। रोहित के बचपन में ही उसके पिताजी की मौत हो गयी थी। अब मै सीधे कहानी पर आता हूँ। ये कहानी 6 साल पहले की है जिसे मैं रोहित के शब्दों में लिख रहा हूँ।

मेरे घर मे, मै और माँ ही रहते हैं। रात को सोते वक्त, मै और माँ एक ही बेड पर सोते थे। मैंने माँ को कभी भी गंदी नज़र से नहीं देखा। लेकिन कई दिनों से माँ के बर्ताव में ही बदलाव आ गया था। एक दिन माँ नहाने के बाद सिर्फ ब्रा और चड्डी में ही बाहर आ गई थी। मेरे सामने ही मैक्सी पहनी। उस वक्त, मेरा लंड टाईट हो गया था। उस बार तो मैंने बाथरूम में मुठ मार ली। उस दिन हमने रात का खाना एक साथ खाया। माँ बर्तन धोने चली गयी। मै जल्दी से रूम में आया , अपने कपड़े उतारे और मुठ मारने लगा। मैंने सोचा था कि, माँ के बर्तन धोने से पहले ही मुठ मार के कपड़े पहन लूँगा। लेकिन माँ तो बहुत जल्दी आ गयी। मुझे नंगा लेट कर मुठ मारते देख कर बोली- क्या कर रहे हो तुम?

मै बहुत डर गया। मैंने चद्दर अपने ऊपर ओढ़ ली और कहा- सॉरी माँ!

माँ भी बेड पर आ गई उसने चादर हटाई और मेरा लंड अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी। 5 मिनट बाद मै झड़ गया। माँ ने सारा पानी अपने मैक्सी से साफ़ किया और सोते समय बोली-

आज से कभी भी सेक्स की फीलिंग आये, तो मुझे बताना। मै तुम्हारी इच्छा पूरी करुँगी।

मैंने भी हाँ कर दी और सो गया।
दूसरे दिन सुबह, माँ फिर पिछले दिन की तरह ब्रा और चड्डी में आयी, तो मैंने डरते-डरते उनसे कहा कि-

मैंने कभी किसी औरत को नंगी नहीं देखा। मैं नंगी औरत को देखना चाहता हूँ।

माँ ने इधर-उधर देखा और अपने सारे कपडे उतार दिए और कहा की- अब देख लो।

मैंने आगे बढ़ते हुए कहा की – हाथ लगा के देखना है।

माँ ने हाँ में सर हिलाया। मै आगे बढ़ा और माँ के बूब्स को छूने लगा। फिर पेट पर हाथ फिराया। फिर मैं माँ की चूत को हाथ से सहलाने लगा। माँ ने आँखे बंद कर ली थीं। मै उनके पीछे गया और उनके कुल्हे को दबाया। माँ ने मुझे बीच में ही रोक दिया और कहा- देख लिया न! अब बस करो।

मैंने बोला – हाँ

फिर मैंने उनसे कहा कि- मेरा खड़ा हो गया है, कुछ करो ना।

माँ ने मुझे बेड पर बिठाया और मेरी पैंट नीचे कर दी ओर मेरा लंड हाथ से हिलाने लगी।

तो मैंने कहा- मुह में लेलो ना! माँ।

माँ नीचे बैठ गयी और मेरा लंड चूसने लगी। 5-6 मिनट में, मै झड़ गया। माँ खड़ी होने लगी तो मै भी खड़ा हुआ और बोला की -अब जाते समय एक किस तो दो।

और मै माँ के होठों को चूसने लगा। बीच-बीच में मै उनके बूब्स और चूत को मसल रहा था। थोड़ी देर बाद हम अलग हुये। माँ काम करने चली गयी और मै बाहर घूमने चला गया। मैंने आते समय एक ब्लू फिल्म की डीवीडी ले ली। उस रात को खाना खाने के बाद मैंने फिर से सारे कपड़े उतार दिए और ब्लू फिल्म लगा दी। कुछ देर में माँ भी सारे काम निपटा कर रुम में आयी। मुझे नंगा होकर ब्लू फिल्म देखते हुए देखकर वो मुझ पर गुस्सा हुई, तो मैंने उनसे कहा की

– सिर्फ आज देखने दो।

माँ ने हां कर दी और बेड पर बैठकर मेरे साथ फिल्म देखने लगी। मैंने उनसे कहा की –

-मैं नंगा हु तो आप भी नंगी हो जाओ।

माँ ने भी सारे कपड़े उतार दिए। फिर मैंने माँ को किस किया और माँ को मेरा लंड मुह में लेने को कहा। माँ भी झट से मेरा लंड अपने मुहँ मे लेकर चूसने लगी। मै उनका सर जोर से मेरे लंड पे दबा रहा था। 5-6 मिनट बाद मै झड़ गया और माँ ने सारा पानी पी डाला। अब मै माँ को आगे से गोद में बिठाकर फिल्म देख रहा था। मैंने पीछे से उनके बूब्स दबाने शुरू कर दिए। माँ के मुह से आह्ह्ह्ह निकल रही थी। थोड़ी देर बाद मैं उनकी चूत में उंगली डालने लगा। उनकी चूत बहुत टाईट थी, तो मैंने उंगली माँ के मुह में डाली और उनकी थूक उंगली में लगाकर उनकी उंगली से चुदाई करने लगा।

मै बोला -माँ! मैं आपकी चूत चाट सकता हूँ?

माँ बोली- हाँ! तुम्हे जो करना है करो बेटे।

अब मैंने आगे बढ़ कर उनकी जांघों के बीच में मुह डाला और उनकी चूत चाटने लगा। 8-10 मिनट में माँ भी झड़ गयी। मैंने भी उनका सारा पानी पी लिया। फिर माँ को गले लगाकर उनको किस करने लगा। माँ भी जोर जोर से मेरे होंठ चूस रही थी। थोड़ी देर बाद हम थक गये तो एक दुसरे को गले लगाकर फिल्म देखने लगे।

तभी माँ ने पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड तो है न बेटा?

मैंने कहा – नहीं है माँ। क्यों?

माँ – तूने इससे पहले कभी सेक्स किया है?

मैं – नहीं! पहली बार कर रहा हूँ।

माँ – हम्म्म।।।ठीक है।

मैं- माँ! तुमने पहली बार सेक्स कब किया था?

मा –17 साल की उम्र में ही मैंने सेक्स किया था।

मैं – किसके साथ? शादी से पहले?

माँ- मुझे मेरे पिता जी ने ही पहली बार चोदा!!

मैं- लेकिन कैसे?

माँ – उन्होंने ने दारू के नशे में मुझे माँ समझकर चोदा और मैं भी पिता जी से डरती थी तो चुप-चाप सहन कर लिया।

मैं- मेरे पिता जी भी अच्छा सेक्स करते थे न?

माँ- हाँ।

मैं- तो पिता जी की मौत के बाद कण्ट्रोल कैसे किया?

माँ- कण्ट्रोल ही तो नहीं होता था। तेरे पिता जी के दोस्त ही आकर मुझे चोदते थे। लेकिन अब वो भी चले गए।

मैं – तो मुझे भी सेक्स करना सिखाओ न!

माँ – लेकिन पहले तुझे जो आता है वो कर।

माँ के ये बोलते ही मै माँ के ऊपर चढ़ गया। किस करने लगा। बीच-बीच में मै उनके बूब्स दबा रहा था और चूत में भी उंगली डाल रहा था। मेरा भी लंड अब खड़ा हो गया। मैनें माँ को लिटाया और पूछा- आगे क्या करूँ?

माँ ने टांगे फैलाकर मेरे कंधो पर रखा और मेरे लंड को हाथ से पकडकर चूत के ऊपर रखा। और बोली –अब जोर लगाकर अन्दर डालो।

मैंने जोर लगाया लेकिन लंड फिसलकर बाहर आ गया। मैंने तीन-चार बार प्रयास किया लेकिन मुझे नहीं आया। फिर माँ बोली – तुम नीचे लेटो मै ऊपर आती हूँ।

फिर माँ मेरे लंड के ऊपर बैठ गयी और जोर से धक्का दिया। मुझे बहुत दर्द हुआ। मेरे मुह से आह निकलने लगी। माँ ने मुझे किस लिया और उसी  पोजीशन में नीचे से चूत हिलाने लगी। थोड़ी देर बाद हम दोनों बैठ गये और मै  उनकी चूत में लंड डालकर हिलाने लगा। ऊपर मै उनको किस कर रहा था और बूब्स चूस रहा था और नीचे हम दोनों धक्के लगा रहे थे। 20 मिनट के बाद, मै माँ की चूत में ही झड़ गया।
माँ ने कहा कि- अरे बेटे ये क्या किया? अन्दर क्यों डाला?

मैंने पूछा- इससे क्या होता है?

माँ बोली- इससे मै फिरसे माँ बनूँगी।

मैंने कहा – तो होने दो। मेरा ही बच्चा होगा। उसे भी हम जन्म देंगे और बड़ा करेंगे।

उस वक्त तो माँ ने नहीं कहा। लेकिन 7-8 दिन में माँ मान गयी। बच्चे को जन्म देने के लिए तैयार हो गयी। लेकिन उसके बाद हम वो घर छोड़कर दूसरे घर में चले गये और वहाँ मेरी माँ, मेरी बीवी बनकर रहती है। और हमको बेटी हुई। अब वो 5 साल की है।

यहाँ रोहित की कहानी खत्म हो गयी। अब वो माँ-बेटे हमारे यहाँ रहते है। उसकी असलियत सिर्फ उसे, मुझे और उसकी माँ को मालूम है। मैंने भी उसकी माँ को उसके सामने और उसके साथ कई बार चोदा है। लेकिन वो कहानी बादमे लिखूंगा।
दोस्तों मुझे मेल कीजिये प्लीज!

[email protected]

8 Replies to “माँ को फिर से माँ बनाया”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *