मां और उसकी बेटियों को चोदा भाग – 1

अब हम दोनों अंजली के कमरे में आ गए. वहां वो लेटी हुई थी. तभी मैंने पूजा को अंजली के सामने झुकाया और लंड उसकी चूत पर रखा दिया. अंजली यह सब देखकर हैरान हो गई. मैंने पूजा की चूत में एक झटका मारा, जिससे वो चीखने लगी. अब तक मेरा 4″ मोटा और 8″ लम्बा लंड उसकी चूत में सिर्फ दो इंच ही गया था और यह उसकी पहली चुदाई थी. उसकी चूत में लन्ड काफी टाइट जा रहा था…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम मोनू है और मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और मेरी यह कहानी दिल्ली की है. दिनेश और मैं दोस्त थे. मेरे उस दोस्त के पापा पंजाब में काम करते थे और दिनेश भी जॉब करता था और घर पर उसकी बहनें रहती थी. एक दिन दिनेश ने मुझे फोन किया और कहा कि घर जाकर मेरी बहन से बात करा दे. मैं उसके घर गया. वहां पहुंच कर मैंने उसकी बहन को फोन दे दिया. उसने पूजा से बात की और फिर मैं वापस घर जाने लगा.

तब पूजा ने कहा मैं चाय बना रही हूं, पीकर ही जाना. मैं सोफे पर बैठ गया. मेरी आँख में उसकी गांड, उसकी चूत और उसके बूब्स का नजारा चल रहा था. तभी पूजा चाय लेकर आ गई. पूजा हाल ही में नहा कर निकली थी. पूजा नहाने के बाद बहुत हॉट लग रही थी. मैं उसे देख रहा था. उसे देखते हुए मेरा लंड खड़ा हो गया था और उसकी नजर मेरे लंड पर थी. तभी मैं जाने लगा तो पूजा ने कहा – कल भी आ जाना. मैं घर पर अकेले बैठे – बैठे बोर हो जाती हूं.

फिर पूजा ने जाते वक्त कहा – आज तुमने गलती से मुझे नहाते हुए देख लिया है. कल फिर देखने आ जाना.

मैं उसकी बात समझ गया और उसे किस कर लिया और चला गया. अगले दिन जब मैं उसके घर पर गया तो गेट खुला था और सामने पिंक ड्रेस पहने हुए वह दूसरी तरफ मुंह करके खड़ी थी. उसने देखने के लिए अपना मुंह पीछे घुमाया तो मैंने शरारती मूड में आकर उसके बूब्स दबा कर कहा – आज क्या दिखाने वाली थी.

वो चीख पड़ी. तब मैंने देखा कि वो पूजा की छोटी बहन अंजली थी. यह देख कर मैं घबरा गया. उसकी यह आवाज सुन कर पूजा वहां आ गई. मैं कुछ कहता उससे पहले ही अंजली उससे बोली – पूजा, तुम रोज ये सब करती हो. आने दो माँ को मैं सब बताऊंगी.

यह सुन कर पूजा घबरा गई और बोली – ऐसा कुछ भी नहीं है पूजा, और फिर वह माफी मांगने लगी. लेकिन अंजली नहीं मानी. अब पूजा की गांड फटने लगी और अंजली अन्दर कमरे में चली गई. फिर मैं अपने घर जाने लगा तो पूजा ने कहा – मजे नहीं करना क्या?

मैं कुछ समझा नहीं तभी पूजा ने मुझे किस करना चालू कर दिया. मैं घबरा रहा था लेकिन फिर मैं भी साथ देने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा. इसी बीच मैं उसके बूब्स को भी चूसने लगा. वो सिसक रही थी और “हमम आहह” कर रही थी. करीब 5 मिनट बाद मैं उसकी चूत चाटने लगा.

उसकी चूत से पानी निकल रहा था और धीरे – धीरे वो गर्म हो रही थी. उधर अंजली अपने कमरे में ही थी और इधर पूजा ने मेरे कपड़े उतार दिए. अब मैंने भी उसके कपड़े उतार दिए और फिर उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया और मैं उसके मुंह की चुदाई करने लगा और तेज – तेज उसके चूचे दबाने लगा. अब उसके सिसकने की आवाज तेज हो गई.

तब पूजा ने कहा – अन्दर कमरे में चलते हैं. अंदर तुम मेरी अंजली के सामने जबरदस्त झटके के साथ चुदाई करना.

अब हम दोनों अंजली के कमरे में आ गए. वहां वो लेटी हुई थी. तभी मैंने पूजा को अंजली के सामने झुकाया और लंड उसकी चूत पर रखा दिया. अंजली यह सब देखकर हैरान हो गई. मैंने पूजा की चूत में एक झटका मारा, जिससे वो चीखने लगी. अब तक मेरा 4″ मोटा और 8″ लम्बा लंड उसकी चूत में सिर्फ दो इंच ही गया था और यह उसकी पहली चुदाई थी. उसकी चूत में लन्ड काफी टाइट जा रहा था.

फिर मैंने एक और झटका मारा लंड अब चार इंच अन्दर चला गया और उसके चीखने की आवाज बढ़ गई. अंजली ये देख कर बाहर जाने लगी तो पूजा ने मेरा लंड अपनी चूत से निकाल लिया और अंजली को पकड़ लिया. उधर तब तक मैंने गेट को बन्द कर दिया. अंजली ने शोर मचाने की कोशिश की तो पूजा ने उसके मुंह में अपनी पैंटी ठूंस दिया और उसके हाथ बांध दिए.

फिर मैं अंजली की चूत में उंगली डाल कर उसे चस्का दिला रहा था. थोड़ी देर बाद वो थक कर ढीली हो गई. फिर मैंने उसके कपड़े उतार दिए और उसके मुंह में लंड डाल दिया और झटके मारते हुए उसकी चूत में उंगली डाल कर उसे गर्म कर दिया. अब मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया, इससे अंजली छटपटाने लगी. पूजा ने उसे कस कर पकड़ लिया और बोली – बहन की लौंडी माँ को बताएगी, चोद मोनू इसको तो और इसकी चूत की सील तोड़ दे.

मैंने उसकी चूत में एक झटका मारा, जिससे उसकी चीख निकल पड़ी और वो बोली – नहीं दीदी, अब मैं नहीं बताऊंगी माँ से.

पूजा ने मुझसे कहा – तू चोद इस रंडी को रुक मत.

मैंने फिर झटका मारा और मेरा लंड 4 इंच अन्दर चला गया. वो चीखने लगी, “नहीं दीदी मत करो आह हमम आई ऊह.” उसकी चूत पूजा से टाईट थी क्योंकि वो उससे कम उम्र की थी और यह उसकी पहली चुदाई थी.

फिर मैंने उसके बूब्स पकड़े और बूब्स पकड़ कर उसकी चूत में एक जबरदस्त झटका मारा. मेरा लंड 8 इंच अन्दर चला गया. फिर मैंने एक और झटका मारा और पूरा 9 इंच का लंड डाल दिया. अब उसकी चूत से खून निकल रहा था. उधर पूजा ये देख कर बहुत जोश में थी और अंजली चीख रही थी और कह रही थी, “आहह प्लीज दीदी, आहह मुझे माफ़ कर दो.” लेकिन पूजा कुछ नहीं बोली. मुझसे अंजली का दर्द और उसकी चूत से निकलता खून नहीं देखा जा रहा था तो मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाल लिया.

इस कहानी का अगला भाग – मां और उसकी बेटियों को चोदा भाग – 2

मेरी यह कहानी आप को किसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *