मां और उसकी बेटियों को चोदा भाग – 2

उसकी तेज चीख सुन कर पूजा ने घबरा कर कहा – लंड बाहर निकालो. तब मैंने देखा कि अंजली इस झटके के बाद बेहोश हो गई थी. लेकिन पूजा की बात का तो मुझ पर जैसे कोई फर्क ही नहीं पड़ा. मैंने लंड बाहर निकाल कर जबरदस्त झटके के साथ अन्दर किया. वो चीख कर उठ गई. उसे होश आ गया. फिर पूजा ने उसे पानी पिलाया लेकिन मैं अपनी चुदाई नहीं रोक रहा था…

मां और उसकी बेटियों को चोदा भाग – 1

अभी तक अपने पढ़ा कि मेरा दोस्त और उसके पापा घर से बाहर जॉब करते हैं. एक दिन मेरे दोस्त ने मुझे फ़ोन करके उसकी बहन से बात कराने को कहा. मैंने उसकी बात करा दी और इसी दौरान हमारे बीच कल के लिए सहमति बन गई. अगले दिन गलती से मैंने पूजा की जगह उसकी बहन को पकड़ लिया तो उसने मम्मी से बताने की धमकी दे दी. फिर मैं पूजा के साथ उसकी बहन के कमरे में जाकर उसकी चूत में ज़बरदस्ती लन्ड पेल दिया. अब आगे –

जैसे ही मैंने लन्ड बाहर निकाला वैसे ही पूजा बोली – मोनू भोसड़ी के रुक मत, बस चोदता रह.

यह सुन कर मैंने कहा – तो ले फिर, तेरी बहन की चूत को चोद कर मैं उसे जन्नत दिखाता हूं.

फिर मैं जबरदस्त झटके मारते हुए उसे चोदना शुरू कर दिया. मेरे तेज झटकों की वजह ने उसके चीखने की आवाज को इतना तेज कर दिया कि पूरा रूम गूंजने लगा. करीब 15 मिनट नॉन स्टॉप चुदाई के बाद पूजा बोली – बस अब रुक जा, मारेगा क्या इसे?

मैं नहीं रूका और पूजा से कहा – सुन भोसडी वाली, चुदाई करने दे इसकी. मुझे इसकी चूत का भोसड़ा बनाना है.

फिर मैंने 15 और चोदा. इस 30 मिनट में उसकी चूत से इतना खून निकला कि मेरा पूरा लंड लाल हो गया और फिर मैं उसके मुंह में लंड डाल कर झड़ गया.

अब बारी पूजा की थी. मैंने अंजली की चूत पर पूजा का मुंह रखा और उससे कहा कि किसाफ कर चाट – चाट कर इसे. पूजा अंजली की चूत चाटने लगी. फिर मैंने पूजा की गांड को थोड़ा और ऊपर उठाया और पीछे से उसकी चूत में लंड डाल दिया. मेरा लंड 4 इंच तक चला गया क्योंकि मैं पहले बस चार इंच तक ही अन्दर कर पाया था और फिर उसने अंजली की चुदाई चालू करवा दी थी.

अब मैंने पूजा की चूत में एक झटका मारा जिससे उसकी चीख निकल पड़ी. दर्द के मारे वो सिसकने लगी थी. अब फिर मैंने झटके तेज कर दिये और चुदाई करने के साथ – साथ गाली देकर उसे उत्तेजित कर रहा था. मैं कह रहा था, “तेरी बहन अंजली की चुदाई से ज्यादा मैं तुझे चोदूंगा मादरचोद.”

पूजा चीखती हुई बोली – आह आह तू चुदाई कर भोसडी के, रुक मत आज दिखा अपना दम.

फिर मैंने चुदाई तेज कर दी और जबरदस्त झटके मारने लगा. उधर अंजली लेट कर आराम कर रही थी. फिर वो उठी लेकिन उसके हाथ बंधे थे. उसने हाथ खोलने की कोशिश की लेकिन वह ऐसा नहीं कर सकी. पूजा “आह आह और तेज और तेज” करती रही.

करीब 30 मिनट की चूत चुदाई के बाद मैंने पूजा के पेट के ऊपर अपना वीर्य निकाल दिया. पूजा इस चुदाई से खुश थी. फिर पूजा ने कहा कि मेज पर वियाग्रा की गोली रखी है, उसे खा कर अब अंजली की गांड ठुकाई कर और गांड फाड़ डाल साली की. उसकी यह बात सुन कर अंजली घबरा गई.

अब मैं गोली खा कर आया और बिना देरी किए अंजली को घुमा कर उसकी गांड ऊपर कर दी और फिर लंड को उसकी गांड पर टिकाया और एक झटका मारा. लेकिन उसकी गांड चूत से ज्यादा टाईट थी और अब यह गोली असर ही था कि दो बार चुदाई करने के बाद भी अभी मैं उसे और चोदना चाहता था.

फिर मैंने उसकी गांड पर थूक लगाया और ज़बरदस्ती लंड अन्दर कर दिया. तेज दर्द के कारण वो चीख कर आगे हो गई. इससे मेरा लंड बाहर निकल गया. लेकिन पूजा ने उसे पकड़ लिया. अब चूंकि मेरा लंड बाहर निकल गया था इसलिए मुझे गुस्सा आ गया. इस बार मैंने बिना थूक लगाए ही लंड उसकी गांड में डाल दिया. इस बार फिर से अंजली चीख पड़ी. मैंने उससे कहा – रंडी अभी क्यों चीख रही है? अभी तो सिर्फ दो इंच ही गया है.

उसने कोई जवाब नहीं दिया और मैंने फिर जोर से एक झटका मारा और मेरा आधा लन्ड उसकी गांड़ के अंदर जा चुका था. उसकी चीख लगातार निकल रही थी. फिर मैंने उसकी गांड थोड़ी ऊपर की और एक तेज झटका मारा. इस बार वो इतनी तेज चीख पड़ी, जैसे कि उसकी गांड ही फट गई हो.

उसकी तेज चीख सुन कर पूजा ने घबरा कर कहा – लंड बाहर निकालो. तब मैंने देखा कि अंजली इस झटके के बाद बेहोश हो गई थी. लेकिन पूजा की बात का तो मुझ पर जैसे कोई फर्क ही नहीं पड़ा. मैंने लंड बाहर निकाल कर जबरदस्त झटके के साथ अन्दर किया. वो चीख कर उठ गई. उसे होश आ गया. फिर पूजा ने उसे पानी पिलाया लेकिन मैं अपनी चुदाई नहीं रोक रहा था.

तभी अंजली ने चीख कर कहा – आह दीदी, अब मुझे छोड़ दो.

तो पूजा ने कहा – मोनू, तुम अब मेरी गांड मारो.

लेकिन मुझे तो अंजली की चीख सुन कर मजा आ रहा था. इसलिए मैंने चुदाई जारी रखी. अंजली रोती रही और मैं उसकी चुदाई करता रहा. करीब 25 मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया और फिर मैं अपना लंड बाहर निकाल कर आराम करने लगा.

अब मैंने अंजली से अपना लंड चुसा कर साफ़ करवाया. फिर पूजा ने अंजली के हाथ खोल दिए और मैंने अपना लंड उसके मुंह से निकाल लिया. अब पूजा ने कहा – भोसडी के, अब मेरी गांड की चुदाई चालू कर.

लेकिन मेरा लंड ढीला पड़ा था. फिर मैंने एक और गोली खा ली क्योंकि मेरा मन अभी नहीं भरा था और पूजा भी चुदना चाहती थी. गोली खाने के बाद अब मेरा लंड पूजा चूसने लगी थी और मैं उसके बूब्स दबाने लगा और काटने लगा. वो चीख रही थी और बोल रही थी, “काटो मत.”

तभी अचानक अंजली बोली – मोनू, जबदस्ती चुदाई कर भोसड़ी वाली रंडी की.

उसके मुंह से यह यह सुन कर मुझे बहुत अच्छा लगा. तभी अंजली उसकी चूत चाटने लगी और फिर उसने उसकी चूत चाट कर उसे गर्म कर दिया. फिर मैंने अपना लंड पूजा की गांड पर रखा और झटका मारा. अभी मेरा लंड थोड़ा सा ही अन्दर गया था और वो “आहह आहह हमम” करते हुए बोली – पहले लन्ड और गांड़ को थोड़ा गीला तो कर ले.

लेकिन अंजली ने कहा – इस बहन की लौंडी को ऐसे ही लन्ड अंदर डाल कर झटके से चोद.

मैंने ऐसे ही झटका दे दिया जिससे वो रोने लगी. फिर मैंने अंजली को अपने सामने खड़ा किया और उसकी गांड में उंगली डाल दी. उसकी गांड की जबरदस्त चुदाई के बाद बहुत खून निकल रहा था. तो मैंने उससे कहा – अंजली, अब तुम आराम करो.

लेकिन अंजली ने कहा – मुझे पूजा की चुदाई देखनी है.

फिर मैंने पूजा की चुदाई चालू कर दी. वो चीखने लगी और मैं तेज – तेज झटके मार – मार कर पूरा लंड अन्दर बाहर कर रहा था. अब उसकी भी गांड से खून निकलने लगा. अंजली खून देख कर खुश हुई और बोली – आज इसकी गांड फाड़ दे मोनू.

मैं उसकी नॉन स्टॉप चुदाई कर रहा था. तभी पूजा बोली – आहह आहह चोद तू आज, तूफानी चुदाई कर फटने दे गांड मेरी.

मैंने कहा – हां ले भोसडी वाली.

अब उसकी गांड से खून निकलने की वजह से मेरी स्पीड तेज हो गई थी और मैंने चुदाई चालू रही और फिर थोड़ी देर बाद मैं उसकी गांड में ही चुदाई करते हुए झड़ गया.

अब मैंने चुदाई रोक दी. पूजा अधमरी हालत में पड़ी थी और अंजली और पूजा की गांड और चूत से खून निकल रहा था और सूजन भी थी. अब मैंने कपड़े पहन लिये और घर जाने लगा क्योंकि उनकी माँ आने वाली थी. तो पूजा ने कहा – रुको, फ्रेश होकर मैं चाय बना लाती हूं.

अब तक कि चुदाई से मैं भी थक गया था तो रूक गया. अंजली बाथरूम से फ्रेश होकर आई और फिर हम बैठ कर बात कर रहे थे और पूजा चाय बना रही थी. अंजली की चूत और गांड दर्द कर रही थी. वो बातचीत करते हुए अपनी चूत और गांड पर दवाई लगाने लगी.

इस कहानी का अगला भाग – मां और उसकी बेटियों की चोदा भाग – 3

मेरी यह कहानी आप को किसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *