मकान मालिक का गांडू बेटा

फिर मैंने कुछ नहीं कहा और चुपचाप लंड चुसाने लगा. कुछ देर बाद फिर वो मेरे पूरे बदन को चाटने लगा. अब अब मेरी गांड को भी अपनी जीभ से चाटने लगा. फिर उसने अपना पैंट उतारा और कहा कि क्रीम लगा कर चोद दो मुझे. अब बस इंतजार नहीं होता है…

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम नेहा है और मैं बहुत सेक्सी लड़की हूँ. मेरी ये कहानी मेरी न होकर मेरे भाई की है, जो मुझे एक दिन चोदने के बाद बताई थी.

मेरा भाई दिल्ली में पढ़ता है. वो नोएडा के एक पीजी (एक तरह का हॉस्टल) में रहता है. उसका लंड अभी कुछ दिन पहले जब मैंने नापा था तो 9 इंच का था. अब आगे की कहानी मेरे भाई की जुबानी-

हेल्लो दोस्तों, ऊपर मेरे बहन ने सब बता दिया है. अब मैं सीधे कहानी पर आता हूँ. मैं पीजी में रहता हूँ. वहां मेरे साथ दो बन्दे और रहते हैं. वो दोनों जॉब करते हैं. वे दोनों सुबह 9 बजे चले जाते हैं और मैं 11 बजे जाता हूँ. मेरे पीजी में एलसीडी टीवी भी है.

एक दिन मेरे रूम मेट के जाने के बाद मैं पेनड्राइव लगा कर कुछ गाने सुन रहा था और नहाने की तयारी कर रहा था. मैं गीजर गर्म होने का वेट कर रहा था. तभी मेरे रूम पर सफाई वाला आया. वो नेपाली है. फिट वो सफाई करने लगा और साथ ही साथ बात भी करने लगा. बात के दौरान वो मुझसे बीएफ लगाने को कहने लगा तो मैंने बीएफ लगा दिया.

फिर हम दोनों बीएफ देखने लगे. तभी मेरे पीजी के मालिक का लड़का अ गया. उसको देख कर वो हड़बड़ा गया और रूम से चला गया. फिर मैंने टीवी बंद कर दी और उससे कहा, “और कैसे हो सर जी?” तो उसने कहा, “सब ठीक है, बस रेंट के लिए आये हैं. और बतावो क्या चल रहा है?” तो मैंने कहा, “बस सब ठीक ही है.” फिर मैंने अलमारी से पैसे निकाल के दे दिया.

अब वो इधर – उधर की बात करने लगा. फिर मैंने उससे कहा कि आप बैठो मैं नहा के आता हूँ. उसने कहा कि रुको अभी नहा लेना, अभी तो दस ही बज रहे हैं और आपको तो 11 बजे जाना है. इतना कहकर फिर उसने टीवी चालू कर दी और प्ले कर दिया. अब वो कहने लगा कि ब्लू मूवी नहीं देखते हो? तो मैंने कहा, “कभी – कभी देख लेता हूँ. इस पर उसने कहा कि है तुम्हारे पास? तो मैंने कहा कि हां है.

फिर उसने लगाने को कहा. मैंने पोर्न मूवी प्ले कर दी. अब हम देखने लगे और उसे देखते हुए मैं जोश में आ गया. मेरा लन्ड खड़ा हो गया था. फिर मैंने कहा कि अब आप देखो, मैं नहा के आता हूँ. इस पर उसने कहा, “इतने जल्दी गर्म हो गये?” मैंने कहा, “नहीं, ऐसा कुछ नहीं है. मैंने सोचा नहा लूं तो फिर टेंसन दूर हो जाएगी.”

फिर उसने कहा कि आप जाओ मैं बैठा हूँ. अब मैं नहाने चला गया. नहाकर जब मैं निकला तो बस चड्डी में था और मेरा बदन पानी से गीला हो रखा था. मेरा लंड खड़ा था. यह देख कर वो कहने लगा, बड़े सेक्सी लग रहे हो! तो मैंने मजाक में कहा, “नियत तो सही है.”

यह सुनते ही वो मेरे करीब आ गया और फिर बोला कि वही तो सही नहीं है. मैं चौंकते हुए बोला ‘क्या?’ लेकिन तब तक उसने चड्ढी के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ लिया और सहलाने लगा.

मैं चौंक गया और मैंने कहा कि ये क्या कर रहे हो? तो उसने कहा कि बस सहला रहा हूँ. मैंने कहा कि मैं लड़कों को नहीं चोदता. तो उसने कहा कि तो क्या हुआ, वैसे भी लड़की की गांड नहीं लेते हो ना! इस पर मैंने कहा कि वो अलग बात है. वो लड़की होती है. मैं अपनी बात पूरी कर पाता उससे पहले ही उसने मेरी चड्डी में से लंड पकड़ कर निकाल लिया और सहलाने, चूसने लगा.

फिर मैंने कुछ नहीं कहा और चुपचाप लंड चुसाने लगा. कुछ देर बाद फिर वो मेरे पूरे बदन को चाटने लगा. अब अब मेरी गांड को भी अपनी जीभ से चाटने लगा. फिर उसने अपना पैंट उतारा और कहा कि क्रीम लगा कर चोद दो मुझे. अब बस इंतजार नहीं होता है.

ये लाइन सुन कर मुझे अपनी बहन की याद आ गई. फिर मैंने कहा कि नहीं मैं नहीं चोदूंगा. तो वो रिक्वेस्ट करने लगा और कहने लगा, “यार प्लीज़ चोद दो न मुझे. चाहे तो पैसे ले लो.” तो मैंने कहा, “नहीं यार, मैं लड़को की नहीं चोदता. लड़की होती तो कोई और बात है.”

फिर उसने कहा, “तुम्हें लड़की चाहिए न, मैं तुम्हें लड़की भी चोदवाऊंगा.” तो मैंने कहा कि कहां है लड़की. वो बोला, “है मेरे पास.” मैंने कहा, “मैं नहीं मानता.” फिर उसने तुरन्त लड़की को स्पीकर पर रख कर कॉल किया. तब जाके मुझे तसल्ली हुई.

फिर मैंने कहा कि बुर के लिए तो मैं सौ गांड चोद दूं. तो उसने कहा सौ नहीं बस एक ही चोदनी है अभी. फिर मैंने कहा कि चल अब मेरे स्टाइल में चुदने को तैयार हो जा.

फिर मैंने उसकी टीशर्ट उतार दी और उसे किस करने लगा. मैं उसके बदन को चूमने लगा. फिर मैं उसकी गांड को सहलाने लगा तो वो बोला, “बस करो, अब बर्दाश्त के बाहर हो रहा है, अब मुझे चोद दो.” फिर मैंने थोड़ा सा तेल अपने लंड पर और थोड़ा उसकी गांड़ में लगाया और हल्का सा टिका दिया.

फिर मैंने उसकी चूची पकड़ने की कोशिश की और एक जोरदार शॉट मारा. मेरा आधा लन्ड उसके गांड में घुस गया और वो जोर से चिल्ला उठा. तो मैंने तुरन्त उसके मुंह पर हाथ रख दिया और उससे कहा, “क्या कर रहा है! कोई सुन लेगा.” तो उसने कहा, “सॉरी यार, तुम्हारा बहुत मोटा है, मैं बर्दाश नहीं कर पाया.”

थोड़ा रुक कर उसने पूछा कि तुम्हारा इतना मोटा कैसे हुआ? तो मैंने कहा कि ये मेरी बहन की वजह से हुआ है. यह सुनते ही उसने तुरन्त कहा, “अपने बहन को चोदा है क्या!” मैंने हां में जवाब दिया. फिर उसने कहा कि जो अभी फोन पर बात की थी उसने वो भी उसकी बहन ही थी. वो सेक्स की बहुत भूखी है.

ये बात सुन कर मैं खुश हो गया. मैंने सोचा कि चलो अब इसकी बहन अब चोदूंगा. तभी मैंने हल्का सा धक्का लगाया और पूरा लंड उसकी गंड में उतार कर लंड आगे – पीछे करने लगा.

एक – दो ही शॉर्ट में उसकी गांड ढीली लगने लगा. यह देख मैंने कहा कि जब डाला था तब तो सही से घुस भी नहीं रहा था. अभी इतना जल्दी से इतना ढीला हो गया. ऐसा लग रहा है जैसे कई सालों से चुद रहा है.

इस पर उसने कहा कि लड़कों की गांड जब चोदोगे, तब पहली वाली फिलिंग आयेगी. फिर मैंने उसकी एक टांग उठा कर अपने कन्धों पर रख ली और चोदने लगा. मैं 3-4 मिनट तक उसे इसी पोजीयन में चोदता रहा और फिर मैंने उसका चहरा आगे की तरफ कर दिया. अब मैंने पांव जमीन पर करके बेड पर बैठ गया और उसे अपने लंड पर बिठा दिया. फिर वो ऊपर – नीचे करने लगा. इस तरह मैं उसे 5-6 मिनट तक चोदता रहा.

तभी मैंने कहा कि मैं झड़ने वाला हूँ तो उसने कहा कि अंदर ही ड़ाल दो. मैंने कहा कि मेरा ये मतलब नहीं था. तू अब घोड़ी बन जा. यह सुनते ही वो घोड़ी बन गया. फिर मैंने उसे चोदने की स्पीड काफी तेज कर दी. पूरा रूम थपकियों की आवाज से गूंजने लगा.

तभी में झड़ गया और फिर लंड निकाल कर उसके मुंह में रख दिया. जिसे वह चूसने लगा और बोला, “मैंने आज तक इस तरह की चुदाई नहीं की, बहुत मजा आया.” वो करीब 4-5 मिनट तक मेरा लन्ड चूसता रहा. जिससे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. अब मैंने कहा कि चल बाथरूम में चलते हैं. वहाँ जाकर फिर मैंने शॉवर चालू किया और उसकी गांड में लंड ड़ाल के चोदता रहा.

दूसरी बार चल रहा था. दूसरी बार की कैपसिटी बढ़ जाती है. 17-18 मिनट हो गये थे और अब मैं थक गया था तो मैंने उससे कहा कि वचल अब घोड़ी बन जा मैं थक गया हूँ.

फिर उसे घोड़ी बनाकर 4-5 मिनट तक चोदता रहा और जब झड़ने वाला था तो लंड निकाल के उसके मुंह में रख दिया और पूरी स्पीड में हिलाने लगा. थोड़ी ही देर में मैं उसके मुंह में झड़ गया.

इसके बाद फिर मैंने नहाया फिर कपड़े पहन कर जूते पहनने लगा. तभी वो झुककर मेरे फीते बांधने लगा. मैंने मना किया तो उसने कहा इतना तो मैं कर ही सकता हूँ. बांधने के बा वो खड़ा हुआ और फिर मैंने एक लंबी सी फ्रेंच किस ली और कॉलेज चला गया.

आपको मेरे कहनी कैसी लगी? ये आप मेरी बहन की मेल आईडी पर मेल करके बता सकते हैं. उसकी बहन को मैंने कैसे चोदा वो आपके मेल आने के बाद लिखूंगा. मेरी बहन की मेल आईडी – [email protected]