मकान मालकिन की बेटी को गर्लफ्रेंड बनाकर धोखा दिया

अब उसने बोला कि ठीक है, कर लेना पर अभी नहीं. मैं रात को कमरे में आ जाउंगी. अब मैं खुश हो गया और रात का इंतजार करने लगा. जब रात हुई तो करीब 12 बजे वो मेरे रूम में आई. हम दोनों बिस्तर पर बैठ गये और एक – दूसरे को देखने लगे. कमरे की लाइट बन्द होने की वजह से हमें ज्यादा कुछ दिखाई नहीं दे रहा था…

हेलो दोस्तों! मेरा नाम करन है और अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली कहानी है और यह एक बिल्कुल सच्ची कहानी है.
बात 2 साल पुरानी है जब मैं कॉलेज में दाखिल हुआ था. कॉलेज मेरे घर से बहुत दूर था इसलिए मुझे रहने के लिए कोई कमरा चाहिए था.

तब मेरे एक दोस्त ने मुझे अपने घर के पास एक कमरा बताया. वह खुद के रहने के लिए बनाया गया एक छोटा मकान था. मैंने उस कमरे के लिए हां बोल दिया. उस मकान में मकान मालिक अपने परिवार सहित रहता था. उसका परिवार छोटा ही था और उसके परिवार में कुल चार लोग थे.

जब मैं उस घर के अपने कमरे में गया तो पीछे से एक लड़की ने बोला – कमरा कैसा लगा?

तो मैंने बोल दिया – बहुत अच्छा है.

दोस्तों वो लड़की बहुत सुंदर थी. मैं तो उसे देखता ही रह गया. फिर मुझसे इधर – उधर की बातें करके वो चली गई.
एक – दो दिन बाद मुझे पता चला कि उसका नाम माही है. दोस्तों अब मैं सारा दिन उसी के बारे में सोचता रहता था. थोड़े दिनों में हमारी नज़दीकी बढ़ी और हम एक – दूसरे से नोर्मल बातें करने लगे. उसकी मम्मी मॉडर्न ख्यालों की थी तो हमारे बात करने से उसे कोई एतराज नहीं होता था.

एक दिन मैंने उसे अपने कमरे में बुलाया और उससे बोला कि मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ. तो उसने बोला – क्या?

तो मैंने उसे “आई लव यू” बोल दिया. जिस पर उसने मुझसे कहा कि मैं प्यार नहीं कर सकती क्योंकि मैं इन चक्करों में नहीं पड़ना चाहती हूँ. और फिर इतना कह कर वो वहां से चली गई.

फिर मैंने कुछ दिनों तक उससे बात नहीं की. पर वो मेरे से बात करने की बहुत कोशिश करती थी. आखिर एक दिन उसने मुझे मैसेज “आई लव यू” लिख कर भेजा तो अब मेरी खुशी का तो ठिकाना ही नहीं रहा. फिर धीरे – धीरे हम प्यार की बातें करने लगे.

एक दिन जब वो मेरे कमरे में आई तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपनी तरफ खींचा और उसे किस करने लगा तो उसने मना कर दिया और बोलने लगी कि मैं ये सब नहीं कर सकती. मुझे अच्छा नहीं लगता है. अब फिर मैं उससे नाराज हो गया और वो वहां से चली गयी. जब दोबारा वो मेरे से बात करने आई तो पहले तो मैंने बात ही नहीं की. फिर मैंने कहा – जब मैं अपने प्यार को किस भी नहीं कर सकता तो हम दोनों के बीच कैसा प्यार?

अब उसने बोला कि ठीक है, कर लेना पर अभी नहीं. मैं रात को कमरे में आ जाउंगी. अब मैं खुश हो गया और रात का इंतजार करने लगा. जब रात हुई तो करीब 12 बजे वो मेरे रूम में आई. हम दोनों बिस्तर पर बैठ गये और एक – दूसरे को देखने लगे. कमरे की लाइट बन्द होने की वजह से हमें ज्यादा कुछ दिखाई नहीं दे रहा था.

फिर मैंने अपने होंठ को उसके होंठ पर रख दिया और उसे चूसने लगा. मैं पहली बार किसी लड़की के होंठों पर किस कर रहा था. मुझे बहुत ही मजा आया और अब मुझे कुछ होने लगा था. उधर वो भी धीरे – धीरे गर्म होने लगी थी. फिर मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और उसके पेट पर किस करने लगा और उसके शर्ट के बटन खोलने लगा तो उसने मना कर दिया, पर मैं नहीं माना और उसके सारे बटन खोल दिए. वह ब्रा में थी.

अब मैं उसके ब्रा को ऊपर करके उसके बूब्स को चूसने लगा. जिससे उसके निप्पल कड़े होने लगे और वो भी अब गर्म हो रही थी. अब उसने मेरा सिर अपने बूब्स के ऊपर दबाना शुरू कर दिया और अपने नाखून मेरी पीठ पर गड़ा दिए. वो अब उत्तेजित हो रही थी तो मैंने सही मौका देख कर उसके नाड़े को खोलने की कोशिश करने लगा.

तभी शायद अंदर उसके घर में कोई उठ गया था. जिससे वो घबरा गई. पर चूँकि मेरे रूम में कोई आ नहीं सकता था इसलिए उसका डर कम हो गया. खैर एक मिनट बाद वो छुप कर वहां से चली गयी. सुबह वो मेरे से नजरें नहीं मिला पा रही थी. फिर मैंने उससे पूछा – आज तुम मेरी तरफ क्यों नहीं देख रही हो?

तो वो बोली – रात को मैं क्या कर जाने वाली थी! जो मैं कभी करना नहीं चाहती. मेरे इस कदम से मैं अपने मम्मी – पापा की नजरों में गिर जाती. फिर मैंने उसे समझाया और वादा किया कि आज के बाद मैं ऐसा नहीं करूँगा बस किस ही करूँगा तो वो मान गयी.

फिर मैंने उसे एक रात रूम में बुलाया तो वो आ गयी. मैं उसे बिस्तर पर लिटा कर किस करने लगा. तो वो भी मेरा साथ देने लगी. फिर मेरा मन कुछ करने का होने लगा तो मैंने धीरे से उसकी जांघ पर अपना हाथ रख दिया. जिससे वो कसमसा गयी और फिर मैं उसके कपड़ों के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा. उसने मेरे हाथ को अपने दोनों पैरों से भींच लिया.

मैं अब समझ गया था कि वो उत्तेजित हो गयी है. इसलिए फिर मैं उसका नाड़ा खोलने लगा. इस बार उसने मुझे मना नहीं किया. मैंने उसके पजामे को नीचे खिसका दिया. अब वह सिर्फ पैंटी में थी और अब मैंने उसकी पैंटी को भी निकाल दिया. जिससे उसने अपने हाथों से अपनी चूत को ढक लिया. फिर धीरे से मैंने उसके हाथों को हटा कर अपनी एक उंगली से उसकी चूत के दाने को सहलाने लगा.

मेरे ऐसा करने से वो आह आह आ आह् जैसी अजीब आवाजें निकालने लगी और फिर थोड़ी देर में ही झड़ गयी. उसकी चूत से बहुत सारा पानी निकला. जिससे मेरा पूरा हाथ गिला हो गया. मेरा भी बहुत बुरा हाल हो रहा था. अब मैंने भी अपने सारे कपड़े निकाल दिए और अब मेरा लंड चुदाई करने के लिए एक दम तैयार था.

अब मैंने अपना लंड माही की चूत पर रखा और धीरे से अंदर डालने लगा पर लंड अंदर नहीं जा रहा था. फिर मैंने दोबारा कोशिश की, तो इस बार थोड़ा सा अंदर चला गया पर उसे बहुत दर्द होने लगा तो उसने मुझसे लन्ड को बाहर निकालने के लिए बोला. पर मैंने नहीं निकाला और मैंने फिर से एक जोरदार झटका देकर अपना पूरा लंड अंदर डाल दिया.

उसे बहुत दर्द हुआ. अब वो अपने हाथों से मेरा लंड बाहर निकालने की कोशिश करने लगी तो मैंने उसके हाथों को पकड़ लिया. इसलिए वो ऐसा नहीं कर पाई. फिर मैं उसके होंठों को चूसने लगा और धीरे – धीरे उसके बूब्स दबाने लगा और उसके बूब्स पर जोर – जोर से किस करने लगा. अब उसे भी मज़ा आने लगा था और उसने मेरा सिर अपने बूब्स पर जोर से दबा दिया. वह आह आह आह ह सी सी आ आह जैसी मदहोश करने वाली आवाजें निकालने लगी थी.

शायद अब उसे चुदाई करने में मजा आने लग गया था इसलिए उसने अपने पैरों को थोड़ा खोल दिया तो मैंने अपना लंड बाहर निकालकर जोर से एक धक्का लगा दिया. जिससे उसकी धीरे से घुटी हुई सी आवाज निकल गयी. थोड़ी देर लंड को आगे – पीछे करने से अब वह चरम पर पहुंचने वाली थी. इसलिए उसने अपनी टांगों को भींच लिया और फिर उसकी चूत में से बहुत सारा पानी निकल गया.

अब मेरा लंड गीला हो गया था. जिससे लंड को अंदर – बाहर करने में कोई दिक्कत नहीं हो रही थी. अब मेरा भी होने वाला था. इसलिए मैं तेज – तेज धक्के लगाने लगा. जैसे ही मैं चरम पर पहुंचने लगा तो चरम के उस सुख में लंड को बाहर निकलना ही भूल गया और मैं उसके अंदर ही झड़ गया और कुछ देर तक ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा.

कुछ देर बाद जब दोनों नार्मल हुए तो उसने मुझे अपने ऊपर से उठाया और जाने लगी. उसे बहुत दर्द हो रहा था इसलिए वो चल नहीं पा रही थी फिर मैंने उसे बाहर तक उसके कमरे के पास छोड़ा और गुड नाईट बोल कर अपने रूम में आ गया. मैं बहुत खुश था पर सुबह ऐसा होगा कभी सोचा नहीं था.

सुबह होने पर माही मेरे से आँखें भी नहीं मिला रही थी. जब मैंने उससे बात की तो वो रोने लगी और कहने लगी कि तूने मेरे से वादा किया था कि तू ऐसा नहीं करेगा, पर तूने ऐसा करके मेरा विस्वास तोड़ दिया. अब मैं किसी को मुँह दिखने के लायक नहीं रही और अब मैं तुझे कभी माफ़ नहीं करूंगी.

फिर उसने मेरे से रिश्ता तोड़ दिया पर रात को हुई गलती के लिए मैंने उसे टेबलेट लाकर दी ताकि वो प्रेग्नेंट ना हो. पर उसने मुझे कभी माफ़ नहीं किया. उससे दूर होकर मैं दुखी रहने लगा. इसलिए कुछ दिन बाद मैं वहां से हमेशा के लिए चला गया पर आज भी मैं उसे बहुत प्यार करता हूँ.

तो दोस्तों ये मेरे प्यार की सच्ची कहानी है जिसे मैं कभी भूल नहीं सकता. आप मुझे ईमेल करके अपना मत जरूर दीजिये. मेरी ईमेल आईडी – [email protected]

“मकान मालकिन की बेटी को गर्लफ्रेंड बनाकर धोखा दिया” पर 2 का विचार

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *