मामी के मायके जाने पर मैंने उनकी बेटी को चोद दिया

हेलो दोस्तों, मेरा नाम हिमेश है. आज मैं एक बार फिर से आपके लिए अपनी नई कहानी लेकर आया हूँ. इससे पहले मैंने अपनी कहानी में बताया था कि कैसे मैंने अपनी मामी को ब्लू फ़िल्म दिखा कर चोदा और उनकी गांड भी मारी.

जैसा कि मैंने अपनी पिछली कहानी में बताया था कि मेरी मामी की 19 साल की एक लड़की है, जिसका नाम पूजा है. वो दिखने में बहुत ज्यादा सेक्सी है. उसकी उठी हुई गांड सबका लन्ड खड़ा कर देती है. उसका फिगर 30-24-32 का है और वो चोदने के लिए एक दम मस्त माल है.

अब मैं आपको ज्यादा बोर न करते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ. हुआ यूं कि एक दिन मेरी मामी के पापा की तबीयत खराब हो गई. मामी को उनकी देखभाल के लिए जाना था.

तब मामा ने मामी से कहा कि वो मुझे घर बुला लें और चली जाएं. मेरी छुट्टियां चल रही थीं तो सब लोग मां गए और मुझे भेज दिया गया.

मेरे पहुंचने के बाद मामी मामा के साथ अपने मायके चली गईं. अब घर में केवल चार लोग थे. पहला मैं, पूजा उसका 13 साल का भाई और मेरी नानी. दोपहर में हमने कहना खाया और सोने के लिए रूम में आ गए. मैं अपने रूम में अकेला था तो मोबाइल निकाल कर चुदाई के वीडियो देखने लगा.

तभी पूजा मेरे रूम में आई और मुझसे बोली, “भैया, कौन सी देख रहे हो?” तब मैंने कहा कि तेरे मतलब की मूवी नहीं है. इस पर वो बोली, “नहीं, मुझे भी देखनी है.” इस पर मैंने एक बार उसे फिर मना किया. लेकिन वो ज़िद करने लगी और मेरे हाथ से मोबाइल छीन लिया.

मोबाइल केन जो मूवी चल रही थी, उसमें एक कला आदमी 20 साल की लड़की की गांड मार रहा और वो लड़की खूब जोर – जोर से चिल्ला रही थी. उसे देख कर पूजा बोली, “हे राम, कितना लम्बा और मोटा है इसका!” उसके मुंह से यह सुन कर मैं बोला कि इसका क्या मोटा और लम्बा है? मेरी बात सुन कर उसके मुंह से निकल गया कि इसका लन्ड.

उसके मुंह से लन्ड शब्द सुन कर मैं बोला कि तुझे पता है कि ये लन्ड है? उसने हां कहा और फिर वहां से उठ कर चली गई. उसके जाने के बाद फिर मैं बाथरूम गया और उसके नाम की मुठ मारी.

उस दिन के बाद से वो मेरी तरफ मुस्कुरा के देखने लगी. उसका इस तरह का रिएक्शन देख कर मैंने सोचा कि शायद ये भी चुदना चाहती है क्यों न इस पर भी ट्राई करूं. क्योंकि मामी तो थीं नहीं इसलिए लन्ड भी चूत मांग रहा था.

अगली रात पूजा सो रही थी. दोस्तों, मैं आपको बता देना चाहता हूँ कि वो सोते समय ब्रा निकाल देती है और सिर्फ स्कर्ट और कुर्ती में सोती है. उस रात मैं उसके रूम में गया और पूजा के बराबर में लेट गया. चूंकि उसने स्कर्ट पहना था तो मैंने उसके स्कर्ट को ऊपर किया और अपना लन्ड निकाल कर उसकी गांड से सटा दिया और एक हाथ को उसकी चूची पर रख कर सोने का नाटक करने लगा.

उसकी चूचियां बहुत टाइट थीं. उन्हें हाथ में पकड़ के मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. फिर थोड़ी देर बाद मैं अपने लन्ड को धीरे – धीरे आगे – पीछे करने लगा. अब शायद वो जाग चुकी थी लेकिन सोने का नाटक कर रही थी.

फिर मैंने धीरे से उसकी ब्लैक कलर की पैंटी को उतार दिया और उसकी कुर्ती को हाथ से ऊपर कर दिया. इसके बाद मैंने उसको सीधा कर दिया और अपने होंठ को उसके रस भरे होंठों पर रख कर उसका रस पान करने लगा. इसके साथ ही मैं अपने हाथों से उसके बूब्स भी मसलने लगा. वो अब भी अपनी आंखें बन्द किए लेती थी

फिर मैंने उसके मुंह में अपनी जुबान डाल दी और चूसने लगा. करीब 10 मिनट तक मैं उसके होंठों को चूसता रहा और फिर अपने मुंह को उसकी चूचियों पर लगा दिया और बारी – बारी से उसके दूध को चूसने लगा.

पूजा अब धीरे – धीरे गर्म हो रही थी लेकिन वो अभी बHई अपनी आंख बंद किये हुए थी. क्या बताऊँ दोस्तों, उसकी चूचियां कितनी मज़ेदार थीं.

अब मैं थोड़ा और नीचे आ गया और उसकी कुंवारी चूत पर अपनी जुबान रख दी और चूसने लगा. उसकी चूत का टेस्ट बहुत मस्त था! मुझे मज़ा आ गया था. मैं उसकी जवानी का रस पान करता जा रहा था. फिर मैं उसकी चूत को अपनी जुबान से चोदने लगा और उसकी चूची को हाथ में लेकर मसलने लगा.

अब उसकी चूत पानी छोड़ने लगी थी और धीरे – धीरे वो भी अपनी कमर हिलाने लगी थी. फिर मैंने अपना लन्ड उसके होंठों पर रख दिया और उसने आंख बंद किये हुए ही उसको मुंह में ले लिया और जोर – जोर से चूसने लगी.

यह देख मैं बोला कि मेरी रंडी बहन अब उठ भी जाओ पर उसने अपनी आंखें नहीं खोली. वो अभी भी मेरा लन्ड जोर – जोर से चूस रही थी.

अब मैंने देर न करते हुए अपना लन्ड बाहर निकाला और धीरे से उसे उसकी चूत के अंदर घुसाने लगा. उसकी चूत पहले से ही गीली थी इसलिए मेरे लन्ड का टोपा उसकी चूत में चला गया. अब वो दर्द से थोड़ा कराहने लगी और मुझे पीछे धकेलने लगी.

तब मैंने उसके हाथों को पकड़ा और जोर का एक धक्का मारा. जिससे मेरा पूरा लन्ड उसकी कुंवारी चूत को फाड़ कर अंदर घुस चुका था. वो जोर से चिल्लाए न इसलिए मैंने पहले ही उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए थे.

वो तड़प उठी थी. उसको बहुत दर्द हो रहा था. अब मैंने थोड़ा वेट किया और एक हाथ से उसकी चूची को दबाने लगा. फिर कुछ देर बाद जब मुझे लगा कि मेरे लन्ड ने उसकी चूत में अपनी जगह बना ली है तो मैंने धीरे – धीरे अपनी कमर को हिलाना शुरू कर दिया.

थोड़ी देर बाद जब उसे भी मज़ा आने लगा तो वो अपनी कमर हिलाने लगी. अब मैंने जोर – ज़ोर से चोदना स्टारर कर दिया. तब वो पहली बार बोली, “चोद साले चोद, आज इस चूत को फाड़ दे और चोद मेरे भैया राजा चोद.”

उसकी यह आवाज सुन कर मैं बोला, “ले साली रंडी, आज तुझे चोद रहा हूँ, तेरी मां को भी चोद दिया हूँ. अब तुम दोनों मां – बेटी को किसी दिन एक साथ चोदूँगा.” इतना कह के फिर मैं और जोर से चोदने लगा.

क्या बताऊँ दोस्तों, उसको चोदने में कितना मज़ा आ रहा था. अब वो लगातार बड़बड़ा रही थी. वो कह रही थी कि चोद साले मादरचोद चोद, तूने मेरी मां को भी चोदा है न अब मुझे भी चोद. फिर मैंने उसे पेट के बल लिटा दिया और उसकी चूत मारने लगा. इस पोजीशन में करने पर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

अब मेरी निगाह उसकी गांड के गुलाबी छेद पर गई और उसे देख कर मेरे मन में उसकी गांड मारने का ख्याल आया. लेकिन अब मेरे आने वाला था तो मैंने अपने लन्ड को उसकी चूत से निकलना ठीक नहीं समझा. करीब 20 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद फिर मैंने अपना माल उसकी चूत में ही गिरा दिया और फिर उसके ऊपर ही लेट कर सो गया.

अपनी अगली स्टोरी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने उसे गांड मरवाने के लिए राजी किया? तब तक के लिए सभी भाभियों, मस्त जवान लड़कियों और आंटियों को मेरे लन्ड का प्रणाम!

आप लोगों को मेरी यह कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *