मामी ने मेरी सील तोड़ी

मेरी मामी की उम्र 30 साल है और वह दिखने में काफी सेक्सी हैं. एक बार मेरी मामी ने मेरे मोबाइल पर एक मैसेज भेजा. वो काफी अश्लील था. बाद में उस मैसेज के लिए उन्होंने मुझे सॉरी भी बोला. लेकिन इसी मैसेज की वजह से हमारे बीच सेक्स संबंध कायम हो सका. वो मुझसे चुद गईं या यूं कह लीजिए कि मेरे लन्ड पर बैठ कर उन्होंने मेरी सील तोड़ दी…

हाय दोस्तों, मेरा नाम लवली है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. मैं अन्तर्वासना का बहुत पुराना पाठक हूँ और यहाँ प्रकाशित होने वाली हर एक कहानी को मैं पढ़ता हूँ. आज आप सब के सामने मैं अपने जीवन की एक बहुत ही दिलचस्प कहानी पेश कर रहा हूँ, उम्मीद है पसंद आएगी.

यह कहानी मेरी दूर के रिश्ते की मामी की है जिसे आज भी मैं ढंग से चोदता हूँ. पर एक टाइम ऐसा था, जब उसने मुझे ढंग से चोदा था. इसे ऐसे भी कह सकते हैं कि उसने मेरी सील तोड़ी थी.

मेरी मामी का नाम स्वीटी है. उनकी उम्र 30 साल है और वह एक मस्त औरत हैं. वह जब भी मेक-अप करके बाहर निकलती हैं तो पूरी गली के लड़के उनके नाम की मुठ मारते हैं.

अब आप लोगों को ज्यादा बोर न करते हुए सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ. यह कहानी आज से 3 साल पहले की है. उस समय मेरी उम्र 21 साल की थी. वह मेरी मामी थीं तो मेरा अक्सर उनके घर आना – जाना लगा रहता था.

दोस्तों, इस घटना से पहले मैंने कभी चूत नहीं मारी थी पर मुठ रोज मारता था. स्वीटी को लेकर मेरे दिमाग में कभी कोई गलत भावना नहीं थी. मैं मामी के रूप में उनका सम्मान करता था.

एक दिन मैं अपने ऑफिस में बैठा था कि तभी अचानक मेरे मोबईल पर स्वीटी मामी का एक मैसेज आया. मैंने मैसेज खोल कर देखा तो दंग रह गया. वो मैसेज काफी अश्लील था. मैं मैसेज देख ही रहा था कि तभी स्वीटी का फोन आ गया.

मैंने फोन उठाया. उधर से स्वीटी ने कहा – सॉरी लवली! तुम्हारे फोन पर गलती से एक मैसेज चला गया प्लीज उसे बिना पढ़े ही डिलीट कर देना. इस पर मैंने कहा – लेकिन मैंने तो उसे पढ़ लिया. इतना कह कर मैं हंसने लगा.

फिर उस दिन से धीरे – धीरे हमारे बीच फोन पर बातें शुरू हो गईं. बात तो वैसे पहले भी होती थी लेकिन तब कम होती थी और बात करने का तरीका भी अलग था. पहले हमारे बीच नॉर्मल और हाल – चाल वाली बातें होती थीं लेकिन अब हम हर तरह की बातें करने लगे थे.

कुछ ही दिनों में हम चुदाई की बातें भी करने लगे. फिर एक दिन हमने प्लान बनाया और उससे मिलने के लिए मैं उनके घर गया. उनके घर जा कर देखा तो वो ऐसे सजी हुई थीं कि जैसे किसी पार्टी में जाने के लिए तैयार बैठीं हों.

काली साड़ी मे वो किसी कयामत से कम नहीं लग रही थी. उन्हें ऐसे देख कर मैंने पूछा – मामी, कहीं जा रही हो क्या? इस पर उन्होंने कहा – नहीं तो… ये सब तो मैंने तुमसे मिलने के लिए ही किया है.

यह सुन कर मुझे बहुत अच्छा लगा. तब मुझे समझ आया कि कोई तो मेरे बारे में इतना सोचता है. फिर मैंने उसे गले से लगा लिया और उसके होंठों को चूमने लगा. अब वो भी मेरा साथ देने लगीं.

थोड़ी देर तक उनके होंठ चूमने के बाद मुझे एहसास हुआ कि अब वो कुछ जंगली सी होती जा रही हैं. अब वो मेरे होंठों को कस कर चूस रही थीं. फिर मैं कुछ कर पाता, इससे पहले ही उसने मुझे बेड पर धक्का दे दिया और मेरे पेट पर बैठ गई.

अब वो किसी भूखी शेरनी की तरह मुझ पर टूट पड़ी. कभी वो मेरी गर्दन पर चूमती तो कभी मेरे होंठों पर किस करती. उनके ऐसा करने पर मुझे बहुत बुरा लग रहा था. हालांकि, फिर जब उसने मुझसे मेरी टी – शर्ट उतारने को कहा तो मैंने उतार दी.

इसके बाद उसने मेरी छाती को कस के चूमा और मौका मिलने पर मेरी चूचियों पर काट भी लिया. उसके ऐसा करने पर मुझे दर्द हो रहा था लेकिन साथ में मजा भी आ रहा था.

थोड़ी देर मेरी छाती को रौंदने के बाद अब मेरे लंड की बारी थी. फिर उसने मेरी पैंट उतार दी. अब मैं केवल अंडर वियर में था. उसमें से मेरा लन्ड साफ दिख रहा था. मेरा लम्बा लन्ड देख कर उससे कंट्रोल नहीं हुआ और फिर उसने मेरा अंडर वियर उतार फेंका. अब मेरा लन्ड उसके सामने था. उसे देख कर स्वीटी के मुंह में पानी आ गया.

फिर तुरंत ही उसने अपनी पैंटी उतारी और अपनी साड़ी ऊपर करके सीधा मेरे खड़े लंड पर बैठ गई. उसके ऐसा करने से मेरी चीख निकल गई. मुझे दर्द हुआ. ऐसा इसलिए क्योंकि मैं पहली बार चुदाई कर रहा था और शायद उनके इस तरह बैठने से मेरी सील भी टूट गई थी. लेकिन उसे इससे कोई फर्क नहीं पड़ा. अब वो पागलों की तरह मेरे लंड पर उछल रही थी.

करीब 10 मिनट तक मेरी हालात बिगाड़ने के बाद हम दोनों एक साथ झड़ गए. झड़ते टाइम वो बहुत तेज़ चीखी और मेरे ऊपर बेजान सी पड़ गई. अब मैंने थोड़ी चैन की सांस ली. मेरे लंड मे टीस सी मच रही थी पर मैं उसे देख भी नहीं सकता था. मैं भी चुप-चाप लेटा रहा.

थोड़ी देर बाद हम दोनों की आँख लग गई. करीब आधे घंटे बाद वो मुझसे बोली – सॉरी लवली. मैंने पूछा – सॉरी किस लिए मामी? फिर उसने जो कहा, उसे सुन कर मेरे होश उड़ गए. उसने कहा कि उस दिन तुम्हारे पास मैंने जानबूझ कर वो मैसेज भेजा था.

यह सुन कर मैं उन्हें आश्चर्य से देखने लगा. मुझे ऐसे देखते देख स्वीटी बोली – मैं क्या करती, तुम्हारे मामा ने पिछले एक महीने से मुझे हाथ भी नहीं लगाया है. घर से बाहर उनका किसी और से चक्कर चल रहा है और वो उसी में पड़े रहते हैं. इसलिए वो मेरे पास नहीं आते थे और मैं प्यासी रह जाती थी.

उन्होंने आगे कहा कि फिर एक दिन तुम हमारे घर आए तो मेरे दिमाग में तुम से अपनी प्यास बुझाने का आइडिया आया और फिर मैंने प्लांड तरीके से ये सब किया. उनकी यह बात सुन कर मैंने कहा – कोई बात नहीं मामी, मुझे कोई दिक्कत नहीं. बस दुख मुझे इस बात का है कि तुमने मुझे कुछ नहीं करने दिया सब कुछ तुमने ही किया.

इस पर उसने हंसते हुए कहा – मैं क्या करती, मैं बहुत प्यासी थी. मुझे माफ कर दो और अब तुम्हें जो भी करना है वो करो मैं बिल्कुल भी मना नहीं करूंगी.

दोस्तों, उसके बाद मैंने उसे कैसे – कैसे चोदा, इसके बारे में मैं आगे लिखता रहूंगा. बाद में मैंने उसकी एक सहेली को भी चोदा, जिसने स्वीटी वो मैसेज भेजा था और इस तरह का प्लान बनाने की सलाह दी. आप लोगों को मेरी यह कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *