मेरे सेक्स जीवन की शुरुआत

अब भईया ने फिर से वीडियो लगा दी. वीडियो देख कर भईया का लन्ड चूसने में अब मुझे भी मज़ा आने लगा था और मैं पूरी तन्मयता के साथ उनका लन्ड चूसने लगा. जैसे ही मैं भईया का पूरा लंड अपने मुँह में डालता तो भईया की सिसकारी निकल जाती. फिर धीरे – धीरे करके भईया ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और फिर मेरे कपड़े भी एक – एक करके उतारने लगे. अब मेरे शरीर पर सिर्फ एक अंडरवियर बचा हुआ था…

सबसे पहले तो अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार! दोस्तों, मेरा नाम विरेन है और मैं अन्तर्वासना की कई कहानियां पढ़ चुका हूँ. मैं अठारह साल का एक गोरे शरीर का लड़का हूँ. मेरा कद 5 फुट 8 इंच है और मैं दिखने में अच्छा लगता हूँ. मेरा सब कुछ अच्छा है पर मैं थोड़ा सा पतला हूँ लेकिन मेरी गांड काफी बड़ी अौर मोटी है.

जिसकी वजह से स्कूल में भी बहुत से लड़के मुझे तंग करते रहते थे और मेरे साथ छेड़ छाड़ भी किया करते थे. वैसे तो मैं कई बार अपनी गांड मरवा चुका हूँ और वर्तमान में एक चुदककड़ गांडू बन गया हूँ. दोस्तों, मेरी गांड का छेद भी काफी खुल चुका है. परंतु क्योंकि यह मेरी पहली कहानी है तो इसलिए मैं अाज अापको बताने जा रहा हूँ कि मेरे सेक्स जीवन की शुरुआत कैसे हुई. इस कहानी में मुझसे अगर कोई गलती हो जाए तो माफ कर दीजिएगा.

दोस्तों, मेरे सेक्स जीवन की शुरुआत कुछ ही साल पहले हुई थी. उस समय हमारे घर में दो बेडरूम थे. जिनमें से एक में मेरे मम्मी और पापा सोते थे अौर दूसरे में अकेला मैं सोता था. उस दिन स्कूल से जब मैं घर अाया तो पापा ने मुझे बताया कि मेरी बुआ के बेटे यानी मेरे समर भईया की हमारे ही शहर में एक बैंक में नौकरी लग गई है. इसलिए वो अाज ही अपना सारा समान लेकर यहाँ अा जाएंगे अौर यहीं पर हमारे साथ ही रहेंगे.

करीब चार बजे घर की घंटी बजी तो मैंनै दरवाजा खोला, तब मैंने देखा कि भईया सामने ही खड़े थे. दोस्तों, मैं आपको थोड़ा समर भईया के बारे में बता दूं. समर भईया दिखने में बहुत ही हैैंडसम, हटटे् – कटटे् और लंबे कद काठी वाले जवान थे. फिर मैं भईया से गले मिला और हम अंदर आ गए. भईया का सामान पापा ने मेरे कमरे में ही रखवा दिया.

इसके बाद खाना खाकर हम मेरे कमरे में अा गए अौर बेड पर बैठ कर काफी समय तक बातें ही करते रहे. फिर भईया ने मुझसे पूछा कि क्या तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड है या नहीं. इस पर मैं जरा सा शरमा गया. तो भईया ने कहा – तुम तो बिल्कुल लड़कियों की तरह शरमा रहे हो.

फिर मैंने भईया से कहा – अाप तो इतने हैंडसम हो अापकी भी तो कोई गर्ल फ्रेंड होगी?

तो भईया ने कहा – नहीं, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

फिर हम दोनों वहीं बेड पर लेट गए. कुछ समय के बाद मैंने देखा कि भईया अपने फोन पर कुछ देख रहे हैं और उनका हाथ उनके लंड पर है. तभी मैंने भईया से पूछा – भईया, आप क्या देख रहे हो?

तो भईया ने जो मुझे दिखाया वह मेरे लिए एक दम से अकल्पनीय था. मैंने देखा कि एक लड़की एक काले मोटे अादमी का नाग जैसा लंबा लंड मुँह में लेकर चूस रही है. अभी मैं थोड़ी ही देर तक देखा होगा कि भईया ने कहा – और देखोगे?

तो मैंने कहा – हाँ भईया, और देखूंगा. बड़ा अच्छा लग रहा है.

फिर भईया ने कहा – ठीक है देखो, लेकिन किसी को कुछ भी बताना मत.

अब हम दोनों साथ – साथ वो हॉट वीडियो देखने लगे थे. उस वीडियो की वजह से अब हम दोनों धीरे – धीरे गरम होने लगे थे. तभी अचानक से भईया ने वीडियो बंद कर दिया. मैंने उनसे पूछा – क्या हुआ भईया?

तो उन्होंने कहा – उनकी एक शर्त है. अगर अब मैं उसे लड़की की तरह उनका लंड चूसूँगा तभी वो मुझे वीडियो दिखाएँगे नहीं रो नहीं दिखाएंगे.

पहले तो मुझे थोड़ा अजीब सा लगा, मगर फिर मैं मान गया. अब मैं भईया के लंड को अपने मुँह में डाल कर चूसने लगा. तभी भईया ने कहा कि लन्ड के टोपे को लाॅलीपाॅप की तरह चूसो. अब मैं वैसे ही क़रने लगा. फिर पूरा रंडी की तरह उनके लंड पर जीभ फेरने लगा.

अब भईया ने फिर से वीडियो लगा दी. वीडियो देख कर भईया का लन्ड चूसने में अब मुझे भी मज़ा आने लगा था और मैं पूरी तन्मयता के साथ उनका लन्ड चूसने लगा. जैसे ही मैं भईया का पूरा लंड अपने मुँह में डालता तो भईया की सिसकारी निकल जाती. फिर धीरे – धीरे करके भईया ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और फिर मेरे कपड़े भी एक – एक करके उतारने लगे. अब मेरे शरीर पर सिर्फ एक अंडरवियर बचा हुआ था.

फिर उन्होंने मुझे उनके ऊपर आने को कहा. भईया के निर्देशानुसार जब मैं भईया के ऊपर लेट गया तो वो मेरे होंठ चूसने लगे और साथ ही साथ मेरे गाल पर और मेरी गर्दन पर भी किस करने लगे. अब मेरी उत्तेजना काफी बढ़ गई थी तो मैं भी भईया का साथ देने लगा.

जिससे भईया मेरी गांड पर अपने हाथ फेरने लगे और फिर मेरी गांड में उंगली करने लगे. जिससे मुझे दर्द होने लगा था और मैं कराहने लगा तो भईया बोले – डार्लिंग, तेरी गांड तो बहुत टाइट है. तुमने कभी चुदाई नहीं करवाई है क्या?

तो मैंने कहा – नहीं भईया. आज पहली बार है.

यह सुन कर भईया बोले – अब तो मैं आ गया हूँ न. अब मैं तेरी गांड का छेद एक दम खुला कर दूँगा. अच्छा ये बता तूने कभी किसी का लंड तो चूसा ही होगा?

मैंने फिर से वही कहा – नहीं भईया. ये भी मेरा पहली बार है.

भईया बोले – अच्छा ये बता, आज मजा तो आया है न?

तो मैंने शरमाते हुए कहा – जी.

फिर भईया बोले – अब से रोज चूसोगे?

तो मैंने कहा – हाँ.

जिसे सुनकर वो एक दम खुश हो गए. अब तक मैंने उनके टोपे को चूस – चूस कर एक दम लाल कर दिया था. फिर मैं उनका लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. मानो मुझे उनके लंड से प्यार हो गया हो. मैं पागलों की तरह उनका लंड चूस रहा था. फिर उन्होंने मुझसे कहा कि मैं अपनी गांड उनकी तरफ कर लूँ. मैंने तुरन्त ही वैसा किया.

अब भईया ने मेरी गांड पर तेल लगाया और मेरी गांड में उंगली करने लगे. तेल के कारण मुझे इतना दर्द नहीं हो रहा था. भईया लगातार मेरी गांड में उंगली अंदर – बाहर कर रहे थे, जिससे मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था. मैं तो भईया का लंड चूसने में बिल्कुल मस्त था. कुछ समय बाद भईया ने अपना सारा माल मेरे मुँह में छोड़ दिया. भईया के इस माल को मैं स्वाद से पी गया. फिर हमारे बीच हर रोज यह सब होने लगा. भईया के साथ मेरी चुदाई की कहानी मैं अगली बार आप लोगों के लिए लिखूँगा.

मेरी यह कहानी अगर आपको पसंद आई हो तो मुझे मेल करके जरूर बताइएगा. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *