मुझसे चुदने के लिए भाभी ने महीनों बनाया प्लान

मेरी यह कहानी मेरे और मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी के चुदाई है. भाभी कई दिनों से मुझसे चुदाई करवाना चाहती थीं. इसलिए इसके लिए उन्होंने महीनों तक प्लान बनाया और आखिर उसमें सफल हुईं. पढ़ें इस कहानी को और जाने भाभी के मस्त प्लान के बारे में…

हाय फ्रेंड्स, मैं इस साइट पर अभी नया हूँ. हालांकि, कम समय में ही यहां पर मैंने कई कहानियां पढ़ ली हैं और उन्हीं की प्रेरणा से अपनी यह कहानी लिख रहा हूँ. इसमें अगर मुझसे कोई गलती हो जाए तो माफ करना.

मेरा नाम सोनू है और मैं गुजरात के सोमनाथ का रहने वाला हूँ. मैं गवर्नमेंट जॉब करता हूँ और मेरी उम्र 28 साल है. मैं सिंगल बॉडी वाला युवक हूँ और मेरे लन्ड का साइज 8 इंच है. दोस्तों, मैं अब तक 6-7 लड़कियों और औरतों को चोद चुका हूँ. आज मैं जो कहानी आप लोगों से साझा करने जा रहा हूँ वह इसी में से एक की है.

बात आज से 1 साल पहले की है. मेरे पड़ोस में एक कपल रहता था. दोनों की उम्र मेरी जितनी ही थी. उसके हसबैंड को मैं भैया कह के बुलाता था और महिला को भाभी बोलता था.

भैया पूरे दिन घर पर नहीं होते थे. कभी – कभी वे 3-4 दिन के लिए शहर से बाहर भी चले जाते थे. एक बार भैया बाहर जाने वाले तो मुझे बुलाकर बोले कि तुम्हारी भाभी को कोई जरूरत पड़े तो उनकी हेल्प कर देना, मैं जरा बाहर जा रहा हूँ. फिर इतना कह कर वो चले गए.

दूसरे दिन भाभी कपड़े धो रही थीं, तभी पता नहीं कैसे गिर गईं. फिर उन्हें मुझे कॉल करके बुलाया. मैंने जाकर देखा तो वो अपने बेड पर थीं. मैंने पूछा तो उन्होंने बताया कि पैर में मोच आ गई है. फिर उन्होंने मुझसे पैर पर मलहम लगाने को कहा. मैं मान गया.

दोस्तों, अब तक मेरे मन में उनके बारे में कभी कोई गलत विचार नहीं आया था. लेकिन आज मुझे भाभी का कुछ अलग ही अंदाज दिख रहा था. खैर, फिर मैंने मलहम लगाना शुरू किया. तभी उन्होंने अपनी साड़ी ऊपर की और कहा कि थोड़ा ऊपर भी लगाओ. ऐसे करते – करते उन्होंने अपनी जांघ तक साड़ी खींच ली.

मैं भी अब मूड में आने लगा था. जब मुझे मौका मिल रहा था तो मैं भला हाथ आये मौके को क्यों जाने देता. फिर, मलहम लगाते हुए ही मैंने भाभी से उनकी सेक्स लाइफ के बारे में पूछ लिया. इस पर उन्होंने सहज भाव से कहा कि अच्छी चल रही है. लेकिन अब कुछ नया करने की सोच रही हूँ.

उनके इतना कहते ही मैं झट से बोल पड़ा कि क्या मैं कुछ हेल्प कर सकता हूँ? तो उन्होंने कहा कि किसी को बताना मत. मेरे हां कहने भर की देर थी कि फिर वो उठीं और मेरी बाहों में आ गईं. इसके बाद उठते हुए बोलीं – पहले सारे दरवाजे बन्द कर लूं फिर आकर तुझे टेस्ट करती हूँ. थोड़ी देर बाद वो आकर मेरी गोद में बैठ गईं.

अब मैंने उनके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया. इसके साथ ही मैंने अपने होंठ को उनके होंठों से लगा दिया. वो मस्ती से मेरे होंठ चूम रही थीं. फिर धीरे – धीरे पहले मैंने उनकी साड़ी और फिर ब्लाउज – पेटीकोट भी उनके बदन से हटा दिया. अब वो केवल ब्रा और पैंटी में थीं.

उसने भी मेरे कपड़े उतारने में देर नहीं की और मुझे जॉकी में ला दिया. जब उसने मेरी जॉकी को नीचे करके देखा तो वो थोड़ी डर गई. हालांकि, फिर वो जल्दी ही सम्भल गई और मेरे लौड़े को मुंह में ले लिया और चूसने लगी. लन्ड चुसाई में वो बहुत माहिर थी. फिर मैंने भी उसको पूरा नंगा कर दिया और 69 की पोजिशन में आ गया.

इसके बाद मैंने धीरे – धीरे उसकी चूत को चूसना शुरू किया. साथ में एक उंगली उसकी चूत को सहलाने भी लगा. धीरे – धीरे दो उंगली से चूत को पकड़ कर रगड़ने लगा. इसके साथ मैं चूत चुसाई भी कर रहा था.

मेरी चुसाई की वजह से वो सिहर सी गई थी और तड़पने लगी थी. उसके मुंह से तरह – तरह की आवाजें निकल रही थी. अब वो कहने लगी कि सोनू, अब जल्दी से डाल दो और फाड़ दो मेरी चूत को.

अब मैंने भी बिना देर किये जल्दी से अपना 8 इंच लम्बे लन्ड पर कंडोम चढ़ाया और फिर उसे उसकी चूत पर सेट किया. इसके बाद मैंने एक ही झटके में अपना पूरा लन्ड उसकी चूत में पेल दिया. मेरा एंड उसकी चूत के जड़ तक पहुंच गया था. वो भी काफी अनुभवी थी लेकिन मेरे झटके से थोड़ी सहम सी गई. हालांकि, जल्द ही उसने रिकवर कर लिया और जोश में आकर चुदने लगी.

करीब 10 मिनट बाद मैंने पोजिशन चेंज की और उसको अपने ऊपर कर लिया. अब वो मेरे लन्ड पर उछलने लगी. थोड़ी देर में वो झडने लगी. तब उसका चेहरा देखने लायक था.

थोड़ी देर बाद मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा तो वो तुरंत ही घोड़ी की पोजिशन में आ गई. फिर मैंने पीछे से अपना लन्ड उसकी चूत में डाल दिया और दनादन चुदाई करने लगा. इसी बीच वो फिर से झड़ गई.

अब मेरा भी होने वाला था. थोड़ी देर बाद मैंने अपना पानी निकाल दिया और निढाल हो कर उसके ऊपर ही लेट गया.

थोड़ी देर बाद वो उठी तो मैंने देखा कि उसका पैर बिल्कुल ठीक था. मैंने पूछा तो उसने बताया कि वो तो सब नाटक था, असल में वो मेरे साथ सेक्स करना चाहती थी इसी लिए उसने ये सब किया. उसने बताया कि मेरे साथ सेक्स करने के लिए वो पिछले कई महीने से प्लान कर रही थी.

यह सुन कर मैंने फिर से उसे बाहों में भर लिया और चूमने लगा. इससे वो फिर गर्म हो गई. इस बार मुझे उसकी गांड मारनी थी, इसीलिए मैंने उसे तेल लाने को कहा. वो झट से किचन गई और तेल ले कर आ गई.

इसके बाद मैंने उसे घोड़ी स्टाइल में आने को कहा. वो झट से घोड़ी बन गई. इसके बाद मैंने फिर से लन्ड पर कंडोम चढ़ाया और उसकी गांड के छेद पर तेल लगाने लगा. इसी बीच मैंने एक उंगली को उसकी गांड के अंदर डाल दिया और आगे – पीछे करने लगा. फिर मैं दो उंगली उसकी गांड में अंदर – बाहर करने लगा.

थोड़ी देर बाद उसे मज़ा आने लगा. तब मैंने अपना हथियार तैयार किया और उसकी गांड के छेद पर रख दिया. इसके बाद उसे अंदर करने की कोशिश करने लगा. पहले उसे थोड़ा दर्द हुआ लेकिन बाद में उसके सपोर्ट की वजह से मैंने धीरे – धीरे अपना पूरा लन्ड उसकी गांड में पेल दिया.

इसके बाद मैंने धीरे – धीरे अपनी स्पीड बढ़ाई. अब वो भी अपनी गांड उठा – उठा कर मज़ा ले रही थी. वो सिसकारियां भी ले रही थी. उसकी आवाज इतनी तेज थी कि मुझे डर लग रहा था कि कहीं कोई सुन न ले. ऐसे ही करीब 20 मिनट तक इस पोजिशन में उसकी गांड मारने के बाद मैंने पोजिशन चेंज की और मेरे लन्ड पर बैठा कर उसकी गांड मारने लगा.

दोस्तों, एक ही पोजिशन में चोदते रहने पर औरतों को मज़ा नहीं आता. इसीलिए मैं कई पोजिशन में चुदाई करता हूँ. थोड़ी देर तक इसी तरह चुदाई करने के बाद मैं एक बार फिर झड़ गया. इसके बाद मैंने लन्ड बाहर निकाला और वहीं पर सो गया.

उस दिन रात भर मैं उसके यहां ही रहा और उसको 4 बार ठोका. वो मेरे लन्ड की दीवानी हो चुकी है. अभी भी जब कभी हमें मौका मिलता है हम सेक्स करने से नहीं चूकते.

मेरी यह कहानी आप सब को कैसी लगी. मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *