पड़ोसन ने घर आकर चुदवाया

फिर मैं उसे जमीन पर लिटा दिया और उसकी चूत के ऊपर मेरा लंड रख दिया और जोर का एक धक्का लगाया. इससे मेरे लंड का सुपाड़ा अंदर चला गया. वो बोली, “धीरे से डाल न, मैं कहीं भाग के जाने वाली नहीं हूँ.”…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम राज है और मैं मुम्बई से हूँ. आज मैं आपको मेरे साथ हुए आप को मेरी सच्ची कहानी बताने जाता हूं.

मेरे पड़ोस में एक कपल रहता था. उनके एक लड़की भी थी. लड़की दो साल की थी और भाभी करीब 24 साल की थीं. भाभी का नाम दिव्या था और उनका फिगर बहुत मस्त था. पूरे मोहल्ले के लड़के उसे चोदने के सपने देखते थे.

मेरा और उनके घर का व्यवहार अच्छा था. वो मेरे घर रोज आती थी. एक दिन मेरे घर के सभी लोगों को दो दिन के लिए एक रिस्तेदार के लड़के की शादी में गांव जाना पड़ा. मेरी माँ उस भाभी को बोल के गई थी कि हम लोग दो दिन में आ जाएंगे तो तुम इसे दो दिन खाना ख़िला देना.

जब सब चले गए तो उस दिन मैं घर पर अकेला टीवी देख रहा था. तभी दिव्या भाभी मेरे लिए खाना लेकर आई और बोली, “जल्दी खाना खा लो, अभी गर्म है.” तो मैं बोला कि मूवी देख कर खा लूंगा. तो वो मेरा हाथ पकड़ के जबरदस्ती खाने को बोली.

जब उसने मेरे हाथ को पकड़ा तो मेरे बदन में एक आग सी लग गई. फिर मैं उनसे बोला, “आप ही खिला दीजिए तो मेरे ओर देख कर हँसने लगी और फिर चली गई.”

उनके जाने के बाद मैं उनके बारे में सोचने लगा और उसके नाम के मुठ मारने लगा. मैं घर पर अकेला था तो नंगा होकर लंड हिलाने लगा और दिव्या – दिव्या बोल रहा था. अचानक मैंने पीछे देखा तो दिव्या भाभी मेरे पीछे खड़ी थी. उन्हें देखवकर मैं डर गया और जल्दी – जल्दी टॉवेल लेकर अपने लंड को कवर किया तो वो बोली, “तुम ये क्या कर रहे थे?”

मैं डर के मारे कुछ बोल नहीं सका तो उसने मुझे कहा कि आने तो तुम्हारी मम्मी को मैं सब बताती हूँ. यह सुन कर मैं डर गया और डर के मारे उनसे सॉरी बोलने लगा. मैं बोला, “भाभी, मुझे माफ़ कर दो, आप इतनी खूबसूरत हो कि आपको देख कर मुझसे रहा ही नहीं गया. आप मेरी माँ को मत बोलना.”

यह सुन कर वो बोली, “मैं नहीं बोलूंगी पर तुम्हें मेरा एक काम करना पड़ेगा.” मैं उसे बोला, “ठीक है भाभी, तुम जो बोलोगी मैं वो करूँगा, मगर मेरी माँ को कुछ मत बोलना.” तब वो बोली, “चलो अच्छा अपना टॉवल हटाओ.” मेरी समझ में कुछ नहीं आया तो उसने खुद ही मेरा टॉवेल खींच लिया और मेरे लंड को देखने लगी.

तब मैं बोला, “भाभी, ये आप क्या कर रही हो?” तो उसने बैठ कर मेरा लंड अपने मुंह ले लिया और बोली, “तुम आज से मुझे रोज चोदोगे और किसी से ये बात नहीं बोलोगे.” मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि मैं सपना देख रहा हूँ कि सब सच हो रहा है.”

अब वो मेरे लंड को जोर – जोर से चूसने लगी. मुझे बड़ा मजा आ रहा था. फिर मैंने भी उसे ऊपर उठा के बाहों में ले लिया और उसके होंठ चुमने लगा और बोलने लगा, “दिव्या आई लव यू.”

फिर मैंने देर न करते हुए उसके सारे कपड़े निकाल दिए और उसे पूरी नंगी कर दिया. क्या बदन था उसका! मैं तो देखता ही रह गया. तो वो बोली, “ए सुन, सिर्फ देखेगा ही कि कुछ करेगा भी.”

फिर तो मैं उस पर टूट पड़ा और पागलों की तरह किस करने लगा और उसके गाल को चूमने लगा और उसकी गांड दबाने लगा.” करीब 15 मिनट तक ऐसा करने से वो एक दम गरम हो गई थी और मुझसे बोली, “अब देर क्यों करता है, तेरा लौड़ा अंदर ड़ाल दे.”

फिर मैं उसे जमीन पर लिटा दिया और उसकी चूत के ऊपर मेरा लंड रख दिया और जोर का एक धक्का लगाया. इससे मेरे लंड का सुपाड़ा अंदर चला गया. वो बोली, “धीरे से डाल न, मैं कहीं भाग के जाने वाली नहीं हूँ.”

फिर मैंने दूसरा धक्का लगाया तो मेरा आधा लंड अंदर चला गया तो वो बोली, “धीरे ड़ाल यार, तेरा लौड़ा मेरे मर्द से लंबा और मोटा है.” ये सुन कर मुझे और जोश आ गया. फिर मैंने जोर का एक और धक्का मारा. अब तो मेरा लंड अंदर घुस गया. जिससे वो जोर से चिल्लाई, “धीरे से कर, मेरी चूत फट जाएगी.”

तो मैं बोला, “फटने दे, बहुत दिन से तूने मेरे लौड़े को मुठ मरवाये हैं, आज तो मैं तेरी चूत फाड़ के ही रहूंगा.” फिर 15 मिनट की चुदाई के बाद वो दो बार झड़ गई. अब मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने उसे कहा कि पानी कहां निकालूँ? तो वो बोली, “मुझे पीना है, मेरे मुंह में ही छोड़ दो.”

फिर मैंने उसकी चूत से लंड निकाल लिया और उसके मुंह में ड़ाल दिया और उसके मुंह की चुदाई करने लगा. थोड़ी देर बाद उसके मुंह में ही मेरा पानी छूट गया. वो मेरा सारा पानी पी गई और लंड को भी चाट के एक दम साफ कर दिया. फिर वो कपड़े पहन कर चली गई.

फिर शाम को वो वापस आई और मुझे अपनी बाहों में भर लिया और किस करने लगी. अब वो कहने लगी कि जैसी तुमने आज मेरी चुदाई की है वैसी चुदाई तो आज तक मेरे पति ने भी नहीं की.” फिर मैंने उसे नंगा कर दिया और उसके बूब्स दबाने लगा.

करीब 10 मिनट तक बूब्स दबाने की वजह से वो एक दम गर्म हो गई. फिर हम 69 की पोजिशन में आ गए. अब मैं उसकी चूत को जोर – जोर से चाटने लगा और वो भी मेरा लंड जोर – जोर से चूसने लगी.

करीब 10 मिनट तक हम एक – दूसरे के लंड और चूत को चूसते रहे और फिर एक साथ ही झड़ गए. करीब 5 मिनट के बाद मेरा लन्ड फिर से टाइट होने लगा. फिर मैंने उसकी गांड मारने के लिए उसे उल्टा किया, लेकिन वो गांड मारने को न बोल रही थी. वो बोली कि इसमें दर्द होगा लेकिन मैंने जबरदस्ती उसे उल्टा कर दिया और बोला कि चिंता न करो मैं दर्द नहीं होने दूँगा.

फिर मैंने तेल की बोतल ली और तेल उसकी गांड पर लगा दिया. फिर मैंने मेरे लंड पर भी तेल लगाया. अब मैं धीरे – धीरे लंड उसकी गांड में डालने लगा. जैसे ही मेरे लंड का सुपाड़ा उसकी गांड के अंदर गया वो चिल्लाने लगी. वो बोलने लगी, “बाहर निकालो इसे, मैं मर जाऊंगी.”

लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और धीरे – धीरे पूरा लंड अंदर ड़ाल दिया. थोड़ी देर बाद उसे भी मज़ा आने लगा और फिर वो भी मजे से चुदने लगी. करीब 15 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया और मेरे साथ ही उसकी चूत ने भी पानी छोड़ दिया.

फिर अगले दिन वो अपनी एक सहेली को भी ले आई, लेकिन वो कहानी मैं आपको मेरी अगली स्टोरी में बताऊंगा. मेरी ये स्टोरी आप सबको कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताना. मेरी मेल आईडी –
[email protected]

2 Replies to “पड़ोसन ने घर आकर चुदवाया”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *