पति से मिला धोखा तो पत्नी मेरे नीचे आ गई

फेसबुक पर मुझे एक भाभी मिली. उसने लव मैरिज की थी लेकिन शादी के बाद उसका पति उसे धोखा देने लगा और ऑफिस की किसी लड़की को घर लाने लगा. इससे वह बहुत दुखी थी. धीरे – धीरे हमारी दोस्ती गहरी होती गई. शुरू में मैं ऐसा – वैसा कुछ नहीं चाहता था लेकिन फिर एक दिन ऐसा हुआ कि वह मेरे नीचे आकर मुझसे जम कर चुदी…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम राज है और मैं हरिद्वार के पास एक गांव का रहने वाला हूं. आज जो कहानी आप लोगों के सामने पेश करने जा रहा हूं, वो मेरी पहली और सच्ची कहानी है, इसमें अगर कोई गलती हो जाए तो माफ करना.

बात उन दिनों की है जब मैंने नए कॉलेज में एडमिशन लिया था. कॉलेज के बाकी दोस्तों की देखा देखी मैंने भी फेसबुक पर अपना एकाउंट बना लिया. इसके बाद मैं ऐसे ही लड़कियों की प्रोफाइल देख के फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने लगा.

इसी दौरान एक भाभी मेरी फ्रेंड बन गईं. उनका नाम रेखा था. कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आप लोगों को भाभी के बारे में थोड़ी – बहुत जानकारी दे देता हूं. उनका रंग थोड़ा सांवला था और बूब्स काफी बड़े – बड़े थे. और निप्पल्स हमेशा टाइट रहते थे.

फिर धीरे – धीरे फेसबुक पर हमारी बात होने लगी. मैं उनसे हर समय बात करना चाहता था लेकिन वो कम ही बात करती थीं. रेखा भाभी उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों की रहने वाली थीं. उन्होंने बिहार के एक लड़के से लव मैरिज की थी.

जैसा कि मैंने पहले ही बताया कि भाभी मुझसे कम ही बात करती थीं और मैं चाहते हुए भी उन पर बात करने के लिए ज्यादा दबाव नहीं देता था. मेरी इस खूबी से भाभी काफी प्रभावित हुई और इस तरह धीरे – धीरे अच्छे दोस्त बन गए.

ऐसे ही एक दिन बात करते समय भाभी ने मुझे बताया कि शादी के बाद उनका पति उन्हें धोखा देने लगा. उन्होंने बताया कि वह अपने ऑफिस की एक लड़की के साथ रिलेशनशिप में हैं और कभी – कभी उसे घर भी लाते हैं.

दोस्तों, मैं आप लोगों को अपने बारे में बताना भूल गया था. वह यह कि मैं काफी शर्मीले स्वभाव का लड़का हूं. फेसबुक पर तो लड़कियों से खूब बात कर लेता हूं लेकिन सामने किसी भी लड़की से खुल के बात नहीं कर पाता. और मैं इतना सेक्सी हूं कि किसी लड़की के कपड़ों के ऊपर से बूब्स भर देख लेने से मेरे लन्ड की नसें तन जाती हैं. मेरा लन्ड 7 इंच लम्बा और आगे से थोड़ा मुड़ा हुआ सा है. जो लड़कियों की चूत में घुसते ही थोड़ा और मुड़ जाता है.

अरे ये मैं कहां भटक गया था! धीरे – धीरे मेरी और रेखा की दोस्ती गहरी होती गई और हमने अपने मोबाइल नम्बर एक्सचेंज कर लिए. अब हम फ़ोन पर भी बात करने लगे थे. लेकिन मैंने कभी उसके साथ ऐसा कुछ नहीं, जिससे उसे बुरा लगे. एक बार जब रेखा के बहन की शादी होनी थी तो उसने मुझे शादी में शामिल होने का निमंत्रण दिया. जिसे मैंने स्वीकार कर लिया.

जल्द ही उसके बहन की शादी के डेट आ गई. तय समय पर मैं उसकी बहन की शादी में पहुंच गया. वहां वो अपने पति के साथ आई थी. वहां पहुंच कर मैंने उसे फ़ोन किया और बताया कि मैं आ गया हूं. तो वह मेरे पास आ गई. उसे देख के मैं तो पागल सा हो गया था.

उसने ऑरेंज कलर की साड़ी पहन रखी थी. जिसमें वह बहुत ही खूबसूरत लग रही थी. उसकी मस्त गांड पीछे की तरफ बाहर निकली हुई थी. खैर, उसने मुझसे हाथ मिलाया और फिर मैंने फ्लर्ट करते हुए कहा कि जान लोगी क्या? इस पर उसने कुछ नहीं कहा, बस एक स्माइल पास कर दिया. फिर उसकी बहन की शादी हो गई और मैं उसी दिन वापस घर आ गया.

अगले दिन जब हम बात कर रहे थे तो मैंने उससे कहा कि कल वो बहुत सेक्सी लग रही थी. यह सुन कर वह बहुत खुश हुई और मुझे थैंक्स बोला. यह देख मुझे यह विश्वास हो गया कि उसके मन में भी मेरे लिए कुछ है.

फिर मैंने एक प्लान बनाया और उसे घूमने चलने के लिए कहा. वो तैयार हो गई. प्लान के मुताबिक, हम लचिवाला घूमने गए. दोस्तों, वहां पर नदी है और बहुत से लोग वहां नहाने आते हैं. हम भी नहाने लगे. इस दौरान मैंने नदी के पानी का खूब फायदा उठाया और रेखा के बदन को यहां – वहां खूब टच किया. मौका मिलने पर मैंने उसके बूब्स और गांड पर भी हाथ मारा. अब शायद रेखा भी मेरे इरादे भांप गई थी.

दोस्तों, वो अपने कपड़े लेकर नहीं आई थी. नदी में नहाने की वजह से वो पूरी तरह भीग चुकी थी. ऐसे में हम वापस नहीं जा सकते थे. इसलिए फिर मैंने वहीं पास में डोईवाला में स्थित गेस्ट हाउस में एक रूम किराये पर ले लिया.

रेखा को इस रूप में देख कर मेरी वासना जाग गई थी. इसलिए कमरे में जाते ही मैंने सबसे पहले अंदर से कुंडी बंद की और फिर रेखा भाभी को दरवाजे से सटा कर अपनी बाहों में जकड़ लिया. यह देख वो बोलीं, “राज, ये क्या कर रहे हो? हम केवल दोस्त हैं और मेरी शादी हो चुकी है, मेरा पति भी है.”

उसकी यह बात सुन कर भी मैं रुका नहीं और उन्हें दबाए उनके गले पर किस करता रहा और चूसता रहा. वो अभी भी बोल रही थीं कि प्लीज राज छोड़ दो मुझे छोड़ दो, ये ठीक नहीं है. ये सब मत करो प्लीज. लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा बल्कि उसकी आंखों में देख कर आई लव यू बोला और साथ में नीचे हाथ ले जाकर उसकी नाज़ुक चूत को मसल दिया.

मेरे ऐसा करने से वह जोर से सिसकने लगी और मेरी पीठ में नाखून गड़ा दिया. इससे मैं और जोश में आ गया और उसे ले जाकर बिस्तर पर पटक दिया. इसके बाद मैंने उसे छोड़ा और नीचे आकर उसके पैरों के तलवे चाटने लगा. इससे वो बहुत उत्तेजित हो गई और बेड सीट को मुट्ठी में पकड़ कर अपना सिर इधर – उधर झटकने लगी. उसका विरोध अब एक दम खत्म हो चुका था और वह भी वासना के भंवर में डूब – उतरा रही थी.

थोड़ी देर बाद फिर मैं रेखा के ऊपर आया और उसके होंठों के पास अपने होंठ ले जाकर मैंने उससे कहा कि अगर मेरा प्यार झूठा है तो कह दो, मैं कुछ नहीं करूंगा, नहीं तो फिर मेरे होंठों पर एक किस कर दो. जितनी लम्बी किस होगी उतना ही गहरा हमारा प्यार होगा.

यह सुन कर वो पागलों की तरह मेरे होंठों पर किस करने लगी. दोस्तों, उसका रिस्पांस देख के मैं पागल सा हो गया और सिसकियां लेने लगा और साथ में उसके बूब्स भी दबा रहा था.

करीब 15 मिनट बाद किस करते हुए मैं नीचे उसकी नाभि पर आया और अपनी जीभ घुमाने लगा. अब उसकी उत्तेजना अपने चरम पर थी. वह कहने लगी, “राज, तड़पा – तड़पा के जान लोगे क्या मेरी तुम, बस अब जल्दी से मेरी चुदाई कर दो, अपना लन्ड मेरी चूत में डाल कर उसकी प्यास बुझा दो राज.”

उसकी बातें सुन कर मैं बिना देर किए उसकी चूत के पास गया और हाथ से उसे चौड़ा करके चाटने लगा. दोस्तों, मुझे चूत चाटना और चूत के अंदर का गुलाबी हिस्सा होंठों से पकड़ कर बाहर खींचना बहुत पसन्द है.

मेरी जीभ चूत से टच होते ही उसने पानी छोड़ दिया. जिसे मैं पी गया. उसके बाद भी मैं उसकी चूत चाटता रहा. बहुत मज़ा आ रहा था दोस्तों. जब मैं उसकी चूत खींचता तो वो चिहुंक उठती थी.

इस तरह करीब 10 मिनट तक चूत चुसाई के बाद मैं सीधा हुआ और अपना लन्ड उसकी चूत पर रख दिया. दोस्तों, जबरदस्त चुसाई की वजह से उसकी चूत के होंठ हल्का सूज गए थे. खैर, फिर मैंने धीरे – धीरे दबाव बना कर अपना लन्ड अंदर डालने लगा. थोड़ी ही देर में मेरा पूरा लन्ड उसकी चूत में समा गया.

दोस्तों, उसकी चूत बहुत गर्म थी. थोड़ी देर के लिए ऐसा लगा जैसे मैंने किसी भट्ठी में अपना लन्ड घुसेड़ दिया है. फिर धीरे – धीरे मैंने धक्के लगाने शुरू कर दिए. वह मस्ती में अपनी गांड उठा – उठा कर चुद रही थी. दोस्तों, जैसा कि मैंने पहले ही बताया कि उसका पति उसे धोखा दे रहा था इसलिए वह महीनों से चुदी नहीं थी. जिस कारण उसकी चूत काफी टाइट थी.

मेरे हर धक्के के साथ उसके मुंह से मादक सिसकियां निकल रही थीं. वह कहने लगी, “राज, एक ने तो मुझे धोखा दे दिया लेकिन प्लीज तुम धोखा मत देना नहीं तो मैं एक दम टूट जाऊंगी, आज मैं तुम्हें अपना सब कुछ समर्पित कर दिया है, अब तुम ही मेरे सब कुछ हो”. उसकी बात सुन कर मैंने हां में सिर हिला दिया.

दोस्तों, अब मैं एक दम मस्त हो गया था. करीब 14-15 मिनट की जोरदार धकापेल चुदाई के बाद मैं उसकी चूत में झड़ गया. अब तक वह 3 बार झड़ चुकी थी. मैं थक गया था, फिर उसके ऊपर ही लेट गया और उसके जुल्फों से खेलने लगा. पता ही नहीं चला कि हम दोनों नींद के आगोश में चले गए. करीब 1 घण्टे बाद हमारी नींद खुली और हमने एक बार फिर चुदाई की और उसके बाद वापस घर आ गए.

आप सब को मेरी यह कहानी कैसी लगी, मेल या कमेंट करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *