पति के सामने लन्ड चूस कर चूत चटवाई

मुझे एक मॉल में एक खूबसूरत भाभी दिखाई दी. मैं उसे घूरने लगा. फिर जब उसका पति आया तो उसने मेरे बारे में बताया. उसका पति मुझे अपने घर ले गया. जहां पर मैंने उस लेडी को अपना लन्ड चुसाया और उसकी मस्त चूत चाटी…

अंतर्वासना के सभी पाठकों और गुरु जी को मेरा प्रणाम. मेरा नाम राहुल है और मैं भोपाल, मध्य प्रदेश का रहने वाला हूं. मैं अंतर्वासना का रेगुलर पाठक हूं और यहां पर यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है. यहां प्रकाशित कहानियों को पढ़ कर मैंने काफी सोचा और निश्चय किया कि मुझे भी अपना सेक्स एक्सपीरियंस आप लोगों से शेयर करना चाहिए.

दोस्तों, यह उस करीब 2 साल पहले की है. तब मैं भोपाल के सबसे बड़े मॉल में घूमने गया था. मैं इधर – उधर घूम रहा था. तभी मैंने देखा कि बहुत ही ज्यादा सेक्सी और खूबसूरत के एक महिला अपने बच्चे के साथ गेम पार्लर में खड़ी है.

वह बहुत ही ज्यादा सेक्सी थी तो मैं उसे देखने लगा. उसने मेरी तरफ देखा और मुझे लाइन देने लगी. फिर मैं भी काफी देर तक उस पर नज़र गड़ाए रखा. थोड़ी देर बाद उसका हसबैंड भी आ गया.

फिर उसने मेरी तरफ इशारा करते हुए अपने हसबैंड से कुछ कहा और उसका हसबैंड मेरी तरफ चलने लगा. फिर वह मेरे पास आया और मुझसे बोला – हाय, मेरा नाम अविनाश है. मेरी वाइफ कीर्ति ने बताया कि आप उसको काफी देर से नोटिस कर रहे हो!

तब मैंने कहा – नहीं सर, ऐसी कोई बात नहीं है, मैं तो बस यहां खड़ा… मैं अपनी बात पूरी भी नहीं कर पाया था कि एकाएक उसकी बीवी भी मेरे पास आ गई और बोली – हाय, माय नेम इज कीर्ति, मैं काफी देर से देख रही थी कि आप मुझे दूर से देख रहे हो!

उसके मुंह से भी उसी तरह की बात सुन कर मैंने कहा – नहीं, मैम ऐसी कोई बात नहीं है. इस पर उसके पति ने मुझसे पूछा – छोड़ो ये बताओ अच्छे से देखा है या अभी और भी कुछ बाकी है?

सच बताऊं दोस्तों, उनकी बात सुन कर मेरी तो गांड ही फट गई थी. मुझे लगा कि अब मेरी पिटाई होने वाली है. मैं घबरा गया था. लेकिन तभी उसकी बीवी ने अपने हसबैंड के सामने बोला कि बस भी करो अब सारा यहीं देख लोगे या फिर हमारे साथ घर चल कर भी कुछ करोगे? फिर थोड़ा रुक कर उसने कहा – चिंता मत करो, तुम्हें मजे के साथ-साथ पैसे भी मिलेंगे.

उनकी ऐसी बातें सुन कर मैंने सोचा कि यह अपने पति के सामने ही मुझसे ऐसी बातें कर रही है. कहीं कुछ गड़बड़ तो नहीं है. फिर उसके हसबैंड ने भी मुझे अपने साथ चलने का का ऑफर दिया. अब मैं समझ गया कि वह अपनी पत्नी को चोद नहीं पाता है इसलिए मुझसे चुदवाना चाहता है.

उनकी बातें सुन कर फिर मैंने सोचा कि क्यों ना आज मजे के साथ कमाई भी कर ली जाए. फिर मैंने हां कर दी. अब हम मॉल से बाहर निकले और मैं उनके साथ उनकी कार में सवार हो गया. वहां से निकल कर कार अरेरा कॉलोनी की तरफ मुड़ गई और एक आलीशान बंगले में आकर रुकी.

इसके बाद हम तीनों लोग घर के अंदर आ गए. फिर उस महिला ने अपने बच्चे को गोद में उठाया और अपने कमरे में ले जाकर सुला दिया. इसी बीच मैं फ्रेश होने चला गया.

फिर जैसे ही मैं फ्रेश होकर बाहर आया तो दोनों हसबैंड – वाइफ बाहर सोफे पर पूरे न्यूड होकर बैठे हुए थे. उनको इस तरह बैठा देख कर मैं एक दम से चौंक गया. फिर उन्होंने मुझसे कहा कि घबराओ मत इस घर में कपड़े पहनना अलाउड नहीं है.

इसी बीच उसकी बीवी मेरे भी पास आ गई और एक – एक करके मेरे सारे कपड़े उतारने लगी. उधर उसका हसबैंड सोफे पर बैठा यह सारी चीजें देख रहा था और अपने हाथों से अपना लौड़ा हिला रहा था. मैं अभी भी पूरा कंफर्ट फील नहीं कर पा रहा था.

उसके हसबैंड को यह एहसास हो गया था. फिर उसने मुझसे कहा कि घबराओ नहीं हम दोनों बाय सेक्सुअल हैं. फिर जैसे ही उसने मेरे सारे कपड़े उतारे तो उसका हसबैंड भी मेरे पास आ गया.

मेरे पास आकर वह अपनी बीवी के साथ घुटनों के बल बैठ गया. फिर मेरे लन्ड की तरफ इशारा करते हुए अपनी बीवी से बोला – देखा आज तुझे मोटा और लंबा लौड़ा मिल ही गया. यह सुन कर उसकी बीवी ने हां में अपना सर हिलाया और फिर मेरा लौड़ा अपने मुंह में लिया.

अब तो मैं सातवें आसमान पर था. फिर काफी देर लन्ड चूसने के बाद उसने एक दम से अपने मुंह से बाहर निकाला और अपने हाथ से मेरे लौड़े को अपने हसबैंड के मुंह में ठूंस दिया. अब उसका हसबैंड मेरा और वो खुद अपने पति का लन्ड चूस रही थी. उसका पति प्रोफेशनल चुसाई करने वाले की तरह मेरा लौड़ा चूस रहा था.

काफी देर तक लन्ड चुसाई का ये खेल चलता रहा. फिर जब मैं झड़ने वाला था तो मैंने उससे कहा कि मैं आने वाला हूं. लेकिन उसे तो जैसे कोई फर्क ही न पड़ा हो. वह बिना किसी चिंता के लगातार मेरा लन्ड चूस रहा था. जल्द ही छूट गया. मेरे माल की कुछ बूंदें उसके मुंह में चली गई थीं और बाकी इधर – उधर लग गई.

इसी समय उसने भी अपना पानी छोड़ दिया जो उसकी बीवी के मुंह में चला गया. उसकी बीवी उसे पूरा चट कर गई. उसके बाद मैं और उसका पति उसके दूध से खेलने लगे. तभी उसने मुझसे कहा – अब ऊपर से हट कर मेरी चूत पर आ जाओ मेरी जान.

फिर इतना कह कर उसने मेरा सर पकड़ कर अपनी योनि पर लगा दिया. मैं भी वासना के वशीभूत था. फिर नीचे आकर मैं अपनी जीभ से उसकी योनि को खूब मस्ती से चाटने लगा. अब वह मादक आहें भरने लगी थी. इस वजह से पूरे कमरे में ‘अह आह आह’ की आवाज़ गूंजने लगी थी. वह कह रही थी – यस, हां, पूरा पी लो, हां हां आज खत्म कर दो मेरी योनि का पूरा रस, पी जाओ उसे.

इतना कहते – कहते थोड़ी देर में वह झड़ गई. उसका पानी मेरे मुंह में ही आ गया. मुझे उसका स्वाद कुछ नमकीन सा लगा पर मुझ पर हवस इतनी सवार हो गई थी कि मैंने उसका पूरा पानी एक – एक बूंद चाट – चाट कर पी लिया. मैं लगातार उसकी चूत चाट रहा था और वह अपनी योनि में तेजी से मेरा सर दबाए हुए थी.

इसी बीच ऊपर से उसके पति ने एक बार फिर से अपना लौड़ा उसके मुंह में दे दिया. वह मस्ती में अपने पति का लन्ड चूस रही थी और मुझे अपनी चूत कटवा रही थी. करीब 10 मिनट बाद उसने फिर पानी छोड़ दिया. अब उसकी दबाव मेरे सर पर से कुछ कम हुआ तो मैं हट गया. फिर उसने अपने पति का लन्ड चूसना बंद कर दिया. अब हम थक गए थे, इसलिए साथ में वहीं पर लेट गए.

दोस्तों, आज के लिए इतना ही अगली कड़ी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने और उसके पति ने गार्डन और टेरेस पर खुले में उसकी चूत की धज्जियां उड़ाई. मेरी कहानी आप लोगों को कैसी लगी मेल करके जरुर बताइएगा! मुझे आप सब के मेल का इंतजार रहेगा. तब तक के लिए मेरा नमस्कार. मेरी मेल आईडी – [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *