प्रैक्टिकल में मदद के बहाने चुदी जिया

मैं कॉलेज के फर्स्ट ईयर में था. प्रैक्टिकल के दो दिन पहले मुझे इसकी जानकारी हुई. अब मुझे टाइम से अपना प्रोजेक्ट जमा करना था. इसलिए मैंने अपनी एक दोस्त से मदद मांगी. वह बिजी थी तो उसने अपनी एक सहेली जिया को मेरी मदद करने के लिए कहा. जिया ने मेरी मदद की. फिर इस तरह हम नजदीक आते गए…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम राज़ है और मैं उत्तर प्रदेश के बरेली जिले का रहने वाला हूं. यह मेरी पहली कहानी है, इसलिए अगर इसमें कोई गलती ही तो माफ कर देना. दोस्तों, मैं 23 साल का एक नौजवान और हैंडसम युवक हूं. मेरी लम्बाई 5 फुट 3 इंच है.

इधर – उधर की बातों में आप सब का टाइम न वेस्ट करते हुए अब मैं सीधे अपनी कहानी पर आता हूं. यह बात तब की है जब मैं B. Sc प्रथम वर्ष में था. उस समय मेरी उम्र 21 साल थी. दोस्तों, आप में से ज्यादातर लोग ये जानते ही होंगे ही कि यूपी के छोटे शहरों के कॉलेज में पढ़ने वाले अधिकतर छात्र सिर्फ परीक्षा देने ही कॉलेज जाते हैं. मैं भी उन्हीं में से था.

मैं भी परीक्षा के दिनों में कॉलेज गया. तब वहां जाकर पता चला कि 2 दिन बाद से ही हमारे प्रैक्टिकल हैं और इसके लिए मुझे अपना प्रोजेक्ट भी जमा करना है. अकेले यह सब करना मुश्किल था तो मैंने अपनी दोस्त को कॉल किया और उससे हेल्प करने को कहा. दोस्तों, उसका नाम ज़ोया है और मेरी अच्छी दोस्त है. जब मैंने उससे ये कहा तो उसने कहा कि वो थोड़ा बिजी है लेकिन किसी को मेरी मदद के लिए कहती है. इसके बाद हमने फ़ोन काट दिया.

फिर मेरा नम्बर जिया को दिया और प्रैक्टिकल में मेरी मदद करने को कहा. जिया एक जवान लड़की है और मस्त ज़िस्म की मालकिन है. उसकी उम्र 19 वर्ष है. वह भी मुझे जानती थी औए मैं भी लेकिन हमारे बीच ज्यादा बातें नहीं हुई थीं.

फिर जिया ने मुझे फ़ोन किया और शुरू – शुरू में अनजान बन कर बात करनी शुरू कर दी और मुझसे मज़ा लेने लगी. लेकिन मैंने उसे पहचान लिया और जब उससे कहा कि वो जिया है तो वो जोर ही हंसी. उसकी हंसी बहुत ही प्यारी थी. फिर उसने प्रोजेक्ट में मेरी मदद की और मेरा प्रैक्टिकल अच्छे से हो गया.

उसके बाद तभी से रोज ही हमारी बातें होने लगीं. पहले नॉर्मल बात होती थी लेकिन फिर धीरे – धीरे सेक्सी बातें भी होने लगीं. धीरे – धीरे हमारे बीच नजदीकियां बढ़ती गईं और फिर एक दिन मैंने जिया से ‘आई लव यू’ बोल दिया. जब मैंने ये कहा तो कुछ देर के लिए वो चुप हो गई, शायद सोचने लगी थी लेकिन फिर उसने भी मुझे ‘आई लव यू टू’ बोल दिया.

उस दिन के बाद हमारी बातें और बढ़ गईं. अब हम हर तरह की बात करते. फ़ोन सेक्स और सेक्स चैट भी करते. लेकिन इतने से सुकून कहां मिलता है दोस्तों. ये तो आप सब को भी पता है कि असली सुकून तो सिर्फ चुदाई में ही है. इसलिए अब हमें इंतज़ार था उस दिन का जिस दिन हम दोनों मिल कर एक हो सकें.

आखिर वो दिन भी आ गया, जिसका हम दोनों को लम्बे समय से इंतजार था. उस दिन ज़िया के घर के सब लोग एक रिश्तेदार के यहां शादी में गए हुए थे. लेकिन जिया नहीं गई थी और वह अपने पूरे घर में अकेली थी. यह हमारे लिए बिल्कुल सही मौका था.

तभी उसने मुझे कॉल किया और अपने घर बुला लिया. दोस्तों, उसका घर मेरे घर से नजदीक ही था तो तैयार होकर मैं निकल पड़ा और करीब 10 मिनट में उसके घर पहुंच गया.

फिर मैंने जिया के घर पहुंच कर उसे फोन किया और तब उसने दरवाज़ा खोला. वो मेरे सामने खड़ी थी. उस दिन वो इतनी खूबसूरत लग रही थी कि मैं उसको देखता ही रह गया. उसने टी – शर्ट और पजामा पहन रखा था और इन कपड़ों में वो किसी भी एंगल से अप्सरा से कम नहीं लग रही थी. मेरी तो नज़र ही उस पर से नहीं हट रही थी.

दोस्तों, जिया का फ़िगर 30 28 32 का है. फिर जब जिया ने मुझे अंदर आने को कहा तो मेरी तंद्रा टूटी और मैं अंदर चला गया. अंदर जाते ही मैंने जिया को किस करना चाहा तो उसने कहा, “इतनी जल्दबाजी में क्यों हो? अभी थोड़ा रुको, हम बेडरूम में चलते हैं. फिर वहां जो भी करना होगा करना.”

लेकिन दोस्तों मुझसे बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं हो रहा था. फिर मैंने तुरंत ही उसको अपनी गोद में उठा लिया और उसके बेडरूम में ले गया. बेडरूम में जाते ही हम दोनों प्यासे हैवान की तरह एक – दूसरे पर टूट पड़े और बेतहाशा किस करने लगे.

फिर धीरे – धीरे मैंने उसके सारे कपड़े भी उतार दिए और बेड पर लिटा दिया. अब वो मेरे सामने सिर्फ अंडर गारमेंट्स में पड़ी थी. लेकिन मेरे बदन से एक भी कपड़ा नहीं हटा था. तभी वह उठी और उसने मेरे भी सारे कपड़े निकाल दिए.

जिया ने उस दिन ब्लैक पैंटी और व्हाइट ब्रा पहन रखी थी. जिसमें से उसके बूब्स बाहर आने को मचल रहे थे. उसके बूब्स देख कर मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने ब्रा का हुक खोला और उसे खींच कर निकाल दिया. अब मैं उन पर टूट पड़ा और बूब्स को चूसने लगा. साथ ही दूसरे बूब्स को एक हाथ से दबा भी रहा था. अब वो मादक सिसकारियां लेने लगी, “आह आह राज, बहुत मज़ा आ रहा है. करते रहे ऐसे ही करते रहो”.

अब ज्यादा लेट करना बेकार था. उसकी चूत भी पानी छोड़ने लगी. तब मैंने उसकी पैंटी खींच दी और अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया. लंड चूत पर टच होते ही वह मचल उठी और अपनी कमर चलाने लगी. दोस्तों, वो काफी गरम हो चुकी थी और अब उससे भी कंट्रोल नहीं हो रहा था.

फिर मैंने धीरे से अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. उसकी चूत पहले से ही गीली हो चुकी थी, इसलिए पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया. लेकिन जैसे ही लंड अंदर गया दर्द की वजह से वो रोने लगी. फिर मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया. जब उसका दर्द कम हुआ और उसने अपनी कमर चलानी शुरू कर दी तो फिर मैं भी धक्के देकर उसकी चुदाई जम के करने लगा.

अब वो भी बहुत मज़े से चुद रही थी और जोर – जोर से ‘आह हां हांह ओह्ह आह ओह्ह’ की आवाज निकाल रही थी. करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद चूंकि मैंने कंडोम नहीं लगा रखा था इसलिए मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

फिर दोनों आपस मे चिपक गए. कुछ देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और हमने फिर से चुदाई करनी शुरू कर दी. दोस्तों, तभी मेरी नज़र जिया की गांड पर पड़ी. वह बिल्कुल गोल है, एक दम गेंद की तरह. वह मुझे पसंद आ गई तो मैंने उससे कहा कि मुझे तम्हारी गांड मारनी है. थोड़ी न नुकर करने के बाद फिर वो भी राजी जो गई.

इसके बाद वह गई और किचन से तेल लेकर आई. जिसे मैंने उसकी गांड और अपने लंड पर लगा दिया. इसके बाद फिर लंड उसकी गांड के छेद पर रख कर धीरे – धीरे अंदर डालने लगा.

दोस्तों, चुदाई तो शायद वह पहले भी करवा चुकी थी क्योंकि चूत कुछ ढीली थी लेकिन गांड पहली बार मरवा रही रही. उसकी गांड बहुत ही ज्यादा टाइट थी. गांड टाइट होने के कारण मुझे मज़ा भी बहुत आ रहा था. लेकिन उसे दर्द हो रहा था.

हालांकि मैंने उसके दर्द को ज्यादा तवज्जो नहीं दी और पूरा लंड अंदर डाल कर ही दम लिया. लंड पूरा अंदर जाने के बाद मैं रुक गया और उसके दर्द कम होने का इंतजार करने लगा. जब उसका दर्द कम हुआ तो वो अपनी गांड हिलाने लगी.

फिर मैं धकापेल तरीके से उसकी गांड मारने लगा. बहुत मज़ा आ रहा था दोस्तों. करीब 15 मिनट बाद मेरे लंड ने उसकी गांड में ही पिचकारी छोड़ दी और मैं निढाल होकर उसके ऊपर गिर पड़ा. उस दिन के बाद मैंने कई बार उसको चोदा लेकिन अब उसकी शादी हो गयी है और मेरा लंड चुदाई के लिए तड़प रहा है. ये मेरी लाइफ की पहली चुदाई थी. आप लोगों को कैसी लगी? कमेंट करके जरूर बताएं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *