साइंस टीचर को रात भर चोदा

मेरी साइंस टीचर मेरी पढ़ाई से काफी इम्प्रेस थी. जब मैंने उन्हें पहली बार देखा तो मेरा लंड फुफकार मारने लगा. मैं उन्हें चोदने की फिराक में था लेकिन जुगाड़ नहीं हो पा रहा था. फिर एक दिन मेरा भाग्य जगा और उन्होंने मुझे ट्यूशन पढ़ने अपने घर आने की कहा. मैं उनके घर पढ़ने जाने लगा लेकिन मेरा ध्यान उन्हें चोदने पर ही था. आखिर एक दिन मुझे मौका मिल ही गया और मैंने उन्हें सारी रात चोदा…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम पुष्पेंद्र है और मैं राजस्थान के कोटा का रहने वाला हूं. मैं स्टूडेंट हूं और अभी मेरी उम्र 25 साल है लेकिन मेरा लन्ड 8 इंच लम्बा और 2.5 इंच मोटा है.

अब मैं अपनी स्टोरी पर आता हूं. बात तब की है जब मैं 12वीं में था. मेरे स्कूल में एक नई टीचर आईं. उनका नाम लवली था. वो हमें साइन्स पढ़ाने आई थीं. जब मैंने उन्हें पहली बार देखा तो देखते ही रह गया. आप यूं कह सकते हैं कि मैं पहली ही नज़र में उनका दीवाना हो गया था.

वो थोड़ी हेल्दी थीं लेकिन थीं कमाल की. इतनी कि कोई भी मर्द उन्हें देखने के बाद अपना लंड मसलने को मजबूर हो जाता. उनका फिगर 38 30 40 का था. उनकी शादी हो चुकी थी और 6 साल का उनका एक लड़का भी था. उनके हसबैंड गवर्नमेंट जॉब करते थे और उनकी ड्यूटी नाईट शिफ्ट में शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक की होती थी.

एक दिन मैम ने मेरी क्लास के सभी बच्चों का टेस्ट लिया. उस टेस्ट में मैंने टॉप किया. यह देख मैम मुझसे काफी इम्प्रेस हो गईं और क्लास में ही सब के सामने मेरी तारीफ की. फिर छुट्टी होने के बाद जब सब जाने लगे तो उन्होंने मुझे स्टाफ रूम में बुलवाया. जब मैं गया तो उन्होंने मुझे गले लगा कर कहा – बेटा, तुम बहुत ब्राइट स्टूडेंट हो. इसी तरह पढ़ते रहोगे तो आगे लाइफ में बहुत अच्छा कर सकते है.

मैंने उन्हें भरोसा दिया कि मैं इसी तरह पढ़ता रहूंगा और फिर घर चला गया. लेकिन वो दिन मेरा लाइफ चेंजिंग दिन रहा. उनके गले लगाने की वजह से उस दिन के बाद से मैं उनके नाम की मुठ मारने लगा और इस वजह से मेरी पढ़ाई गड़बड़ाने लगी. यह देख एक दिन फिर उन्होंने मुझे स्टाफ रूम में बुलाया और बोलीं – क्या हुआ बेटा तुम तो बहुत अच्छा पढ़ते थे, फिर अब क्या हुआ क्यों पढ़ाई नहीं करते हो ठीक से?

उनका सवाल सुन कर मैं कुछ बोल नहीं पाया, चुपचाप खड़ा रहा. तब उन्होंने कहा कि एक काम करो, कल से तुम मेरे घर पर आ जाया करो, मैं तुम्हें प्राइवेट में पढ़ाऊंगी. मैंने हां कह दिया. मेरे मन में लड्डू फूटने लगे. मैंने सोचा अब काम हो सकता है. मुझे लवली मैम की चूत मारने का मौका मिल सकता है.

अगले दिन मैं उनके घर पहुंच गया. घर में मैम, उनका बेटा और उनके हसबैंड थे. उस वक्त शाम के 5:30 बज रहे थे और उनके हसबैंड जॉब पर जाने की तैयारी में थे. थोड़ी देर में वो चले गए.

उनके जाने के बाद मैम मेरे पास आईं और मुझे पढ़ाने लगीं. हम दोनों आमने – सामने कुर्सी पर बैठे थे और हमारे बीच में टेबल थी. उस टाइम उन्होंने सूट और सलवार तो पहन रखा था लेकिन चुन्नी नहीं ले रखा था. इसलिए वो जब भी झुक के मुझे समझातीं तो उनके बूब्स मुझे दिख जाते और मैं मज़ा लेता रहता. बूब्स दिखने की वजह से जब तक मैं वहां होता तब तक मेरा लन्ड खड़ा रहता.

इसी तरह टाइम बीतता रहा. मुझे उनके यहां ट्यूशन जाते करीब 1 महीना हो गया. तभी एक दिन जब मैं ट्यूशन गया तो मुझे पता चला कि उनका बेटा अपने मामा के साथ अपनी नानी के यहां गया है और अब 1 महीने बाद ही वापस आएगा.

फिर मैं उनके साथ बैठ कर पढ़ने लगा. उस दिन भी मैम मेरे सामने ही बैठी थीं. उस दिन भी उन्होंने चुन्नी नहीं ले रखी थी. इस वजह से बार – बार मेरी नज़र उनके बदन पर जा रही थी. तभी अचानक मैम ने मुझे घूरते देख लिया और बोलीं – क्या देख रहे हो? कभी औरत नहीं देखी क्या? इतना बोल कर उन्होंने एक सेक्सी स्माइल पास कर दी.

इस पर मैंने जवाब दिया कि मैम औरत तो बहुत देखी है लेकिन आपके जैसी नहीं देखी. इस पर मैम ने कहा – अच्छा, ऐसा क्या दिखता है तुम्हें मुझमें?

मैं बोला – मैम, आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो. बुरा न मानो तो एक बात कहूं!

मैम बोलीं – हां हां, बोलो न.

मैं – मैम, आप बहुत सेक्सी हो. मैं आपको एक बार बिना कपड़ों के देखना चाहता हूं.

मैम बोलीं – पागल हो क्या! ऐसा नहीं हो सकता. तुम मेरे स्टूडेंट हो और उम्र में भी मुझसे बहुत छोटे हो.

मैं बोला कि प्लीज मैम प्लीज, बस एक बार फिर मैं नहीं कहूंगा. मेरे बहुत कहने पर उन्होंने कहा कि ठीक है लेकिन तुम किसी को बताओगे नहीं कि मैंने तुम्हारे सामने अपने कपड़े उतारे हैं. मैंने कहा कि ठीक है मैम.

फिर उन्होंने एक – एक करके अपने सारे कपड़े उतार दिए और पूरी नंगी होकर मेरे सामने खड़ी हो गईं. वो थोड़ा शर्मा रही थीं. फिर मैंने कहा कि मैम मैं आपको किस करना चाहता हूं. मैम बोलीं कि ठीक है कर लो.

फिर मैंने उन्हें किस करना स्टार्ट कर दिया. मेरे किस करने से उन्हें भी मज़ा आने लगा और हम दोनों मदहोश होने लगे. अब हम मस्त होकर एक – दूसरे को चाट भी रहे थे. फिर मैम ने मेरे सारे कपड़े उतार दिए. अब मेरा लन्ड उनके सामने आ गया जो खड़ा पूरी तरह खड़ा हो चुका था.

लन्ड देखते ही वो उसे मुंह में लेकर जोर – जोर से चूसने लगीं. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. फिर मैं धीरे – धीरे उनके मुंह में धक्के मारने लगा. मैम भी मस्त होकर मज़े से लंड चूस रही थीं.

थोड़ी देर बाद हम बेडरूम में चले गए और उनके बेड पर लेट गए. फिर मैंने उनकी टांगें ऊंची कर दी. इससे उनकी चूत खुल के मेरे सामने आ गई. उनकी चूत देख के मुझसे कंट्रोल न हुआ और मैं उनकी चूत चाटने लगा. जैसे ही मैंने उनकी चूत पर जीभ लगाई वह उछल पड़ीं. उन्हें बहुत मज़ा आ रहा था और फिर वह उछल – उछल के अपनी चूत चटवाने लगीं. उनके मुंह से – आह बेटा आह, और जोर से चाटो और जोर से, मज़ा आ रहा है. आह इतना मज़ा तो मुझे आज तक नहीं आया.

उनकी बातें सुन कर मैं और मस्त होकर उनकी चूत चाटता रहा. फिर मैम बोलीं कि अब अब रहा नहीं जा रहा बेटा डाल दे न अपना कड़क और खतरनाक लंड मेरी चूत में. उनकी यह बात सुन कर मैंने भी देर न करते हुए अपना लंड मैम की चूत में डाल दिया. एक ही बार में मेरा लंड अंदर चला गया. अब मैं धक्के लगाने लगा और मैम भी नीचे से अपनी गांड उछाल – उछाल के चुदवा रही थीं.

फिर मैंने उन्हें डॉगी स्टाइल में आने को कहा. मेरे कहते ही वो कुतिया जैसी झुक के बैठ गईं. अब मैंने ऊनी गांड थोड़ा और ऊपर की. इससे पीछे की तरफ उनकी चूत दिखने लगी. फिर मैंने पीछे से उनकी चूत में अपना लंड डाल दिया और चोदने लगा. बहुत मज़ा आ रहा था.

करीब 1 घण्टे तक मैंने उनको चोदा. वो इतनी मस्त हो गई थीं कि उन्हें अपना होश ही नहीं था. उनके मुंह से बस ‘आह ओह्ह आईईई’ की मादक सिसकियां निकल रही थीं. तभी अचानक मेरे लंड ने उनकी चूत में ही अपना पानी छोड़ दिया. मेरे साथ ही वो भी झड़ गईं.

झड़ने के बाद मैं उनके ऊपर गिर गया और उन्होंने मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया. फिर हम ऐसे ही नंगे – नंगे सो गए. थोड़ी देर बाद जब मैम की नींद खुली तो उन्होंने मुझे उठाया और हमने एक बार फिर से चुदाई की.

इसके बाद मैम के कहने पर मैंने अपने घर फोन करके बोल दिया कि आज मैं मैम के ही घर पर रुकूंगा. घर वालों ने हां कर दी. फिर उस पूरी रात मैं उन्हें चोदता रहा. उस रात सुबह 5 बजे तक मैंने उन्हें 8 बार चोदा. फिर उनके पति के आने से पहले ही वहां से निकल गया और घर आकर सो गया.

अब मैं रोज शाम को मैम के घर जाकर उनको चोदता हूं और चोदने के बाद एक घंटे तक नंगे ही पढ़ाई करते हैं. इसके बाद फिर मैं अपने घर चला जाता हूं.

आप सभी को मेरी यह डर्टी कहानी अच्छी लगी हो तो प्लीज मेरी मेल आईडी पर मेल करके मेरा उत्साहवर्धन करें. कहानी के बारे में कोई सुझाव हो तो वो भी भेज सकते हैं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *