शोरूम में मिली लड़की को होटल में चोदा

यह कहानी तब की है जब मैं एक मोबाइल कम्पनी के शोरूम में काम करता था. एक बार एक लड़की मोबाइल लेने आई. उसे देख कर मैं पागल सा हो गया. फिर वह किस तरह मेरे करीब आई और मैंने कैसे उसे चोदा? ये आप इस कहानी में जानेंगें…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है और मैं राजस्थान का रहने वाला हूं. दोस्तों, मैं सुडौल बदन वाला बहुत ही हैंडसम लड़का और मेरा लिंग साइज 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है. अपने इसी लिंग की मदद से मैं बहुत सी भाभियों की गोद भर चुका हूं और साथ ही कई अविवाहित लड़कियों को भी उनके जीवन का असली मज़ा दे चुका हूं.

ये कहानी मेरी और मेरी एक नयी गर्लफ्रेंड अंकिता (बदला हुआ नाम) की है. अंकिता का फिगर 34 30 36 का था और वह बहुत ही खूबसूरत लड़की थी. जब भी वह चलती तो उसकी गांड देख कर बुड्ढों का भी लण्ड मचल जाता था.

अब ज्यादा टाइम न लेते हुए मैं आप लोगों को सीधा अपनी कहानी पर लिए चलता हूं. दोस्तों, मैं एक मोबाइल की कंपनी के शोरूम में सेल्स एग्जीक्यूटिव के तौर पर काम करता था. एक दिन वहां पर एक लड़की मोबाइल लेने आई. उसको मैंने कई बेहतरीन मोबाइल दिखाए. उनमें से एक को उसने पसंद किया और फिर लेकर चली गई.

दोस्तों, आप यकीन नहीं करोगे सेल्स में होने के कारण वैसे तो मैं रोज ही तमाम लड़कियों से मिलता था लेकिन उस लड़की में कुछ अलग ही बात थी. एक ही बार मिलने पर मेरे दिल में उसके लिए चाहत उत्पन्न हो गई. मैं उससे बार – बार मिलना चाहता था लेकिन कैसे ये समझ नहीं आ रहा था.

इसी बीच एक दिन वो मोबाइल से जुड़ी अपनी एक समस्या लेकर मेरे पास आई. उसने बताया कि इसमें नेट नहीं चल रहा है. मैंने उसे ठीक कर दिया. तब उसने कहा कि अब तो इसमें कोई दिक्कत नहीं होगी? इस पर मैंने कहा, “मैडम, इलेक्ट्रॉनिक समान है, जो दिक्कत थी बना दिया, फिर से कोई दिक्कत होगी फिर आइयेगा उसे भी ठीक किया जाएगा, अब अभी तो कोई और दिक्कत नहीं है महीन तो उसे भी ठीक कर देता.”

यह सुन कर वो बोली कि आने में मुझे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन मैं यहां पर अकेली रहती हूं तो बार – बार साथ में किसी और को लेकर आना पड़ता है. इसलिए मुझे परेशानी होती है. तब मैंने उसको बोला कि ऐसा करिए आप मेरा मोबाइल नम्बर ले जाइए, आपको कोई दिक्कत हो तो मुझे फ़ोन करके पूछ लीजिएगा. उसने मेरा मोबाइल नम्बर ले लिया औए फिर एक स्माइल देकर चली गई. मैं अपने काम में व्यस्त हो गया लेकिन बार – बार मुझे उसका ख़याल आता रहा.

फिर शाम को मैं अपने घर पहुंच गया. रात में मेरे नम्बर पर एक अनजान नम्बर से मैसेज आया. मैसेज में लिखा था – हेलो, क्या कर रहे हो? मैंने पूछा कौन तो उसने बताया कि आज जो शोरूम पर आई थी और जिसे नम्बर दिया था. यह जान कर कि उसने बिना किसी कारण फोन किया है, मैं बहुत खुश हुआ. अब मुझे लगने लगा था कि बात कुछ आगे बढ़ सकती है.

फिर उसके बाद हमारी बातचीत चालू हो गयी. कुछ दिन तक तो हमारे बीच नॉर्मल बातें ही होती रहीं. फिर एक दिन मैंने उससे अपने प्यार का इज़हार कर दिया. जवाब में उसने भी मुझे ‘आई लव यू टू राहुल’ बोला. फिर हमने थोड़ी देर तक ऐसे ही नॉर्मल बात की और उसके बाद मैंने उसे अगले दिन मिलने के लिए कहा. वो तैयार हो गई. इसके बाद हमने जगह और टाइम डिसाइड किया और फिर लव यू बोल कर फ़ोन काट दिया.

अगले दिन निर्धारित समय पर वो वहां पहुंच गई. दोस्तों, उस दिन तो वह एक दम कयामत लग रही थी. मैं काफी देर तक उसे ही देखता रहा. फिर हमने कुछ खाया पिया और उसके बाद हम एक होटल गए. होटल में मैंने एक रूम बुक किया और फिर सीधा अंदर चले गए.

रूम में जाते ही मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया और उसके होंठों को अपने होंठों में लेकर किस करने लगा. साथ ही कभी – कभी उसके होंठों और उसके गालों पर भी किस कर लेता था. वह भी मेरा पूरा साथ दे रही थी. थोड़ी देर बाद उसके मुंह से सिसकियां निकलने लगीं धीरे – धीरे गर्म होने लगी थी.

इसके बाद मैंने एक – एक करके उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसने भी मेरे सारे कपड़े उतार दिए. अब हम दोनों एक – दूसरे के सामने जन्मजात नंगे थे. उसके बाद फिर मैंने उससे मेरे लिंग को मुंह में लेने के लिए कहा. इस पर पहले तो उसने मना कर दिया लेकिन मेरे एक – दो बार कहने पर वो मान गयी. फिर वह बहुत ही शानदार तरीके से मेरे लिंग को अपने मुंह में लेकर चूसती रही.

थोड़ी देर बाद हम 69 की पोजिशन में आ गए और मैंने भी उसकी चूत को अपने मुंह में लेकर चुसाई चालू कर दी. दोस्तों, मैंने उसकी पूसी को चाट – चाट कर लाल कर दिया. जब मैं उसकी चूत के अंदर अपनी जीभ घुसाता तो वो मेरा लिंग मुंह में लिए हुए ही ‘आह उह आह’ की मादक आवाज़ निकालती. जो मुझे बहुत अच्छी लग रही थी.

थोड़ी देर बाद उसने मुझसे कहा – प्लीज़ राहुल अब सहन नहीं होता है, अब ज्यादा न तड़पाओ, प्लीज़ जल्दी से अंदर डाल भी दो. फिर मैंने उसको और थोड़ा सा और तड़पाया और फिर उसके पैरों को फैला कर चूत पर लण्ड घिसने लगा.

इसके बाद उसने अपने पर्स से क्रीम निकाला और थोड़ी सी क्रीम मेरे लण्ड पर और थोड़ी सी अपनी पूसी पर लगाया. फिर उसके बाद मैंने लण्ड को उसकी चूत के छेद पर रखा और थोड़ा सा दबाव बना कर अपने लण्ड को उसकी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगा. लेकिन दोस्तों, उसकी चूत काफी टाइट थी, इस वजह से मेरा लण्ड अंदर नहीं जा पा रहा था.

यह देख मैंने थोड़ा और दबाव बनाया. तब लण्ड का टोपा उसकी चूत में घुस गया लेकिन जैसे ही वह उसकी चूत में गया, चिल्लाने लगी. हालांकि, मैंने उसकी एक ना सुनी और दोबारा से एक और जोरदार धक्का लगा दिया. इस धक्के की वजह से मेरा आधा लण्ड उसकी चूत में घुस गया.

तभी मेरी नज़र उसके चेहरे की तरफ गई. मैंने देखा कि उसकी आंखों से आंसू बह रहे थे और दर्द उसके चेहरे पर साफ झलक रहा था. यह देख कर मैं 2 मिनट के लिए रुक गया. जब थोड़ी देर लण्ड ने कोई हरकत न की तो उसे कुछ राहत मिली और लण्ड अंदर होने की वजह से चूत में सुरसुरी सी होने लगी थी. इसलिए कुछ देर बाद वह खुद ब खुद अपनी गांड हिलाने लगी.

जैसे ही मैंने उसे यह करते देखा वैसे ही मैंने एक और धक्का लगा दिया. मेरे इस धक्के के साथ मेरा पूरा का पूरा लण्ड उसकी चूत के अंदर घुस गया और दर्द की वजह से वो रोने लगी, साथ ही लण्ड बाहर निकालने के लिए भी बोल रही थी.

लेकिन मैं बिना लण्ड बाहर निकाले शांत होकर उसके ऊपर लेट गया. फिर जब वो दोबारा से नॉर्मल हुई तो मैंने अपना काम फिर से शुरू के दिया. अब मैं तेजी से धक्के लगाने लगा और साथ में उसके बूब्स भी चूसता जा रहा था. बहुत मज़ा आ रहा था. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं जन्नत में पहुंच गया हूं. लण्ड उसकी चूत में अच्छे से सेट हो चुका था और वह बड़े आराम से मज़े लेकर चुदवा रही थी.

दोस्तों, मैंने करीब 15-20 मिनट तक उसकी जम के चुदाई की. इस बीच वो 3 बार झड़ चुकी थी, फिर जब मेरा होने वाला था तो मैंने उससे पूछा कि कहां निकालूं? इस पर उसने कहा कि मेरे मुंह में निकाल दो. दोस्तों, फिर मैंने चूत से लण्ड निकाल कर उसके मुंह में दे दिया और मुख चोदन करने लगा. थोड़ी देर बाद मेरे लण्ड ने अपनी पिचकारी छोड़ दी.

फिर उसने मेरे पूरे माल को गटक लिया और जीभ फेर – फेर कर लण्ड अच्छे से साफ कर दिया. इसके बाद उसकी चूत पर जो खून लगा था उसने उसे भी टिशू पेपर से साफ किया. इसके बाद हमने थोड़ी देर आराम किया और फिर अपने घर आ गए. उस दिन के बाद से मैं कई बार उसकी चुदाई कर चुका हूं. आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी –
[email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *