वादा करो कि तुम हमेशा मुझे ही चोदोगे

मेरे पड़ोस में एक चाची रहती थीं. वो मेरे ही परिवार की हैं. एक बार मैंने उन्हें चोदने का प्लान बनाया और उसमें सफल रहा. लेकिन चुदाई से पहले उन्होंने एक शर्त रखी और कहा कि वादा करो तुम मुझे हमेशा चोदोगे. आगे क्या हुआ जानने के लिए पढ़ें कहानी…

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम अमित है और दिल्ली के नजफगढ़ का रहने वाला हूँ. आज जो कहानी मैं आप के साथ शेयर करने जा रहा हूँ ये मेरे लाइफ की दूसरी सेक्स स्टोरी है. उम्मीद करता हूँ आप सब को पसंद आएगी. 

मेरी उम्र 27 साल है और मैं 6 फ़ीट लम्बा हूँ. मेरे जानने पहचानने वाले सभी लोग बोलते हैं कि मैं दिखने में भी स्मार्ट हूँ. दोस्तों, मैं बाकियों की तरह ये तो नहीं कहूंगा कि मेरा लंड 9 या 10 इंच का है पर 6 इंच से बड़ा है लेकिन पूरा 7 इंच का नहीं है. 

दोस्तों, हमारे पड़ोस में मेरी एक चाची रहती हैं. उनकी उम्र 37 साल के आसपास होगी. उनकी शादी को 10 साल हो गए हैं लेकिन फिर भी वो देखने में बिल्कुल 25 साल की लगती हैं. मैं उनको चोदना चाहता था पर डर लगता था कि कहीं घर वालों को पता लग गया तो परिवार का मामला होने के चलते सब मारेंगे बहुत.

ऐसे करते – करते बहुत दिन निकल गए. फिर एक दिन मुझे पता चला कि चाची का हमारे पड़ोस के एक लड़के के साथ चक्कर चल रहा है. बस अब मुझे और क्या चाहिए था.

मैंने धीरे – धीरे उनके बारे में पता लगाया. फिर एक दिन मैंने चाची को उस लड़के के साथ देख लिया. इस दौरान चाची ने भी मुझे देख लिया था. मैं तो चाहता भी यही था. फिर क्या था! शाम को घर आते ही मैं चाची के पास गया. चाची ने मुझे देखते ही हल्की सी स्माइल दी और मुझसे बोलीं कि कल सुबह मिलना सब बताती हूँ.

अब मैं बेसब्री से सुबह का इंतज़ार कर रहा था. सुबह हुई चाचा अपने ऑफिस गए और बच्चे स्कूल चले गए. इसके बाद मैं भागकर चाची के घर पहुँचा. उस समय चाची लोअर और टीशर्ट में थीं. इस समय वह किसी भी एंगल से शादीशुदा नहीं लग रही यहीं.

फिर मैंने चाची से बोला कि चाची कल आप उसके साथ क्या कर रही थीं थे. इस पर चाची बहाना बनाने लगीं और बोलीं – कुछ नहीं, वो तो वैसे ही मार्केट में मिल गया था. तब मैंने कहा – चाची रहने दो मुझे सब पता है.

यह सुनकर वो थोड़ी घबरा गईं और वो मुंह बनाते हुए बोलीं – ये सब ठीक नहीं है, मैं तुम्हारी चाची हूँ और तुम्हारे चाचा को तुम्हारी बदतमीजी बताऊंगी. इस पर मेरी गांड फट गई पर मैंने भी हिम्मत करके कहा – तो ठीक है, मैं भी चाचा को बता दूंगा कि आप कल किसके साथ थीं.

यह सुन कर चाची डर गईं और बोलीं – तुम्हें क्या चाहिए बताओ? मैंने फिर थोड़ी हिम्मत बांधी और बोला – चाची मैं आपको बहुत लाइक करता हूँ और आपको चोदना चाहता हूँ.

मेरे इतना कहते ही चाची के मन में तो जैसे लड्डू से फूटने लगे थे. वो कुछ नहीं बोलीं. फिर मैंने हिम्मत करके चाची का हाथ पकड़ लिया और उनके हाथ पर किस किया. इसके बाद घुटनों पर बैठ कर बोला – चाची, आज मना मत करना, बहुत हिम्मत करके बोला है.

इस पर चाची ने एक हल्की सी स्माइल दी और बोलीं – एक शर्त पर मैं तुम्हारे साथ सेक्स करूंगी. मैंने कहा बताओ. तो वो बोलीं – तुम वादा करो कि आज से तुम हमेशा मेरे साथ सेक्स करोगे. इस पर मैंने पूछा कि अंकल सेक्स नहीं करते क्या आपके साथ? तो वो उदास हो गईं और बोलीं कि वो 2 या 3 महीने में 1 बार ही करते है और इधर मैं तड़पती रहती हूं. अब तुम ही मेरी ये प्यास बुझाओगे.

फिर थोड़ा रुक कर वो बोलीं – मैं भी तुम्हें पसंद करती थी पर कभी कुछ कहने की हिम्मत नहीं हुई. उनके इतना कहते ही मैं उठा और चाची के होंठों को चूमते हुए बोला – चाची पहले क्यों नहीं बोला, मैं कब से तुम्हारे नाम की मुठ मार रहा था.

दोस्तों, सच्चाई यही थी. मुझे नहीं लगता था कि मुझे इतनी जल्दी चाची की चूत मिल जाएगी. खैर, फिर मैंने चाची को किस किया तो वो भी मुझे किस करने लगी. अब हम दोनों एक – दूसरे की जीभ में जीभ फंसा कर एक – दूसरे को चूसने लगे थे.

थोड़ी देर बाद चाची मुझसे अलग हुईं और बाहर जाकर गेट बंद करके आ गईं. अब हमने बुरी तरह एक – दूसरे को चूसना शुरू किया. फिर मैंने चाची की टी-शर्ट निकाल दी. उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी. उनकी चूची एक दम गोरी थी. ओह माफ करना दोस्तों, मैं तो चाची का साइज बताना ही भूल गया था. 32 26 32 ये चाची का साइज था.

इसके बाद मैंने उनकी चूची को मुँह में ले लिया और चूसना शुरू किया तो वो कामुक हो उठीं और ‘आह आह आ’ की आवाज़ें निकलने लगीं. तब मैंने कहा कि चाची आप तो बहुत सेक्सी हो. आप तो चूची चूसने में ही सिसकारियां निकालने लग गई तो वो बोलीं कि तेरे चाचा जब कभी करते हैं तो अपना डाल के 2-4 मिनट में निकाल लेते है, इतने से मेरा कुछ होता नहीं और मैं तड़पती रहती हूं.

अब चाची ने मुझे बुरी तरह चूमना शुरू किया और मेरे कपड़े उतारने लगीं. फिर मैंने भी फटा फट अपने कपड़े उतारने में चाची की मदद की. अब मैं चाची के सामने पूरा नंगा था और मेरा लंड तना हुआ था. तभी चाची ने उसे छुआ और खुश हो गईं. साथ में चाची मुझे चूम भी रही थी, जिससे मैं मदहोश होता जा रहा था.

फिर मैंने चाची का लोअर उतार दिया. अब वो केवल पैंटी में थीं. फिर मैंने चाची को गोद में उठाया और उनके बेडरूम में ले गया और बेड पर पटक दिया. इसके बाद फिर मैंने उन्हें चूमने लगा. चूमते – चूमते मैं चाची की चूत पर पहुँच गया. उनकी चूत पर बिल्कुल हल्के – हल्के बाल थे. इस पर चाची बोली – क्या करूँ कुछ होता नहीं तो काफी काफी दिन में साफ करती हूं?

तब मैंने पूछा – चाची, आपने कभी अपनी चूत चटवाई है तो वो बोलीं कि तुम्हारे चाचा ने तो कभी किया नहीं. फिर मैंने चाची की चूत चाटना शुरू किया तो वो जबरदस्त सिसकारियां लेने लगी. 10 मिनट बाद वो झड़ गई. मैंने उनका पानी चखा तो मुझे ज्यादा अच्छा नहीं लगा.

अब चाची उठीं और मुझे चूमने लगी और चूमते – चूमते मेरे लंड तक पहुचीं तो बाल होने के कारण उन्होंने लंड चूसने से मना कर दिया. तब मैंने कहा – कोई बात नहीं नेक्स्ट टाइम बिल्कुल साफ मिलेगा. इस पर चाची बोलीं – बहन चोद, अगर अगली बार लंड साफ नहीं मिला तो चूत भी नहीं मिलेगी. मैंने कहा – ओके मेरी जान.

अब मैंने चाची को फिर से लिटाया और उनकी चूत चाटने लगा. 2-3 मिनट बाद चाची बोलीं – अब डाल दे जल्दी से रुका नहीं जाता. फिर मैंने बिना देरी किए अपना लंड चाची की चूत पर सेट किया और एक झटका मारा तो लंड आधे से ज्यादा अंदर चला गया पर चाची को बहुत दर्द हुआ और वे मुझे 8-10 गालियां देते हुए लंड निकलने को कहने लगीं.

अब मैं 2 मिनट रुका रहा. दोस्तों, चाची की चूत से थोड़ा सा खून निकलने लगा था. ये सब देख कर मैं हैरान था. 2 मिनट बाद मैंने चाची को फिर से चोदना शुरू किया. अब चाची को भी मज़ा आने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी.

चुदाई के दौरान चाची 1 बार पहले ही झड़ चुकी थीं. इस वजह से कमरे में फचा फच की आवाज़ें आने लगी थी. फिर मैंने अपना लंड निकाला और चाची की गांड में डालने लगा तो चाची बोलीं – अभी नहीं मेरे राजा, अगली बार पक्का. आज पहले मुझे चोद – चोद कर मेरी चूत को फाड़ दे.

फिर मैंने चाची को लिटा के उनकी दोनों टांगे अपने कंधे पर रख ली और पूरा लंड उनकी चूत में घुसा दिया. इसके बाद उन्हें ज़ोर – ज़ोर से चोदने लगा. करीब 10-15 मिनट की चुदाई में चाची 2 बार झड़ चुकी थीं. अब चाची मेरे ऊपर आ के बैठ गईं और उन्होंने मेरे लंड को पकड़ के अपनी चूत में डाल दिया और अपने हाथों को मेरे पेट पर रख कर उछलने लगी.

करीब 5 मिनट बाद मैं बोला – चाची, मैं होने वाला हूँ तो चाची फट से नीचे आ गईं और बोली अब करो और सारा माल अंदर ही निकाल देना. फिर 4-5 ज़ोरदार झटकों के साथ में ही चाची के अंदर झड़ गया. अब 5 मिनट तक हम ऐसे ही एक – दूसरे के ऊपर लेटे रहे. फिर हम दोनों अलग हुए और बेड पर निढाल होकर पड़े रहे.

चाची पूरी तरह संतुष्ट हो चुकी थी और बार – बार मुझे किस करती हुई बोल रही थीं – आज तूने मुझे चुदाई का असली सुख दिया है. करीब 1 घंटे बाद मेरा लन्ड फिर से खड़ा हो गया और हमने जबरदस्त चुदाई की. अब 1 बज चुके थे. फिर हमने अपने आप को साफ किया और कपड़े पहन लिए. उनके बच्चों के आने का टाइम हो चुका था. फिर मैं अपने घर आ गया.

दोस्तों, मेरी यह रियल स्टोरी आपको कैसी लगी. बताना जरूर. अपनी अगली स्टोरी में मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने चाची की गांड़ मारी. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *