वह अपनी सील तुड़वाने ही ऑफिस आई थी

एक बार मेरे ऑफिस में 20 साल की एक नई – नई लड़की आई. वह बहुत ही सेक्सी थी. उसने खुद ही मुझे प्रोपोज़ किया और फिर चुदवाने के कुछ दिन बाद नौकरी छोड़ के चली गई…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम हुसैन है और मैं इंदौर का रहने वाला हूं. मेरी उम्र 22 साल है और मैं दिखने भी ठीक – ठाक हूं. मैं पिछले 2 सालों से अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ रहा हूं. यह साइट बहुत अच्छी है. इसीलिए अपनी सेक्सी फीलिंग्स बताने के लिए मैं यहां पर पहली बार अपनी कहानी लिख रहा हूं. इसमें अगर मुझसे कोई गलती हो जाए तो माफ करना.

बात आज से 6 महीने पहले की है. मैंने एक निजी कंपनी के ऑफिस में काम शुरू किया था. शुरू के कुछ दिन तो बहुत अच्छे बीते. फिर एक नई लड़की ने ऑफिस जॉइन किया. उसकी उम्र 20 साल थी और फिगर भी मस्त था. वह जब भी चलती तो उसे देख के सबके दिल मचलने लगते थे.

उसे मेरे पास वाला केबिन मिला था. वह नई – नई आई थी तो शुरू में काम के बारे में मुझसे हI पूछती थी. इस तरह हमारे बीच अच्छी – खासी बातें होने लगीं. धीरे – धीरे हमारे बीच अच्छी दोस्ती हो गई.

फिर एक दिन अचानक जब हम ऑफिस से निकल रहे थे तो बिना किसी बात के उसने मुझे आई लव यू बोल दिया. यह सुन कर मैं शॉक्ड रह गया. मुझे कुछ समझ ही नहीं आया कि उसने ऐसा क्यों बोला? मैंने उसके बारे में कभी ऐसा सोचा भी नहीं था. मैंने उसे कोई जवाब न दिया और सीधा घर चला आया.

जब घर पहुंच गया तो मेरे पास उसका फ़ोन आया. उसने कहा – क्या हुआ? तब मैंने कहा कि मैंने कभी तुम्हारे बारे में ऐसा नहीं सोचा, मैं तुम्हें सिर्फ अपना दोस्त मानता हूं. इस पर उसने कहा – लेकिन मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं. तब मैंने कहा – ठीक है लेकिन कोई फैसला करने से पहले मुझे सोचना होगा. फिर सारी रात सोचने के बाद अगले दिन जब मैं ऑफिस पहुंचा तो उसने पूछा तब मैंने उसे हां कह दिया. यह सुन कर वो बहुत खुश हुई.

कुछ दिन ऐसी बातचीत होती रही. फिर एक दिन हंसी – मजाक में मैंने उससे पूछा कि मेरे लिए क्या कर सकती हो? यह सुन कर वो सीरियस हो गई और बोली – सब कुछ. मैंने पूछा कि क्या सब कुछ? तो वो बोली – जो भी तुम बोलेगे वह सब मैं करूंगी. तुम बोलो तो क्या करना है?

इस पर मैंने कहा – वही जो अकेले में गिर्लफ्रेंड – बॉयफ्रेंड करते हैं.

इस पर वह बोली – मुझे समझ नहीं आया, क्लियर बोलो.

तब मैंने कहा – सेक्स.

तब उसने तुरंत ही हां बोल दिया. फिर हमने दो दिन बाद का प्रोग्राम बनाया. मेरे एक दोस्त का घर खाली था तो मैंने उससे बात कर ली और हम वहां पहुंच गए. जाते समय मैंने रास्ते में कंडोम का पैकेट खरीद लिया. दोस्तों, उस दिन उसने काफी सेक्सी ड्रेस पहन रखी थी और बहुत खूबसूरत लग रही थी. उसे देख के मन कर रहा था कि सारी रात उसके साथ सेक्स ही करता रहूं. लेकिन मैंने खुद को कंट्रोल किया.

वहां पहुंचते ही मैंने रूम अंदर से लॉक कर लिया. शुरू में मैं थोड़ा नर्वस था क्योंकि मैं पहली बार सेक्स करने वाला था. फिर वो आगे आई और उसने 5-7 मिनट तक लगातार किस किया. मेरा लन्ड खड़ा हो गया था, जो उसे भी महसूस हो रहा था. क्योंकि उसकी चूत मेरे लन्ड से टच हो रही थी.

फिर मैंने हिम्मत की और ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया. वो लगातार मुझे किस कर रही थी और साथ में ‘आह आह ओह्ह ओह्ह’ की आवाज कर रही थी. अब उसका भी हाथ मेरे लन्ड तक पहुंच गया था और वह उसे सहलाने लगी. इतना मज़ा आ रहा था दोस्तों मैं बता नहीं सकता.

कुछ देर बाद फिर मैंने उसके कपड़े निकाल दिए. अब वो बस ब्रा और पैंटी में रह गई. उसने लाल कलर की ब्रा और पैंटी पहन रखी थी. इन अंदर गारमेंट्स में को एक दम पटाखा लग रही थी. फिर मैंने अपने भी कपड़े निकाल दिए और उसे ले जाकर बेड पर लिटा दिया.

इसके बाद मैं उसके ऊपर आ गया. उसने अपनी आंखें बन्द कर ली. फिर मैंने उसके होंठों पर किस किया और नीचे गर्दन से होते हुए बूब्स पर आ गया. फिर मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी. ऐसा करने पर उसके मस्त बूब्स मेरे सामने आ गए. उन्हें देख कर मैं खुद को रोक नहीं पाया और चूसने लगा. मेरे ऐसा करने पर उसके मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं और वह मेरे सिर को पकड़ के अपने बूब्स पर दबाने लगी.

करीब 10 मिनट तक बूब्स चूसने के बाद मैंने उठा और उसकी पैंटी निकाल दी. उसकी चूत एक दम क्लीन सेव थी और बहुत ही मस्त लग रही थी. ऐसा लग रहा था कि उसने आज ही शेविंग की है.

फिर मैंने अपनी एक उंगली को उसकी चूत में डालना शुरू किया. मैंने ऐसा अचानक शुरू किया था तो वो एक दम से घबरा गई और मेरा हाथ पकड़ लिया. शायद ये उसका भी पहला एक्सपीरियंस था.

लेकिन फिर मैंने दबाव बना कर उंगली अंदर डाल दी. उसने खुद को कंट्रोल कर लिया. फिर धीरे – धीरे मैंने अपनी उंगली को हिलाने लगा. अब उसको भी मज़ा आने लगा था और वो ‘आह आह, क्या मज़ा आ रहा है, करते रहो और करो’.

फिर मैंने उंगली चलाने की स्पीड बढ़ा दी. उंगली करने से उसका पूरा शरीर कांप रहा था. थोड़ी देर बाद फिर वो झड़ गई.

उसको गर्म करने के लिए मैं उसे होंठों पर किस करने लगा. यह किस काफी लम्बा चला और उसने इसमें मीठा पूरा साथ दिया. किस करते हुए साथ में मैं उसके बूब्स भी जोर – जोर से दबा रहा था. कुछ देर में वह फिर से गर्म हो गई और उसकी चूत गीली हो गई.

फिर मैंने कंडोम निकाल कर लन्ड पर लगाया और लन्ड चूत पर सेट करके रगड़ने लगा. इससे वह बहुत उत्तेजित हो उठी और बोली – बस कर न कमीने, अब चोद दे, मत तड़पा!

यह सुन कर मैंने स्माइल दी और एक धक्का देकर अपना आधा लन्ड अंदर कर दिया. उसे बहुत तगड़ा दर्द हुआ और वह बहुत तेज चिल्लाई ‘उई मां मर गई, बहुत दर्द हो रहा है निकाल अभी तुरन्त निकाल नहीं तो मर जाऊंगी”. उसकी हालत देख के मैं थोड़ी देर रुक गया. फिर जब वो शांत हुई तो मैंने किस करते हुए धक्के देना स्टार्ट कर दिया. मैंने उसके होंठों को अपनी गिरफ्त में ले रखा था इसलिए वो चिल्ला नहीं पाई. लेकिन दर्द की वजह से उसकी आंखों में आंसू आ गए.

फिर मैंने एक बहुत ही तगड़ा झटका मारा और इस धक्के की वजह से मेरा पूरा लन्ड उसकी चूत में चला गया. दर्द की वजह से उसकी जान निकल गई और वह बेहोश सी होने लगी.

यह देख के मैं फिर रुक गया और उसके गाल पर धीरे से मारा तो उसने अपनी आंखें खोली. तभी मेरा ध्यान नीचे गया. मैंने देखा कि उसकी चूत से खून निकल रहा था.

थोड़ी देर ऐसे ही मैं उसके ऊपर लेटा रहा. फिर एक किस करके मैं हल्के – हल्के धक्के देना शुरू कर दिया. अब उसका दर्द कम हो रहा था और उसकी दर्द भरी आवाज धीरे – धीरे सिसकियों का रूप ले रही थी.

कुछ देर बाद वह ‘यस फक मी, फक मी हार्ड’ कहने लगी. यह सुन कर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर – जोर चोदने लगा. साथ में मैं उसके बूब्स भी दबा रहा था। वो मस्त होकर ‘आह आह ओह्ह ओह्ह’ की आवाज कर रही थी और मेरे हर धक्के के जवाब में वह अपनी उठा – उठा कर लन्ड और अंदर लेने की कोशिश कर रही थी.

बहुत मज़ा आ रहा था. ऐसा लग रहा था जैसे मैं जन्नत पहुंच गया हूं. उसकी चूत 4 बार पानी छोड़ चुकी थी. करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मैं भी झड़ गया और मेरे साथ ही वह भी झड़ गई.

फिर मैंने उसे एक किस किया और उसके ऊपर ही लेट गया. थोड़ी देर बाद हमने अपने कपड़े पहने और वहां से निकल लिए. उससे चला नहीं जा रहा था. लेकिन फिर भी हमने अपना पहला सेक्स बहुत एन्जॉय किया.

थोड़े दिन बाद अचानक उसने नौकरी छोड़ दिया और बिना मुझसे कुछ बताए अपने घर चली गई और फिर हम कभी नहीं मिले. लेकिन मुझे अपना पहला सेक्स लाइफ टाइम याद रहेगा. दोस्तों, मेरी यह कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. मेरी मेल आईडी – [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *