वाइफ स्वैपिंग की कामना भाग – 2

नैना अभी भी आरव के लंड को चूसे जा रही थी. चूंकि नैना अनुभवी थी इसलिए इस सब में उसे शर्म नहीं आ रही थी. आरव का लंड वीर्य निकल जाने के बाद भी अभी खडा था. अब नैना ने पहले आरव के और फिर अपने कपड़े काफी वाइल्ड तरीके से खींच कर निकाल दिया…

इस कहानी का पिछला भाग – वाइफ स्वैपिंग की कामना भाग – 1

अभी तक अपने पढ़ा कि वाइफ स्वैपिंग की इच्छा होने के बाद आरव और इशिता को एक साइट पर एक जोड़ा मिला लेकिन बाद में वह उनकी पहचान का ही निकला. फिर दोनों जोड़े अपने नए जोड़े के साथ अन्द्रवकामरे में चले गए थे. अब आगे-

दूसरी तरफ जब नैना आरव को कमरे में लायी तो वह बड़ी ही वाइल्ड थी. उसने रेड कलर की साड़ी पहनी हुई थी. जिसमें वह बड़ी ही हॉट और मादक लग रही थी. अंदर आते ही उसने आरव को धक्का देकर बेड पर गिरा दिया और फिर उसके ऊपर जाकर बड़े ही जोरों से किस करने लगी.

अब तक वह पूरी तरह वाइल्ड हो चुकी थी. वह आरव के कान और होंठों पर काटने लगी थी. आरव को भी उसका वाइल्ड रूप बड़ा पसंद आ रहा था और वह भी अब गर्म होने लगा था. फिर किस करने के बाद नैना थोड़ा नीचे की ओर गयी और उसने आरव की पैंट खोली और उसका लंड निकाल कर चूसने लगी.

अब आरव की अकड़न बढ़ गयी थी. नैना उसके लंड और गोलियों को चूसने लगी. यह नैना का पूरा वाइल्ड अवतार था. नैना पूरा का पूरा लंड मुंह में डाल रही थी और लंड पर बहुत सारा थूक भी रही थी. कब आरव अपने आप को रोक नहीं पाया और अपनी पिचकारी छोड़ दी. जिससे उसका पूरा वीर्य नैना के मुंह में भर गया. जिसे नैना ने गटक लिया

नैना अभी भी आरव के लंड को चूसे जा रही थी. चूंकि नैना अनुभवी थी इसलिए इस सब में उसे शर्म नहीं आ रही थी. आरव का लंड वीर्य निकल जाने के बाद भी अभी खडा था. अब नैना ने पहले आरव के और फिर अपने कपड़े काफी वाइल्ड तरीके से खींच कर निकाल दिया.

कपड़े अलग हो जाने के बाद नैना आरव के ऊपर बैठ के आरव के लंड पर चूत को लगा दिया और बैठ गई. जिससे लन्ड बड़ी आसानी से उसकी चूत में घुस गया. अब नैना आरव के लंड पर बड़े ही वाइल्ड और खूंखार तरीके से कूदने लगी. उसका प्यार सातवें आसमान पर था.

इधर आरव को ऐसी चुदाई करने को पहली बार मिल रही थी. वह बड़े ही चाव से नैना की चुदाई कर रहा था. नैना लगातार बोल भी रही थी, “आह, फ़क मी, फ़क मी, आह्ह्ह्ह ग्रेट! फक मी हार्ड. आह्ह्ह्हह ह्म्म्म, लव यू डार्लिंग. यू आर माचो, आह्ह्ह्हह ह्म्म्म फक मी, ओर जोर से चोद, आह”.

फिर दोनों एक साथ झड़ गए. अब नैना, आरव को नशीली आँखों से देख रही थी. अब नैना और आरव दोनों साथ में फ्रेश होने गये और फिर उन्होंने वहां भी थोड़ी मस्ती की. इसके बाद जब दोनों बाहर निकले और देखा तो मिलन और इशिता अभी भी कमरे में ही थे. यह देख दोनों हंस के बोले कि काफी टाइम लगा दिया! दो राउंड लगाये होंगे. और फिर दोनों हंसने लगे.

लेकिन वास्तव में टाइम तो इसलिए लगा था क्योंकि मिलन सब स्टेप टू स्टेप कर रहा था. वह कोई भी जल्दबाजी नहीं चाहता था. फिर थोड़ी देर बाद मिलन और इशिता बाहर निकले और फिर चारों एक – दूसरे को देख कर हंसने लगे.

फिर मिलन और इशिता भी फ्रेश होने गए और जब फ्रेश होकर निकले तो इधर – उधर की बातें करने लगे और इसके थोड़ी देर बाद नैना और मिलन अपने घर के लिए निकल गए.

इधर इशिता और मिलन इस मिलन से काफी खुश थे. अब तो यह सिलसिला चालू ही हो गया था. वे सब जब स्वैप के लिए मिलते तो गेम भी खेलते थे. धीरे – धीरे अब चारों एक साथ ही करने लगे थे. ऐसे ही दिन पर दिन और हफ्ते पर हफ्ते बीतते जा रहे थे. दोनों कपल्स अब एक – दूसरे की बीबी को कभी – कभी घुमाने, शॉपिंग कराने और मूवी दिखाने भी लेकर जाने लगे थे.

अब दोनों कपल में एक – दूसरे के प्रति लगाव हो गया था. वह एक – दूसरे के बिना नहीं रह सकते थे. दोनों की बीबियां एक – दूसरे के पति को प्रेम करने लगी थीं.

नैना को आरव से बहुत ज्यादा प्यार हो गया था. वह जब आरव के साथ घूमने वगैरह जाती तो बोलती थी कि काश मैं तुम्हारी पत्नी होती तो हम पूरे दिन साथ ही रह पाते. अब मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बनना चाहूंगी. लेकिन आरव उसकी इन बातों को हंस के टाल देता था.

ऐसे ही दोनों जोड़े की लाइफ चल रही थी. उनकी जिंदगी में सिर्फ खुशियां ही खुशियां थीं पर एक बार जब मिलन बाहर गया था तो उसकी कार का एक्सीडेंट हो गया. हॉस्पिटल से नैना को फ़ोन आया कि आपके किसी रिलेटिव का एक्सीडेंट हुआ है, आप जल्दी आ हॉस्पिटल आ जाएं. उनके मोबाइल में से आपका नंबर मिला इसलिए लगाया है.

जब नैना को पता चला कि मिलन का एक्सीडेंट हुआ है तो वह पूरी की पूरी टूट गयी. वह जल्दी – जल्दी भाग कर हॉस्पिटल पहुंची. वहां पहुंच कर उसने आरव और इशिता को फोन करके बुला लिया. जब आरव और इशिता हॉस्पिटल पहुंचे तब इशिता और नैना एक – दूसरे के गले पड़ के जोर – जोर से रोने लगी. मिलन अभी भी आई सी यू में था.

ऐसे ही रात से सुबह हुई तब डॉक्टर बाहर आकर बोला, “सॉरी, हम उन्हें नहीं बचा पाये”. यह सुन कर चारों ओर सन्नाटा छा गया. सब बिखर गया था. इशिता और नैना चुप होने का नाम ही नहीं ले रही थी.

फिर मिलन का अग्निदाह किया गया और सब विधि खत्म की गयी. फिर नैना को कुछ दिन इशिता अपने घर लेकर आई ताकि नैना अपने दुःख से उठ सके और नए सिरे से जिंदगी चालू कर सके और अपनी पुरानी यादें भुला सके.

लेकिन जब भी नैना यहां इशिता और आरव को साथ में देखती तो उसे मिलन की याद आती. फिर वह जोरों से रोने लगती. तब नैना को शांत कराने के लिए आरव और इशिता नैना को बीच में बैठा के उसे हँसाने की कोशिश करते. अब आरव और इशिता कहीं भी जाते तो नैना को साथ ले जाते और उसका पूरा ख्याल रखते थे.

हफ्ते, महीने बीत चुके थे. अब नैना अपना दुःख भुला चुकी थी और अपने घर जाकर अपना ब्यूटी पार्लर संभाल लिया था पर इशिता और आरव नैना से मिलने जाते रहते थे.

इस कहानी का अगला भाग – वाइफ स्वैपिंग की कामना भाग – 3

आप लोगों को यह कहानी कैसी लगी. कृपया मुझे सुझाव जरूर भेजें. मेरी मेल आईडी – [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *